स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध प्रस्तावना सहित लिखने के लिए इसे पढ़ें

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi For Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12 और विश्वविद्यालय के छात्रों के लिए लिखा गया हैं.

आज हम स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध के विषय में चर्चा करेंगे जोकि आज की तारीख में सबसे महत्वपूर्ण विषय बन गया है क्योंकि हमारे देश में सबसे अधिक अस्वच्छता है जिस पर ज्यादातर लोग ध्यान नहीं देते है इसी कारण देश में सबसे अधिक गंदगी है.

अगर सभी नागरिक देश में फैलने वाली अस्वच्छता पर ध्यान दे तो शायद हमारे देश में अस्वच्छता नहीं होगी.

आज हमारे इस विषय पर बात करने का एक यह भी कारण है कि सभी लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना और इस विषय पर हमने स्वच्छ भारत अभियान निबंध लिखा है.

देश में अस्वच्छता क्यों फैलती है, क्या कारण है और भारत को स्वच्छ और स्वस्थ कैसे बनाएं इस विषय पर आज हम बात करेंगे.

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध कैसे लिखें

PM Modi flags off ‘Swachh Bharat’ mission walkathon from Rajpath

आखिर लोग इस पर ध्यान क्यों नहीं देते और गंदगी फैलाने का सबसे बड़ा कारण ही मनुष्य है क्योंकि मनुष्य द्वारा फैलाई गयी अस्वच्छता जानवरों पशु – पक्षियों के लिए अभिशाप बनती जा रही है लेकिन कोई भी इसके लिए जागरूकता नहीं दिखाता हैं.

हमारे भारत देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलाये गए इस अभियान में पहले से अधिक लोगों ने भाग लिया है और स्वच्छता के लिए आगे कदम बढ़ाया है। तो देखते है कि स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध और जानते हैं कि स्वच्छ भारत अभियान के लाभ और हानि क्या है?

लेख में आपको क्या पढ़ने को मिलेगा?

  • प्रस्तावना
  • स्वच्छ भारत अभियान का परिचय
  • ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छ भारत अभियान
  • स्वच्छ भारत स्वच्छ विद्यालय अभियान
  • स्वच्छ भारत अभियान के लिए चुने गए प्रभावी व्यक्ति
  • शहरी क्षेत्रों में स्वच्छ भारत अभियान
  • देश को स्वच्छ रखने के उपाय
  • स्वच्छ भारत अभियान में शामिल मंत्रालय
  • स्वच्छ भारत अभियान के उद्देश्य
  • स्वच्छ भारत अभियान की आवश्यकता
  • देश के स्वच्छ न होने के कारण
  • स्वच्छ भारत से जुड़ा महात्मा गाँधी जी का सपना
  • स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत कब हुई थी
  • उपसंहार

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi – 100 Words

Swachh Bharat Abhiyan Par Nibandh
Swachh Bharat Abhiyan Par Nibandh

भारत में चलाए गए स्वच्छ भारत अभियान का सपना सबसे पहले महात्मा गांधी जी ने देखा था।

गांधी जी का सपना था की हमारा भारत स्वच्छ तथा स्वस्थ भारत बने।

इस अभियान को चलाने के लिए गांधी जी ने पूरा ज़ोर इस पर लगा दिया। कुछ लोगों में इसके प्रति जागरूकता भी फैल गयी और स्वच्छता की तरफ अग्रसर होने लगे.

कहते है की भारत अस्वच्छता में सबसे पहले है और जगह जगह पर गंदगी का कारण हम सब ही है.

अगर हम स्वच्छता के लिए आगे बढ़े तो अस्वच्छता का नामो निशान खत्म हो जाएगा और हमारा देश स्वच्छ तथा स्वस्थ भारत बन जाएगा और गांधी जी का देखा हुआ सपना पूरा होगा.


अपने मित्र को स्वच्छता अभियान का महत्व बताते हुए पत्र लिखें ? – 150 Words

हमारे भारत में गांधी जी ने ये सपना देखा था की भारत स्वच्छ और स्वस्थ रहे।

महात्मा गांधी जी ने अपने इस सपने को पूरा करने के लिए इस अभियान के प्रति लोगों के मन में जागरूकता फैलाई, देश को स्वच्छ रखने के लिए गांधी जी ने बहुत प्रयत्न किए परंतु वह इसमें असफल रहे.

हमारे देश में गंदगी सबसे बड़ा मुद्दा है। लेकिन फिर भी भारत में कोई साफ-सफाई के लिए ध्यान नहीं देता है.

हमारे देश में चल रहे स्वच्छता अभियान को 1999 में शुरू किया और इसका सबसे पहले नाम “ग्रामीण स्वच्छता मिशन” था.

इसके बाद प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 1 अप्रैल 2012 में इसमें बदलाव किया और इसका नाम ‘निर्मल भारत अभियान’ रख दिया.

