सुकन्या समृद्धि योजना (SSY Hindi) क्या है?

Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi : आज हम आपको एक बहुत ही महत्वपूर्ण सूचना देने जा रहे है जिसका शीर्षक है “सुकन्या समृद्धि योजना”.

सरकार ने वैसे तो बेटियों के लिए बहुत सी सरकारी योजनाएं बनाई हुई है लेकिन सभी को इन योजनाओं का फायदा बहुत कम मिल पाता है.

बेटियों की अच्छी शिक्षा और उनके आने वाली जिंदगी को बेहतर बनाने के लिए सरकार ने सुकन्या समृद्धि योजना 2019 की शुरुआत की है.

मैं इस लेख में आपको इस बारे में पूरी जानकारी देंगे कि कैसे आप इस योजना का लाभ उठा सकते है.

बेटियों की शिक्षा दीक्षा के लिए सरकार कुछ ना कुछ मदद करती रहती है.

कुछ लोग ऐसे होते है जो शुरुआत से ही अपनी बेटियों के लिए पैसा जोड़ना शुरू कर देते है। लेकिन उनके पैसे जमा करने के लिए एक सही रास्ता उन्हें नहीं मिल पाता है.

कुछ अकाउंट ऐसी सुविधा देते है जहां पैसा जमा करने पर ब्याज मिलता है। लेकिन सरकार ने जो ये Sukanya Samriddhi Yojana (SMY) बेटियों के लिए शुरू की है। यह बहुत ही अच्छी स्कीम है। आइये इस योजना के बारे में जानते है.

यदि आप इस योजना के बारे में बिलकुल तह तक की जानकारी हासिल करना चाहते हो तो इस लेख को अंत तक ध्यान से पढ़े.

लेख को शुरू करने से पहले मैं आपको बताना चाहता हूँ कि आज के इस लेख को पढ़ते हुए आप लोगों को कई बार गुस्सा भी आएगा.

मैं आपको बस इतना ही कहना चाहूँगा कि अपने गुस्से पर काबू रखते हुये जरा सच्चाई को पास से देखिये और महसूस कीजिए.

भारत आज भी विकसित देशों की गिनती में नहीं आता है, आज भी हमारे देश का नाम विकास हो रहे देशों में गिना जा रहा है, कही ना कही आज भी इसके पीछे की वजह लड़कियों को ही ठहराया जाएगा.

अब आप ही बताइये क्या मैं गलत बोल रहा हूँ?

भारत के कई क्षेत्रों में आज भी कई ऐसी जगह है जहाँ लोग लड़का पैदा होने पर जश्न मनाते हैं वहीं दूसरी ओर लड़की का जन्म हो जाए तो खामोशी का सेहरा बाँध लेते हैं.

आए दिन महिलाएं सामाजिक, आर्थिक, और शैक्षणिक क्षेत्र में लिंग भेदभाव की शिकार होती रहती हैं, लेकिन चिंतित करने वाली बात यह है कि 21वीं सदी में आकर भी लिंग भेदभाव क्यों?

क्या हमारा समाज आज भी रूढ़िवादी सोच के भवर में फसा हुआ है?

भारतीय योजनाएं ⇓

सुकन्या समृद्धि योजना का परिचय

4 दिसंबर 2014 को सरकार ने एक छोटी-सी बचत को एक बड़ी योजना बेटियों के लिए बनाने की सोची थी। यह योजना बालिकाओं के लिए विशेष जमा योजना है.

Sukanya Samriddhi Scheme के लिए खाता आस पास किसी भी बैंक में खुलवाया जा सकता है और यह खाता जब बेटी पैदा हुई है तब से उसकी दस वर्ष तक कि उम्र में कभी भी खुलवाया जा सकता है.

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य

बेटी के माता पिता या जो भी सरंक्षक है। यदि वो इस योजना से जुड़ कर पैसा जमा करते हैं तो आने वाले समय में उन्हें अपनी बेटी के अच्छे भविष्य की चिंता नहीं करनी पड़ेगी.

इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटी की शिक्षा और उसकी शादी के समय वित्तीय रूप से मदद करना है.

यदि आप इस योजना जुड़ते है तो आपको इस योजना को सिर्फ पांच वर्षों तक ही याद रखना है उसके बाद यह योजना आपको याद रखेगी.

Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi (प्रक्रिया)

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत दस साल तक के बच्चों का ही खाता खोला जाता है। इसके लिए जन्म प्रमाण पत्र और आधार कार्ड का होना जरूरी है.

