Father's Day

पिता दिवस पर भाषण, निबंध और कविता

Speech on Father in Hindi
Written by Himanshu Grewal
independence day of india

शीर्षक: Speech on Father in Hindi

Father’s Day बहुत ही नजदीक है और फादर्स डे की ख़ुशी में आज मैं आप सभी के साथ Fathers Day Best Hindi Speech शेयर करने जा रहा हूँ।

Fathers Day Poem in Hindi and Speech को आप अपने स्कूल/कॉलेज और पिता के सामने गाकर सुना सकते हो जिससे वे आपसे खुश हो सके और आप फादर्स डे को अच्छे से सेलिब्रेट कर सको।

हर साल फादर्स डे जून के महीने में मनाया जाता हैं। तो इस दिन को अपने पिता के लिए खास जरूर बनाए और उनको खुशियाँ दे।

फादर्स डे कब मनाया जाता है?

हर साल पिता दिवस अलग अलग तिथि के दिन मनाया जाता है, आइये जानते है कि इस साल फादर्स डे कब है?

Father’s Day 2020Date
Fathers Day Date 2019 in IndiaSunday, 16 June
Fathers Day Date 2020 in IndiaSunday, 21 June
Fathers Day Date 2021 in IndiaSunday, 20 June

इस वर्ष 2020 में पूरे विश्व में फादर्स डे 21 जून को मनाया जा रहा हैं।

अक्सर बच्चे भाषण बोल नहीं पाते तो वो अपने पिता को सोशल मीडिया के माध्यम से पिता पर कविता और पिता पर शायरी कॉपी करके उसको व्हाट्सएप्प, फेसबुक इत्यादि जगह शेयर कर देते है और सोशल मीडिया के माध्यम से फादर्स डे की शुभकामनाएं दे देते है।

अगर आप भी अपने पिता को फादर्स डे की शायरी सेंड करना चाहते हो तो आप Fathers Day Wishes SMS Shayari in Hindi पर लिखा गया लेख पढ़ सकते हो, और शायरी कॉपी करके अपने पिता के साथ शेयर कर सकते हो।

इसे भी पढ़ें: 👉 जीवन में पिता का महत्व (हिंदी भाषण व निबंध)

Emotional Speech on Father in Hindi

Emotional Speech on Father in Hindi

⇓ बेटी के तरफ से पिता दिवस पर भाषण ⇓

शुभ संध्या सभी को, आज हम फादर्स डे मना रहे हैं और इसलिए मैं अपने पिता के बारे में बोलने के लिए मंच पर उपस्थित हूँ।

मुझे कहां से शुरू करना चाहिए? hmmm…

मुझे कहना है कि वह मेरे पिता नहीं हैं वह इससे बहुत अधिक है, वह मेरा मार्गदर्शक, मेरी प्रेरणा, मेरे नायक और सबसे महत्वपूर्ण है, वह मेरे दोस्त हैं।

अजीब लगता है, है ना? मुझे पता है।

हमारे देश में, सभी पिता अपनी बेटियों के साथ समान संबंध साझा नहीं करते हैं। क्या यह एक सामाजिक आदर्श है या क्या? मुझे लगता है कि मैं भाग्यशाली हूं कि मेरे पास सुंदर माता-पिता हैं। ज्यादातर समय माताएं दयालु की भूमिका निभाती हैं, है ना? लेकिन, मेरे मामले में, चीजें पूरी तरह से विपरीत हैं। मेरी मां हमें रोकती है और मेरे पिता शांत हैं।

आमतौर पर, पिता अपने प्यार का इजहार नहीं करते हैं, लेकिन मेरे पिताजी, जैसा कि मैंने कहा कि वह दुनिया से बाहर हैं, वह कभी भी अपने प्यार को दिखाना बंद नहीं करते हैं। जब मैं रात को देर से घर आती हूं या कहीं यात्रा कर रही होती हूं, तो वह घबरा जाते है लेकिन घर पहुँचते ही वह मुझे गले से लगा लेते हैं।