बाद में सरकार ने इसका पुनर्गठन करते हुए इसका पूरा नाम स्वच्छ भारत मिशन (swachh bharat mission) रख दिया.

स्वच्छ भारत अभियान को 24 सितंबर 2014 को केंद्रीय मंत्रिमंडल से इसको इजाजत मिल गयी।


Swachh Bharat Mission Essay in Hindi – 200 Words

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के चलाए गए स्वच्छ भारत अभियान के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए उन्होंने झाड़ू भी लगाई ताकि सब लोग इसके प्रति जागरूक हो और देश स्वच्छता की और आगे बढ़ सके।

इसलिए प्रधानमंत्री जी ने एक बात सभी नागरिकों के लिए कही है की देश की सफाई एकमात्र सफाई कर्मचारियों की जिम्मेदारी नहीं है क्या इसमे नागरिकों की कोई भूमिका नहीं है?

हमे इस मानसिकता को बदलना होगा यह बात प्रधानमंत्री जी ने सभी के लिए कही है.

हमे सफाई रखने के लिए सिर्फ सफाई कर्मचारियों पर ही नहीं निर्भर रहना चाहिए, बल्कि हमे खुद सफाई रखने के लिए अपनी जिम्मेदारी निभानी है.

सफाई रखना अपने घर तक सीमित नहीं है बल्कि जगह जगह होने वाले कूड़े करकट को खत्म करना है जो गंदगी का कारण है.

नालियों, सड़कों, गलियों, बाजारों आदि जगहों पर गंदगी फैलने से रोकना होगा। यह गंदगी हमारे जीवन पर भी संकट बनती है क्योंकि इसकी वजह से हम बीमार पड़ते है.

नालियों में पनपने वाले कीड़े तथा मच्छर भी गंदगी का कारण है। जगह जगह पर कूड़े का इकट्ठा होना, सड़कों पर गंदगी नालियों में गंदा पानी, खुले में शौच करना यह सब बीमारियों को बढ़ावा देते है और लोगों का अस्वस्थ होना इन सब का कारण अस्वच्छता ही है.


Role of Students in Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi – 250 Words

स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने गांधी जी की 145वी जयंती पर 2 अक्टूबर 2014 को की और देश में इसके प्रति जागरूकता फैलाने के लिए वो खुद आगे आकार झाड़ू लगाने लगे।

नरेंद्र मोदी जी ने देशवासियों से कहा आप और हम सब को यह कसम लेनी होगी की देश को स्वच्छ और स्वस्थ रखना है और स्वच्छ भारत को पूरा करने के लिए गांधी जी के देखे गए सपने को पूरा करना है.

देश में बढ़ती गंदगी को रोकने के लिए सबको आगे आना होगा और दिन व दिन बढ़ती गंदगी को खत्म करना होगा.

गंदगी को खत्म करने का कारण सिर्फ ये नहीं है कि केवल अपने शरीर की सफाई करना, बल्कि अपने देश की भी सफाई करना है.

प्रधानमंत्री मोदी जी द्वारा चलाए गए अभियान से लोगों में पहले से अधिक जागरूकता आई है और सभी व्यक्ति इसके लिए आगे आ रहे है जिसकी वजह से प्रधानमंत्री जी को गोलकीपर ग्लोबल गोल्स के पुरस्कार से सम्मानित किया गया है.

इस मुहिम को चलाने के लिए हर धर्म, जाती सब इसमे शामिल है.

अब इस स्वच्छ भारत अभियान को चलाने के लिए लोगों में सबसे अधिक क्रांति फैली है और सब नागरिक प्रयत्न कर रहे है की वह अपने छोटे से छोटे गाँव, शहरों, जिलाओं सब में स्वच्छता रखने के लिए आगे आ रहे है.

प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा चलाए गए इस अभियान में मोदी जी ने शहर – शहर, गाँव – गाँव में कूड़ेदान लगवाएं है ताकि जो कूड़ा सड़कों तथा नालियों में फेंका जाता था वो कूड़ा अब कूड़ेदान में डाला जाता है और सड़कों से गंदगी खत्म होने लगी है.

कूड़ेदान का इस्तेमाल अब सब कर रहे है..


स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध 300 शब्द में

Swachh Bharat Mission Essay in Hindi
स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध
  • प्रस्तावना

भारत में सभी जगह स्वच्छता रहेगी तो देश में एक नयी महक होगी। गांधी जी का देखा हुआ सपना पूरा होगा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलाया गया।

अभियान रंग लाएगा तो आखिर हमे देश को स्वच्छ भारत बनाने के लिए कहाँ कहाँ कूड़ेदान, प्रत्येक जगह सफाई, होने वाले प्रदूषण सबको रोकना होगा जो भी गंदगी का कारण है.