इसमें एक परिवार की दो ही बेटियों का खाता खुलवाया जा सकता है। यदि किसी परिवार की दो बेटियां है तो वो ही इसमें भागीदार बन सकती है.

जो भी एक बेटी या तीन, चार भाई बहन है उनके लिए इस योजना का लाभ उठाना अनिवार्य नहीं है। इसमें उम्र की भूमिका का भी बहुत महत्व है.

यदि उम्र दस साल तक की है तभी आप SSY in Hindi में बेटी का खाता खुलवा सकते है.

Sukanya Yojana Details in Hindi

प्रचीन काल से ही भारत में महिलाओं को कमजोर वर्ग के रूप में समझा जाता रहा है। वह घर और समाज दोनों में शोषित, अपमानित और भेदभाव से पीड़ित होती हैं, यह भेदभाव किसी ना किसी रूप में दुनिया में हर जगह प्रचलित है, लेकिन भारतीय समाज में तो बहुत अधिक है.

वैसे तो भारत के संविधान में महिलाओं और पुरुषों को समान अधिकार दिया गया है, कई ऐसे कानून भी हैं जिसके तहत समाज में किसी भी व्यक्ति के साथ उसके लिंग आधार पर भेदभाव नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसके बाद भी लिंग भेदभाव केवल समाज में ही नहीं बल्कि कार्यस्थल पर भी देखा जा सकता है.

देखा जाए तो महिलाओं के प्रति समाज में भेदभाव के कारण गरीबी और शिक्षा की कमी है क्योंकि गरीबी और शिक्षा की कमी के कारण बहुत सी महिलाएं कम वेतन पर कार्य करने के लिए मजबूर हो जाती हैं.

उनके सामने ना केवल कम कौशल की नौकरियां पेश की जाती हैं। बल्कि उनसे उनकी क्षमता से अधिक कार्य भी करवाया जाता है, जिनका वेतन बहुत कम होता है। समान कार्य के लिए समान वेतन सिर्फ कागजों तक ही सीमित रह गया है.

आज के 21वी सदी में महिलाएं पुरुषों से कंधे से कन्धा मिलाकर चल रही हैं। हर क्षेत्र में उन्होंने अपना अच्छा प्रदर्शन दिया है, परन्तु फिर भी उनके साथ लिंग भेदभाव देखा जा सकता है। उन्हें बराबरी का दर्जा नहीं दिया जाता है.

आज भी भारत में करीबन 35-40% इंसान आपको ऐसे जरूर मिल जाएंगे जिनकी सोच आज भी पिछड़ी हुई है, हर बात पर लड़की को रोकना, टोकना, डाँटना, फटकारना, मारना, पीटना बस उनको किसी भी तरह से दबाना, उनको आगे ना बढ़ने देना जैसी होती है.

आज भी जब युग इतना आगे बढ़ गया है भारत के कई गाँव में लड़कियों को ना तो पढ़ने दिया जाता है और तो और लोगों का कहना है कि अगर हम लड़की को पढ़ाने में खर्चा करेंगे तो उसकी शादी के वक्त पैसे कहां से लाएंगे?

वही कुछ लोग तो ऐसे भी है जो बेटी को जन्म देने से भी डरते हैं और एक औरत के गर्व शिशु के आते ही उनका लिंग जाच कर अगर लड़की निकले तो उसको तभी साफ करा दिया जाता है। इस भेद को मिटाने के लिए हमें जड़ से शुरुआत करनी होगी.

बचपन से ही बच्चों को लिंग समानता की सीख देनी होगी ताकि आगे चलकर इस मानसिकता को खत्म किया जा सके.

शिक्षण संस्थान और धार्मिक स्थल सम्मेलन में जागरुकता लाने की जरूरत है। साथ ही साथ सरकार नें इसकी रोकथाम के लिए बहुत सारी योजनाएं बनाई हैं।

उन्हें अच्छे से लागू करने की जरूरत है ताकि लड़कियां अपने आपको कमजोर ना समझें और भयमुक्त होकर एक सशक्त समाज के निर्माण में सहयोग दे सके.

भारत की सरकार ने इन सब चीजों को मध्य नजर रखते हुए कई कड़े नियम भी बनाए।

नियम का उल्लंघन करने के लिए कड़े से कड़े सजा भी रखी। तभी भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी जी ने वर्ष 2015 में कुछ लोगो के सहयोग से एक नतीजे पर जा पहुचे और उन्होंने सुकन्या समृद्धि योजना का निर्माण किया.

