1xbet.com
म्यूचुअल फंड

(SIP) सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान क्या है ? जानिये इसके फायदे और निवेश करने के तरीके

सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान
Written by Himanshu Grewal

सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान (एसआईपी) व्यवस्थित निवेश योजना एक व्यवस्थित निवेश वाहन है जो की म्यूच्यूअल फण्ड के द्वारा निवेशकों को दिया जाता है.

इसमें निवेशकों को थोड़ी थोड़ी मात्रा में निवेश करने की अनुमति दी जाती है जिसकी आवर्ती साप्ताहिक, मासिक, त्रैमासिक होती है.

कहने का मतलब ये है की सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान आपके पैसों को सेफ रखने की एक संस्था है या अगर आप पैसे सेव करना चाहते है तो आप थोड़ी थोड़ी रकम देकर जितनी आप दे सकते है चाहे सौ, हजार या दो हजार जितना भी उतनी रकम समय समय पर देकर आप अपने पैसे को इन्वेस्ट क़र सकते है.

SIP (Systematic Investment Plan) आपको एक साथ 5,000 रुपय देने की जगह आपको छोटी छोटी राशि देने की सुविधा देता है| इसमें आप सौ रुपय से भी शुरुआत क़र सकते है.

सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान औसत आदमी की पहुंच के भीतर म्यूचल फण्ड निवेश को लाया है| यह उन तंग लोगो को निवेश करने योग्य बनता है जो अपने बजट से तंग है जो एक बार में बड़ा निवेश नहीं क़र सकते जो पांचसो या हजार तक की राशि ही दे सकते है.

सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान की छोटी छोटी रकम को जोड़ना शायद थोड़ा अजीब लगे लेकिन यह निवेशकों को बचत करने की आदत डालने के लिए सबसे अच्छा मार्ग है.

क्यूंकि भारी रकम अगर आप अपने बजट से निकाल क़र देते है तो इससे आपके बजट में भी कमी आती है और आप ठीक तरीके से इन्वेस्ट भी नहीं क़र पाओगे.

लेकिन अगर आप थोड़ा थोड़ा जोड़ेंगे और रोज जोड़ेंगे तो यह आपको समय आने पर एक अच्छे फल के रूप में मिलेगा.

जरुर पढ़े ⇒ म्यूच्यूअल फण्ड क्या है ? कैसे करें निवेश

सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान के फायदे

What is Systematic Investment Plan in Hindi

पहला फायदा

आपके द्वारा दिए गए पैसे को सेव रखने का मुख्य नियम है| अनुशाषित निवेश मतलब है की लगातार निवेश करना या इन्वेस्ट करना हर महीने कुछ राशि नियमानुसार दे जिससे की आपको कोई परेशानी ना हो जितनी राशि आपके बजट में आती है उतनी दे और इन्वेस्ट करे.

दूसरा फायदा

आपको जल्दी से जल्दी निवेश करना शुरू क़र देना चाइये इसका एक मुख्य कारण है की आप जो निवेश करते है आपको उस पर ब्याज मिलेगा.

क्या आप जानते है की जितना ज्यादा समय तक आप निवेश करेंगे उतना ज्यादा ही आपको रिटर्न (return) मिलेगा| आपकी जमा की हुई राशि से कई ज्यादा अधिक राशि आप पाएंगे.

जब आप अपने निवेश किये हुए पैसों को निकालेंगे और ये होगा चक्रवर्धी ब्याज के कारण| आपके जमा किये हुए पैसों पर आपको ब्याज मिलेगा और वो ब्याज आपकी इन्वेस्टमेंट (Investment) का हिस्सा होगा और ऐसे ही आपके इन्वेस्ट किये हुए पैसों की संख्या बढ़ेगी.

तीसरा फायदा

What is Rupee Cost Averaging ? – रुपया कॉस्ट एवेरागिंग मतलब रुपया लगत औसत यह एक दृश्टिकोण है| यह मुख्य रूप से शेयर में निवेश करने के लिए अत्यंत उपयोगी है.

जब आप किसी फण्ड में लगातार धन निवेश करते है तो रुपय की कम कीमत के रूप में आप शेयर की ज्यादा यूनिट रखते है.

इस तरह समय के साथ आपकी प्रति यूनिट औसत कीमत कम होती जाती है और रुपया की नीति औसत लागत नीची होती है जो एक लम्बी अवधि के निवेश के लिए बनाई गयी है.

ये सुविधा अस्थिर बाजार में निवेश के खतरे को कम करती है और बाजार के उतार चढ़ाव बरहे सफर को सहज बनाये रखती है.

जो लोग सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान एसआईपी के जरिये निवेश करते है वे बाजार के उतार के समय को भी उतनी ही भली प्रकार संभाल सकते है| एसआईपी के द्वारा निवेश की औसत लागत कम होती है.

चौथा फायदा

यदि आप अपने के लिए पैसा जमा करना चाहते है| मान लीजिए जब आपका बच्चा अठारह वर्ष का होगा तब आप उसके लिए एक लाख रुपया चाहते है तो आप अभी से सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान में निवेश करना शुरू कर दीजिये.