  • देश में स्वच्छता रखने के कारण

सबसे पहले देश से गंदगी अस्वच्छता को खत्म करने के लिए हमे कूड़ेदान का प्रयोग करना होगा।

यानि जो कूड़ेदान जगह – जगह पर लगाए गए है उन कूड़ेदान का प्रयोग करें ताकि जो भी कूड़ा करकट सड़कों तथा नालियों में दिखाई देता है उस जगह कूड़ा ना हो बल्कि सफाई और स्वच्छता हो.

कहीं पर भी गंदा पानी जमा ना करें क्योंकि अगर किसी जगह पर बहुत दिनों तक पानी जमा होता है तो वहां मच्छर पनपने लगते है जिससे बीमारी फैलती है.

कहीं भी पानी बहुत दिनों तक इकट्ठा न करें या आप कहीं पानी रखते हो तो उस पानी को बदलते रहे.

तीसरा कारण है शौचालय, अगर किसी भी व्यक्ति के घर में शौचालय नहीं है तो शौचालय बनवाए और बाहर शौच के लिए न जाए.

अगर आप किसी भी कारणवश शौचालय नहीं बना सकते है या घर में पैसों की तंगी है तो सरकार से शौचालय बनवाने के लिए अपील करें।

माननीय मोदी द्वारा चलाए गए अभियान में देश को शौच मुक्त भारत बनाना है इसके लिए सभी वर्ग के लिए शौचालय मुफ्त में सरकार द्वारा मिलेंगे.

जगह जगह पेड़ लगाए क्योंकि पेड़ लगाने से हमे ऑक्सीजन भी मिलती है और हरियाली, छाया, लकड़ी तथा स्वच्छता मिलती है इसलिए पेड़ों को न काटकर बल्कि पेड़ लगाए इसमे प्रधानमंत्री जी ने कहा की एक व्यक्ति एक दिन में पाँच पेड़ लगाए जिससे सभी जगह पेड़ों का अभाव खत्म होगा.

घरों, बंजारों या शहरों में जमा होने वाले कचरे को जमा ना करे बल्कि कूड़ेदान में डाले।

घरों में नालियों को साफ रखे, उसमें गंदगी न जमा होने दे। यह गंदी नालियाँ बीमारी की जड़ होती है और अस्वच्छता को बढ़ावा देती है इसलिए स्वच्छ भारत रखिए


Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi – 350 Words

देश में चलाए गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा स्वच्छ भारत अभियान को प्रचार और प्रसार करने के लिए कुछ ऐसे व्यक्तियों को चुना गया जो अपने गांव शहर, क्षेत्र में स्वच्छता के प्रति लोगो को जागरूक करे और इस स्वच्छ भारत मिशन में कौन से महान लोगों ने हिस्सा लिया उनका नाम हम आपको नीचे बताते है:-

  • सचिन तेंदुलकर ( क्रिकेटर )
  • प्रियंका चोपड़ा ( अभिनेत्री )
  • अनिल अंबानी ( उद्योग पति )
  • बाबा रामदेव
  • सलमान खान ( अभिनेता )
  • शशि थरूर ( संसद के सदस्य )
  • तारक मेहता का उल्टा चश्मा की टीम
  • म्रदुला सिन्हा ( लेखिका )
  • कमल हसन ( अभिनेता )
  • विराट कोहली ( क्रिकेटर )
  • ईआर दिलकेश्वर कुमार
  • महेंद्र सिंह धोनी ( क्रिकेटर )

यही वो सब लोग है जिन्होंने स्वच्छ भारत मिशन में भाग लेकर लोगों में जागरूकता फैलाई इसलिए हमे भी इन सबका साथ देते हुये लोगों में जागरूकता फैलानी होगी और सबसे पहले अपने शहर से शुरुआत करनी होगी.

गांधी जी के देखे गए सपने की भारत भी विदेशों की तरह स्वच्छ दिखे इसके लिए हमे अपने आप से ही आगे आना होगा ताकि हमारा भारत स्वच्छ भारत बने.

प्रधानमंत्री मोदी जी ने स्वच्छ भारत अभियान के अंदर सबसे बड़ी गंदगी की जड़ है की घरों में शौचालय का न होना इसलिए प्रधानमंत्री जी ने शौचालय बनवाने के लिए 2.5 लाख सामुदायिक और 2.6 लाख सार्वजनिक शौचालय बनवाने का लक्ष्य रखा है।

क्योंकि हमारे देश में शौचालय की सबसे अधिक कमी है इसलिए घर घर में शौचालय बनाने का संकल्प खुद प्रधानमंत्री जी ने लिया है जिसका पहला चरण 2 अक्टूबर 2019 को पूरा हो गया है।

स्वच्छ भारत अभियान को सफल बनाने के लिए 62,009 करोड़ रुपये का बजट बनाया गया है।

इसमे से कुछ पैसे 14,623 करोड़ रुपये केंद्र सरकार द्वारा स्वच्छ भारत अभियान में लगाए है.