Sukanya Samriddhi Yojana Form PDF Download

अगर आप अपना New Sukanya Samriddhi Account Open करना चाहते हो तो यहां मैं आपके लिए सुकन्या समृद्धि योजना फॉर्म अपडेट कर रहा हूँ। जिसको आप फ्री डाउनलोड करके जमा करा सकते हो.

APPLICATION FOR OPENING AN ACCOUNT UNDER ‘SUKANYA SAMRIDDHI ACCOUNT ’ ⇓

[ SBI Sukanya Samriddhi Yojana PDF Form Download ]

सुकन्या समृद्धि योजना इन हिंदी

यह भारत सरकार द्वारा चलाई गई एक ऐसी स्कीम है जिसमे कन्या के माता-पिता को खास तौर पर टारगेट किया गया है। इस योजना के तहत माता पिता अपनी कन्या के भविष्य में की जाने वाली पढ़ाई या शादी-विवाह के लिए धीरे-धीरे पैसे जोड़ते हैं.

नरेंद्र मोदी जी ने 22 जनवरी 2015 में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ कार्यक्रम के तहत इस स्कीम को लॉन्च किया.

Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rate in Hindi

सुकन्या समृद्धि योजना इंटरेस्ट रेट 2019

Sukanya Samriddhi Yojana Interest Rate
Sukanya Samriddhi Yojana Chart in Hindi

वर्तमान समय में यह स्कीम 8.5 फीसदी के दर से इंटरेस्ट दे रही है.

वर्षतारिकब्याज दरन्यूनतम निवेशअधिकतम निवेश
2014-151 अप्रैल, 20149.1%1,0001,50,000
2015-161 अप्रैल, 20159.2%1,0001,50,000
2016-171 अप्रैल, 20168.6%1,0001,50,000
2016-171 अक्टूबर, 20168.5%1,0001,50,000
2017-181 अप्रैल, 20178.4%1,0001,50,000
2017-181 जुलाई, 20178.3%1,0001,50,000
2017-181 जनवरी, 20188.1%1,0001,50,000
2018-191 अप्रैल, 20188.1%2501,50,000
2018-191 अक्टूबर, 20188.5%2501,50,000
2019-201 अप्रैल, 20198.5%2501,50,000
2019-201 जुलाई, 20198.4%2501,50,000

यदि आप भी इस स्कीम के तहत अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी भारतीय डाक घर जा कर फॉर्म भर के अकाउंट खुलवा सकते हैं.

Sukanya Samriddhi Yojana Calculation in Hindi

किसी भी निवेश का लाभ केवल इस आधार पर निर्धारित किया जा सकता है कि समय के साथ निवेश कितना बढ़ता है.

तो चलिए देखते है कि कितने रुपया जमा करने पर आपको कितने प्रतिशत रिटर्न मिलेगा.

सुकन्या समृद्धि योजना कैलकुलेटर इन हिंदी

  • मान लें आपने वार्षिक निवेश ⇒ 1 लाख रुपये किया है।
  • निवेश की अवधि ⇒ 15 वर्ष।
  • 15 वर्षों के अंत में निवेश की गई कुल राशि ⇒ 15 लाख रुपये।

15 वर्षों के अंत में सुकन्या समृद्धि निवेश का मूल्य 8% प्रति वर्ष ब्याज दर ⇒ 28.32 लाख रुपया हुआ।

इस प्रकार आप लंबी अवधि में इस गारंटीड रिटर्न निवेश में निवेश करके अपने पैसे को लगभग दोगुना कर सकते हैं.

Pradhan Mantri Sukanya Yojana Details in Hindi

यदि अब आप भी इसके तहत अकाउंट खुलवाना चाहते हैं तो अब आपको कुछ खास बाते जान लेनी चाहिए, क्योंकि अकाउंट खुलवाने के लिए भारत सरकार ने कुछ नियम व शर्तें भी रखी है.

सुकन्या समृद्धि योजना के नियम 2019

1. सुकन्या समृद्धि योजना का खाता बेटी के जन्म से लेकर 10 वर्ष तक की आयु तक के बीच खुलवाया जा सकता है।

2. जमाकर्ता बेटी के नाम से सिर्फ एक ही खाता खोल सकता है। माता-पिता या संरक्षक दो बेटियों के अलग-अलग एक खाता खोल सकते हैं।

3. यदि जुड़वा बेटियां हैं तो जन्म संबंधी प्रमाणपत्र प्रस्तुत करना होगा जिसके बाद तीसरा खाता खोला जा सकता है।