जब आपका बच्चा एक साल का होगा तब आपको कितना धन इन्वेस्ट करना चाइये जिससे की जब वः अठारह वर्ष का हो तब तक आप अपने बच्चे के लिए एक अच्छी रकम जमा कर सके.

जब आपका बच्चा दो साल का होगा तब आपको अपने बच्चे के लिए कितना धन रखना है?

संभावित खर्चो का हिसाब भी लगा लीजिये साथ ही भविष्य के खर्चो का हिसाब भी लगाइये सब हिसाब लगाकर निश्चित कीजिये की आपको प्रतिफल के रूप में कितनी रकम चाइये और उसी हिसाब से इन्वेस्ट करना शुरू कर दीजिये.

सबकी पसंद ⇒ शेयर बाजार क्या है? (शेयर मार्केट की पूरी जानकारी हिंदी में)

एसआईपी में इन्वेस्ट करने से पहले इन बातों का ध्यान दे

What is stock market in India?

इन्वेस्टमेंट एक ऐसा क्षेत्र है जहाँ आपको छोटी बड़ी गलती की बड़ी सजा भुगतनी पड़ सकती है.

क्या आप जानते है की इन्वेस्टमेंट करने से पहले आपको क्या करना चाइये?

इन्वेस्टमेंट करते समय वो कोन कोन सी गलतियां है जिन गलतियों को करने से आपको बचना चाइये ?

अगर आपको पता नहीं है तो हम बताते है की आपको इन्वेस्टमेंट करते समय किन किन बातों पर ध्यान देना चाइये और कोन सी गलतियाँ करने से बचना चाइये जिससे की आप सेफ इन्वेस्टमेंट कर सके.

(1.) सबसे पहले ट्रेडिंग और इन्वेस्टमेंट के बिच के फर्क को अच्छे से समझ लेना चाइये.

ट्रेडिंग एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके लिए आपको बहुत अधिक रिसर्च की जरूरत नहीं पड़ेगी| इसे आप ऐसे ही समझ सकते है| इसके लिए आपको म्यूचल फण्ड खरीदना और बेचना होता हैं.

ट्रेडिंग आपको लम्बी पूंजी जमा करने में मदद नहीं करता है लेकिन इससे आपके ब्रोकर को जरूर अच्छा खासा फायदा होता है इसलिए इन्वेस्टमेंट करने से पहले ट्रेडिंग और इन्वेस्टमेंट में अंतर को अच्छे से समझना चाइये.

(2.) इन्वेस्टमेंट के लिए आपको बहुत रिसर्च और एक अच्छी प्लानिंग की जरूरत होती है| इन्वेस्टमेंट करते समय आपको डॉक्यूमेंट भी अच्छे से चेक करने चाईए.

इन्वेस्टमेंट पैसे बनाने का सफर है जिसमे सावधानी ना ली जाय तो बहुत बड़ा नुक्सान झेलना पड़ सकता है.

डॉक्यूमेंट पर सिग्नेचर करने से पहले भी ध्यान दे की सब सही है या नहीं| डॉक्यूमेंट में लिखी हुई बातों को समझने में वक्त लगता है तो कोई बात नहीं| वक्त जरूर ले लेकिन ध्यान से सिग्नेचर करे और तभी डॉक्यूमेंट सबमिट करें.

(3.) कभी भी कैश में पेमेंट न करे| कैश पेमेंट करने पर आपको धोखाधड़ी के चांस बढ़ जाते है इसलिए हमेशा कार्ड से ही पेमेंट करे या डिमांड ड्राफ्ट से ही पेमेंट करे और ड्राफ्ट हमेशा कंपनी के नाम से होना चाहिए साथ ही साथ किये गए पेमेंट की RECEIPT  जरूर ले.

इससे आपके पास आपके द्वारा दिए गए पैसों का प्रूफ होगा और इन्वेस्टमेंट डॉक्यूमेंट की एक कॉपी हमेशा अपने पास रखे जिससे की आपको आपके इन्वेस्ट किये हुए पेसो का प्रूफ हमेशा रहे.

(4.) समय समय पर आपको इन्वेस्टमेंट का रिव्यु जरूर करना चाइये मतलब की विश्लेषण और analysis जरूर करना चाइये ताकि आपको आपकी इन्वेस्टमेंट प्रोग्रेस का पता चलता रहे.

अगर आपके द्वारा इन्वेस्ट किये गए पैसे आपको सही लाभ नहीं दे रहे है तो आपको दूसरा कोई ऑप्शन चुनना चाइये ताकि आपको लॉन्ग टर्म में आपके द्वारा किये गए इन्वेस्टमेंट से लाभ हो और आप आपके इन्वेस्ट किये हुए पेसो का लाभ उठा सके.

दोस्तों, यह थी थोड़ी बहुत जानकारी जिसको ध्यान में रखकर आप अपने पैसे इन्वेस्ट कर सकते हो|

अगर आपको अभी भी सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान से सम्बंधित कुछ और पूछना हो तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है| और अगर आपको यह लेख पसंद आया हो तो इस लेख को फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप्प पर शेयर जरुर करें.

आपके पसंद के लेख⇓

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

3 Comments

Leave a Comment