हमारे देश में सबसे अधिक कमी शौचालयों की है इसलिए सरकार ने इसे ध्यान में रखते हुये 4,165 करोड़ रुपये का बजट व्यक्तिगत घरेलू शौचालय बनवाने का बजट रखा गया है।

साथ ही 1,828 करोड़ रुपये स्वच्छ भारत मिशन के प्रचार मे लगाए जाएंगे और 665 करोड़ रुपये का बजट सामुदायिक शौचालयों में रखा गया है ये था इसका कुछ विवरण।


Long & Short Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi for Class 10 CBSE and 12th
Essay on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi
10 Lines on Swachh Bharat Abhiyan in Hindi

प्रस्तावना

स्वच्छ भारत अभियान को चलाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति आगे आ रहा है। यहां तक की हमारे PM Narendra Modi भी आगे आए और गांधी जी ने भी इसमे अपना योगदान दिया और अनेक नेताओं ने भी समर्थन किया लेकिन फिर भी देश में अस्वच्छता है।

इसके कारण क्या है की देश में अस्वच्छता है?

  • भारत में अस्वच्छता के कारण

भारत में अस्वच्छता का कारण है की कोई भी व्यक्ति गंदगी पर ध्यान नहीं देता है और बाजार सड़कों तथा प्रत्येक जगहों पर कूड़ा – करकट डालता है।

अगर इस पर सभी ध्यान दे तो सड़कों तथा नालियों में जो गंदगी होती है वह कम होती जाएगी और स्वच्छता की और भारत अग्रसर होता जाएगा.

दूसरा सबसे बड़ा कारण है नागरिकों के घर में शौचालय न होना..

अभी भी बहुत नागरिक ऐसे है जिनके घरों में शौचालय नहीं है और शौचालय न होने की वजह से वह बाहर शौच के लिए जाते है जिससे गंदगी फैलती है और यह सबसे बड़ा कारण इसलिए है क्योंकि इसकी वजह से सबसे ज्यादा गंदगी फैलती है।

लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा चलाया गया स्वच्छ भारत अभियान के आंकड़ों के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी जी ने पहले से अधिक शौचालयों का निर्माण किया है जिसकी वजह से अब गंदगी की सबसे बड़ी जड़ कमजोर होगी.

इन सभी के बाद बात आती है कारखानों, फ़ैक्टरियों आदि से सबसे अधिक गंदगी निकलती है।

इन कारखानों से निकलने वाले धुएं में सबसे अधिक जहरीली गैस होती है जिसकी वजह से इन जहरीली गैसों का प्रभाव मनुष्य के जीवन पर ही नहीं बल्कि पशु – पक्षियों के जीवन पर भी पड़ता है.

घर बाजार तथा सभी जगह पर ज्यादातर उपयोग होने वाली प्लास्टिक की वस्तुएं जो गंदगी तथा अस्वच्छता का कारण है और सड़कों तथा नालियों में पड़ा प्लास्टिक का कचरा जिसे पशु खा जाते है और उनकी जान संकट में पड़ जाती है।

इसलिए हम सब को प्लास्टिक का कम से कम इस्तेमाल करना चाहिए और घरों से जब समान लेने के लिए बाजार जाते है तो अपने घर से थैला लेकर जाना चाहिए.

भारत को स्वस्थ तथा स्वच्छ बनाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने छोटे – छोटे गाँव से लेकर बड़े – बड़े शहरों में कूड़ेदान लगाए है और सभी नागरिक इन कूड़ेदानों का प्रयोग करें.

अगर सभी इन कूड़ेदान का प्रयोग करेंगे तो सड़कों तथा नालियों और जगह जगह पर फैलने वाली गंदगी कम होती जाएगी और देश में स्वच्छता होगी और हमारा भारत सोने की चिड़िया की तरह चमकेगा.

निष्कर्ष

इसमे जो भी कुछ आपको बताया गया है उसे आप स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध को आप अपने विद्यालय में दिखा सकते है।

स्वच्छ भारत अभियान निबंध के माध्यम से हमने आपको वो सब कुछ बताया है जिसकी वजह से हमारा देश अस्वच्छता की ओर अग्रसर है जिसके कारण हमारे देश में गंदगी है।

इसलिए आपको और हम सबको देश को स्वच्छ रखने का प्रण लेना होगा ताकि अस्वच्छता हमारे देश से चली जाए और भारत एक स्वच्छ देश हो।

Swachh Bharat Abhiyan Essay in Hindi के इस लेख को आप सभी के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करें। नयी नयी जानकारी के लिए आप himanshugrewal.com पर आते रहे।

धन्यवाद..

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Comment