पिताजी, मुझे पता है कि मेरी कितनी परवाह है। माँ मुझे सब कुछ बताती है।

एक और बात है जिसे मैं साझा करना चाहूंगी, मेरे पिता मेरे लिए बहुत सुरक्षात्मक हैं, लेकिन एक सकारात्मक तरीके से। वह मुझ पर कभी जोर नहीं डालते, वह मुझे स्वतंत्रता देते है और मुझ पर विश्वास करते है, और बदले में, मुझे लगता है कि उनका विश्वास कभी नहीं तोड़ना चाहिए।

काश इस दुनिया की हर लड़की को मेरे जैसे पिता मिलने चाहिए, मैं उनके बारे में घंटों बात कर सकती हूं लेकिन मैं आप लोगों को छोड़ दूँगी।

पिताजी, आपको बता दूं कि, मैं इस दुनिया की सबसे भाग्यशाली व्यक्ति हूं कि आपने मुझे अपनी पुत्री माना है।

आई लव यू, आप मेरे हीरो हो और एक आखिरी बात मैं आपको बताना चाहती हूं जब मैं शादी करूंगी तो मैं अपना घर नहीं छोडूंगी। मैं आप लोगों के साथ ही रहूँगी। मैं आपको प्यार करती हूं डैड…


Best Speech on Father in Hindi

Father's Day Essay in Hindi

Father’s Day Essay in Hindi

नोट: अगर आपको पिता दिवस पर निबंध और भाषण पसंद आए तो इस स्पीच को जितना हो सके सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें जिससे आपके जैसे और भी बच्चे अपने पिता के लिए पिता दिवस पर स्पीच तैयार कर सके।

पिता पर निबंध और स्पीच पढ़ने के बाद हमको कमेंट करके अवश्य बताये की आपको यह Fathers Day Hindi Speech कैसी लगी। आइए शुरू करते हैं।

पिता पर भाषण

तुमसे ही तो मेरी शान है पापा...
तुमसे ही तो साइन में धड़कती जान है पापा....

तुमने ही तो इस ज़ालिम दुनिया से लड़ना सिखाया...
तुमने अपना पेट काट कर
हमें पढ़ना और लिखना सिखाया...

मेरी हर ख्वाहिश को बिना
कहे कैसे जान लेते हो...

पापा मै तो बच्चा हु
नासमझ हु फिर भी मेरी हर बात
तुम कोई मान लेते हो...

यहाँ हर रिश्ता एक मतलब के लिए चलता है...

हर इन्सान का पेट दूसरे इन्सान
से फायदा उठा कर ही पलता है...

मगर एक तुम ही हो जिसने
हमें इतना कुछ देकर
हमसे कुछ लिया नही...

तुम मेहनत करते रहे
हमारे लिए और हमने
तुम्हारे लिए कुछ किया नही...

तुम्हे फरक नही पड़ता के
बेटी है या बेटा...

तुमने हमेशा अपनी औलादों
को एक नज़रिए में ही है देखा...

पापा मै बहुत शर्मिंदा हु
के तुम्हारे लिए कभी कुछ न कर पाया...

तुमने दुःख आने न दिया पास
कोई और मै हु के तुम्हारी
झोली खुशिओ से ना भर पाया...

मगर यकीन रखना मै एक दिन
बहुत बड़ा काम कर जाऊंगा...

पापा मै पूरी दुनिया में एक दिन ऊँचा तुम्हारा नाम कर जाऊंगा.....

|| लव यू पापा ||

Indian Father Speech for Daughter Wedding

पिता और बेटी का रिश्ता इस दुनिया में सबसे खूबसूरत रिश्ता माना गया है। चाहे बात हो बेटी को पहली बार साइकिल सिखाने की, बेटी के नाराज होने पर उसके भाई को बुरा बताने कि, एक पिता हमेशा बेटे के समान ही बेटी को दिल में रखता हैं। परन्तु कहते हैं न “बेटी पराया धन होती है” उसे एक दिन ससुराल जाना ही पड़ता है, पर इससे पिता के लिए अपनी बेटी के दिल से जगह कम नहीं होती।

बेटी की शादी का दिन एक पिता के जीवन में विशेष दिनों में से एक होता है, जिस दिन वह दिल में दर्द छुपा कर खुशी खुशी बेटी को अलविदा कह देता है।