4. खाता खोलने के लिए जरूरी राशि सुकन्‍या समृद्धि का एक खाता 1000 रुपए में शुरुआती जमा राशि पर खोला जा सकता है।

5. इससे पहले इस खाते में प्रति वर्ष 1000 रुपए न्‍यूनतम जमा राशि जमा करनी होती थी जो अब सिर्फ 250 रुपया है।

6. एक वित्तीय वर्ष में इस खाते में न्यूनतम 250 रुपया और अधिकतम 1 लाख 50 हजार रुपया जमा किया जा सकेगा।

7. यह पैसा अकाउंट खुलने के 14 साल तक ही जमा करवाना होगा।

8. बालिका के 10 वर्ष तक की आयु होने तक माता-पिता खाते को संचालित कर सकते हैं इसके बाद बेटी खुद खाता संचालित कर सकती है।

9. इसके अलावा इस योजना के अंतर्गत किसी भी पोस्‍ट ऑफिस ब्रांच और सरकारी बैंक में अकाउंट खुलवाया जा सकता है।

10. जमा राशि निकालने की शर्तें बालिका के 18 वर्ष की आयु पूरा कर लेने के बाद ही सुकन्या समृद्धि योजना के खाते में जमा राशि की केवल 50 फीसदी राशि निकाली जा सकती है।

11. यदि किसी कारणवश बालिका की मृत्यु हो जाती है तो संरक्षक द्वारा खाता बंद कर दिया जाएगा और पूरी जमा राशि ब्याज के साथ निकाल ली जाएगी।

12. बालिका का विवाह यदि 18 वर्ष के बाद या 21 वर्ष से पहले होता है तो शादी की तारीख के बाद खाता बंद कर दिया जाएगा।

13. पहले तो आपको पांच वर्ष तक लगातार पैसे जमा ही करने है। पहली बार पैसे निकालने का मौका पांच वर्ष बाद आता है।

वैसे तो पहले पांच वर्ष तक पैसे निकालने की अनुमति बहुत मुश्किल से मिलती है और यदि कोई पहले पांच वर्षों के बाद ही खाता बन्द करना चाहता है तो उसे उसकी जमा राशि के हिसाब से पूरे पैसे का हिसाब मिल जाएगा।

14. जब बच्ची दस साल की हो जाती है तो वह अपने खाते को खुद से भी चला सकती है। अपने खाते में खुद भी रकम जमा कर सकती है और माता-पिता भी जमा कर सकते है।

15. इसमें शुरुआती जमा रकम कम से कम 250 रुपया है और अधिकतम 1,50,000 लाख खाते को एक्टिव रखने के लिए आपको शुरुआत में पन्द्रह साल तक पैसे जमा करते रहना है.

16. जब बेटी की आयु 18 वर्ष की हो जाती है तब पैसे निकालने का दूसरा समय आता है। लेकिन जितना भी पैसा जमा हुआ है उसका कुल 5 फीसदी पैसा ही निकाला जा सकता है और यह पैसा बेटी के द्वारा ही खर्चा जा सकता है.

अठारह वर्ष होने पर बेटी उच्च शिक्षा की और कदम रखती है। तो तब के लिए यह पैसा निकलता है और इस समय भी पैसा निकालना आसान काम नही है.

जब बच्ची किसी इंस्टिट्यूट में एडमिशन ले रही होगी तो वहां की एडमिशन स्लिप और एडमिशन ऑफर दिखाना पड़ेगा जिससे की पक्का सबूत मिल जाए की पैसा बेटी के लिए ही खर्चा जा रहा है.

17. यदि बच्ची का खाता 9 वर्ष की उम्र में खुला है तो खाता 30 वर्ष की उम्र में mature होगा। लेकिन अगर जल्दी खुलता है तो २१ वर्ष के बाद कभी भी mature हो सकता है.

इसमें जब बेटी 18 साल से ऊपर हो जाती है तो उसके विवाह के समय पैसा निकाला जा सकता है। लेकिन इसका भी पुख्ता सबूत देना पड़ता है की बेटी की शादी है या नही शादी के लिए एफिडेविट दिया जाता है.

अब जानते हैं कि सुकन्या समृद्धि योजना के तहत अकाउंट कैसे खुलवाया जाये?

How To Open Sukanya Samriddhi Account Online in SBI in Hindi

सुकन्या समृद्धि खाता कैसे खोले ?