प्रस्तुत है एक पिता की तरफ से अपनी बेटी के विवाह के मौके पर लिखी गई स्पीच

जैसा कि मैं आज देख पा रहा हूं एक राजकुमारी की तरह सजी मेरी प्यारी बेटी आज अपने जीवन की नई शुरुआत करने जा रही है। इस मौके पर मैं अपने दिल से उसके लिए कुछ शब्द कहना चाहता हूं।

नन्हें नन्हें हाथों से मेरी उंगलियां पकड़कर चलती मेरी बेटी आज जीवन की सबसे बड़ी जिम्मेदारी निभाने जा रही है। दुनिया में सबसे खास दिन मेरा वह दिन था जिस दिन तुम इस दुनिया में आई।

बचपन में पापा पापा कहती छोटी सी गुड़िया कब बड़ी हो गई पता ही नहीं चला। आज भी जब बचपन में फोटो देखता हूं तो उन दिनों की याद आ जाती है। मेरी सबसे छोटी बेटी मेरे लिए आशा की किरण है जिसे देखकर मुझे जिंदगी को जीने की प्रेरणा मिलती है, जिसने कई बार मुझे चिंतित देखकर मेरा हौसला बढ़ाया।

बेटी तुम चाहे कितनी बड़ी क्यों न हो जाए अपने पिता के लिए तुम हमेशा Princess ही होगी।

आज इस मौके पर मैं बड़ा गर्व महसूस कर रहा हूं कि मैं एक राजकुमार के साथ मेरी बेटी को विदा करने जा रहा हूं और मैं तुम दोनों को यह आशीर्वाद देता हूं कि उम्र भर आप दोनों के बीच यही प्यार बना रहे, आप सुखी रहे, तथा परिवार को भी खुश रखें।

जमाई जी से कहना चाहूंगा मेरी बेटी थोड़ी सी नटखट जरूर है परंतु दिल इसका नरम हैं।

  1. 👉 इसकी गलती के लिए इसको माफ करना।
  2. 👉 कभी भी इसे अपने पापा की याद आए तो जरा फोन कर देना।

बेटी अंत में यही कहना चाहूंगा कि सदा परिवार में लोगों की खुशियों का कारण बनना। आप दोनों को मेरी तरफ से ढेर सारी बधाइयां। भगवान से यही प्रार्थना है कि तुम दोनों और हमेशा सुख दुख में एक दूसरे के साथ रहे।

आप सभी का दिल से शुक्रिया मुझे सुनने के लिए। अंत में यहां उपस्थित आप सभी अतिथियों को इस जोड़े को हमेशा खुश रहने एवं आशीर्वाद देने के लिए यहां आमंत्रित करना चाहूंगा।

धन्यवाद


फादर्स डे क्यों मनाया जाता है?

विश्व के अनेक देशों में पितृ दिवस मनाने की परंपरा कई सालों से चली आ रही है और भारत भी इसका भागीदार बन चुका है लेकिन पिता के सम्मान में मनाए जाने वाले दिन पितृ दिवस की शुरुआत कब से हुई इसे समझने के लिए हमें इसके इतिहास का हुए अध्ययन करना होगा।

Why We Celebrate Father’s Day in Hindi

माना जाता है वर्ष 1910 में पहली बार 19 जून को पिता दिवस अमेरिका की राजधानी वाशिंगटन में मनाया गया, दरअसल इसे मनाने के पीछे एक विशेष कारण था।

एक बच्ची जिसका नाम सोनेरा डोड था। कम उम्र में ही सोनेरा की मां उसे छोड़ कर संसार से चली गई। सोनेरा के जाने के बाद पिता के कंधों पर सोनेरा को संभालने की जिम्मेदारियां आ गई।

उसके पिता ने सोनेरा डोड को अच्छे से पाल पोस कर बड़ा किया। वे बड़ी हुई तो उन्हें जीवन में पिता की भूमिका का बखूबी एहसास था। इसलिए एक दिन चर्च में मदर्स डे के विषय में एक उपदेश दिया जा रहा था और इसी उपदेश में सोनेरा को ख्याल आया कि मदर्स डे की तरह ही दुनिया में फादर्स डे क्यों नहीं मनाया जाता?