आप दो तरह से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में सुकन्या समृद्धि का खाता खुलवाने के विषय में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

  • पहला » आप अपने नजदीकी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की शाखा में जाएं अथवा Sukanya Samriddhi Yojana Post Office जाए और वहां शाखा प्रबंधक से इस विषय में जानकारी मांगे।

शाखा प्रबंधक आपको इस योजना के विषय में हर बात बताएंगे।

  • दूसरा तरीका है कि आप इंटरनेट के माध्यम से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की वेबसाइट पर जाएं और सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में ऑनलाइन जानकारी प्राप्त करें.
Sukanya Samriddhi Yojana Post Office Address
Address :Bhaindoli, Haryana 121107
Phone Number :09050121233
सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोलने के लिए जरूरी दस्तावेज
  1. लड़की के जन्म का प्रमाण पत्र।
  2. माता-पिता का फोटो पहचान पत्र।
  3. एड्रेस प्रूफ बच्चे और माता पिता की तस्वीर।
सुकन्या समृद्धि खाता फॉर्म कैसे भरें – Sukanya Samriddhi Yojana Form Details in Hindi
  1. आप एसबीआई की ऑफिसियल वेबसाइट पर विजिट कर सुकन्या समृद्धि योजना के फॉर्म को खोलिए.
  2. जैसे-जैसे उसमें डिटेल मांगी गई है आप उसके अनुसार डिटेल भर दीजिये और उसके साथ सारे दस्तावेजों को जमा करें, फिर फोटो के साथ कम से कम 1000 रुपया जमा करें| (अकाउंट या खाता खुलने के बाद आप पैसे चेक या डिमांड ड्राफ्ट के द्वारा भी जमा कर सकते हैं|)
  3. खाते में न्यूनतम राशि 250 रुपया या अधिकतम राशि 1,50,000 वार्षिक तौर पर जमा कराते रहे.

इससे अच्छा और क्या तरीका हो सकता है?

भला आप ही बताए, इस तरह आप धीरे-धीरे पैसे भी जोड़ सकते हैं और पढ़ाई या विवाह के समय आप पर किसी प्रकार का कोई बोझ भी नहीं रहेगा.

निष्कर्ष : मुख्य बातें

इस स्कीम का लाभ हर कोई माता-पिता को अपनी बेटी के लिए उठाना चाहिए।

यह शिक्षा से लेकर बच्ची की शादी तक का पैसा जमा रखने का एक अच्छा प्लेटफार्म है.

जो बच्चियां इस योजना के आने से पहले दस वर्ष की हुई है वो भी इस सुविधा का हिस्सा बन सकती है.

एक बच्ची का एक ही खाता खोला जा सकता है एक अथवा उससे अधिक बिलकुल भी नही.

इसमें पैसा जमा करने की शुरुआत लगभग 250 रुपया से शुरू है और 1,50,000 लाख तक आप इसमें जमा कर सकते है.

जो भी राशि आपकी जमा होगी उसका मासिक या वार्षिक दर के हिसाब से ब्याज उसी खाते में जमा होता रहेगा.

यदि किसी कारणवश बालिका की मृत्यु हो जाती है तो खाता बंद कर सकते है माता-पिता या जो भी बेटी के सरंक्षक है वो खाते को बंद कर सकते है.

वास्तव में यह एक लम्बी प्रक्रिया है। लेकिन यह बहुत फायदेमंद है। इसकी वजह से आपको भविष्य में बेटी के लिए उतनी चिंता नही करनी होगी जितनी आमतोर पर होती है। यह एक डेड इन्वेस्टमेंट प्लान की तरह है.

अगर आपको किसी भी विषय के बारे में जानकारी चाहिए तो आप हमे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके बताए हम आपके लिए उस टॉपिक पर लेख अपडेट कर देंगे.

प्रिय पाठकों, आशा करता हूँ आपको इस लेख में सुकन्या समृद्धि योजना से जुड़ी हर छोटी एवं बड़ी बात पता चल गई होगी, यदि आपको कोई डाउट है तो कमेंट के माध्यम से आप क्लियर कर सकते हैं.

अब आप Sukanya Samriddhi Yojana जानकारी को उन लोगों के साथ शेयर जरूर कर सकते हैं जिनकी सोच है कि बेटी एक बोझ है और उसका इस दुनिया में नहीं आना ही बेहतर है.

इनकी भी आपको जानकारी होनी चाहिए ⇓

What is Sukanya Samriddhi Yojana in Hindi
सुकन्या समृद्धि योजना (SSY Hindi) क्या है?

Sukanya Samriddhi Account is a Government of India backed saving scheme targeted at the parents of girl children. The scheme encourages parents to build a fund for the future education and marriage expenses for their female child.

Editor's Rating:
5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Comment