उन्होंने अपने इस ख्याल को चर्च के पादरी के माध्यम से इसे आगे तक पहुंचाया और जब इस ख्याल पर विचार-विमर्श किया गया तो सोनेरा डोड की काफी सराहना की गई और उसके बाद से मदर्स डे की तरह ही जून के महीने में हर साल पिता के सम्मान में फादर्स डे मनाया जाने लगा।

धीरे-धीरे फादर्स डे मनाने की परंपरा सभी पश्चिमी देशों के साथ साथ एशियाई देशों में भी आ गई और आज भारत भी फादर्स डे प्रतिवर्ष मनाया जाता हैं।


How do we Celebrate Father’s Day

पिता दिवस के इस मौके पर इस साल आप अपने पिता को कुछ चीजें सदा के लिए देकर उन्हें उम्र भर खुश रख सकते हैं। कुछ चीजें निम्नलिखित हैं।

  • उनके साथ समय बिताएं

माता-पिता किसी चीज के लिए मोहताज नहीं होते। बढ़ती उम्र में वे बस अपने पुत्र से प्रेम की आशा रखते हैं।

इस फादर्स डे पर आप अपने पिता के साथ समय बिता कर उन्हें सबसे बड़ा तोहफा दे सकते हैं, अक्सर भागदौड़ भरी जिंदगी में हम पैसा कमाने में इतना व्यस्त हो जाते हैं कि पिता से उनके हालचाल, उनके मन की बातें सुनने तक का हमें समय नहीं होता तो आप उनके साथ इस Father’s Day के दिन समय जरुर बिताए।

  • तोहफा दें

कई बार पिता को अचानक से आप उनकी मनपसंद चीज ला कर दें तो वह काफी ज्यादा खुश होते हैं। जिस तरह हम बचपन में खुश हो जाते थे। इसी प्रकार इस फादर्स डे आप एक बात का ध्यान दें कि पिता दिवस के साथ-साथ आप खास मौकों पर उन्हें उनके लिए उपयोगी चीजें, गिफ्ट के तौर पर दें उन्हें खुशी मिलती है।

  • सेहत का ध्यान रखें

समय कुछ ऐसा आ गया है कि हम काम में इतने व्यस्त हो गए कि खुद का ही ध्यान नहीं रख पा रहे है परंतु फिर भी पिता को खुश करना चाहते हैं तो आपको यह नहीं भूलना चाहिए कि बचपन में जिस तरह आप की तबीयत खराब होने पर पिताजी आपके लिए दवाई लाते थे, रात भर परेशान होते थे इसी प्रकार उन्हें कोई भी तकलीफ है तो आपको भी उन्हें डॉक्टर के पास ले जाना चाहिए, उनसे समय समय पर पूछें पिताजी कैसा महसूस हो रहा है? ऐसा करके पिताजी आप जैसी संतान पाकर गर्व महसूस करेंगे।

  • हमेशा सम्मान करें

आप आज भले ही चाहे किसी भी पद पर कार्य कर रहे हो आप अच्छा कमाते हो परंतु यह नहीं भूलना चाहिए कि यह सब आपके पिता की ही वजह से संभव हुआ है जिन्होंने आपके बेहतर भविष्य के लिए आप पर सर्वस्व न्योछावर किया है। कभी भी उनकी बातों को न टालें, उनका दिल ना दुखाएं इससे उन्हें खुशी तो होगी ही बल्कि समाज में भी आपका सम्मान बढ़ेगा।


इनमें से आप कौन कौन से कार्य पिता दिवस पर आप करने वाले हैं हमें टिप्पणी बॉक्स में जरूर बताएं, आपके कमेंट पढ़कर खुशी होगी और इस लेख को लिखने का उद्देश्य सफल होगा।


Essay on Father in Hindi for Class 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7, 8, 9, 10, 11, 12

My Father Essay in English 10 Lines for Class 1 to 8th

10 Lines on My Father in English

Speech on Father in Hindi का यह लेख अब यही पर खत्म होता है। आपको यह स्पीच कैसी लगी हमको कमेंट करके जरूर बताये।

अगर आपके पास कोई अच्छी स्पीच या पोएम है जिसको आप हमारे साथ शेयर करना चाहते हो तो कमेंट के माध्यम से आप अपनी स्पीच शेयर कर सकते हो। अगर आपको लेख पसंद आया तो पिता के इस आर्टिकल को सोशल मीडिया जैसे कि फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप्प पर शेयर जरूर करें।

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमें आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

6 Comments

Leave a Comment