SEO Techniques in Hindi That Increase Your Search Traffic in 2019

आज मै आपके साथ SEO Techniques in Hindi Language में शेयर करने जा रहा हूँ| इन सभी SEO Techniques की मदद से आप अपने ब्लॉग की SEO Ranking Improve कर सकते हैं.

अगर आप इन सभी SEO Techniques के बारे में जानना चाहते है तो इस लेख को अंत तक पूरा पढ़े| मै वादा करता हूँ की इस लेख को पढ़ने के बाद आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा.

आप सभी को तो पता होगा की SEO क्या हैं ? अगर आप SEO के बारे में कुछ भी नहीं जानते है तो आपको HimanshuGrewal.com पर पब्लिश किया हुआ पोस्ट मिल जायेगा आप उस लेख को पढ़ कर एसईओ क्या है की पूरी जानकारी प्राप्त कर सकते हो.

SEO कोई रॉकेट साइंस नहीं है और कोई भी इसे सीख सकता हैं| 🙂

इस लेख में हम 2 SEO Techniques के विषय में चर्चा करेंगे:-

  1. On Page SEO Techniques in Hindi
  2. Off Page SEO Techniques in Hindi

तो चलिए सबसे पहले ओन पेज एसईओ के बारे में जानते है|

इनको भी पढ़े ⇓

Advanced SEO Techniques in Hindi

नोट : इस लेख को अंत तक पढ़ने के बाद अगर आपके मन के किसी भी प्रकार का कोई प्रशन है तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते हो| और अगर आपके पास कोई और पॉइंट है जो इस लेख में होना चाहिए तो वो भी आप कमेंट के जरिये हमारे साथ शेयर कर सकते हो.

क्या अपने इसे पढ़ा ⇓

1). WWW vs NON-WWW

SEO www और (गैर-www) दोनों के लिए काम करता है; हालाँकि, ‘www’ बहुत प्रभावित करता है| इसलिए जब भी संभव हो, अच्छे इंप्रेशन के लिए www domain प्राप्त करें| एसईओ के दृष्टिकोण से, दोनों का एसईओ पर समान प्रभाव है, लेकिन लोग ‘www’ का अधिक उपयोग करते हैं.

2). Keyword Research – SEO Tips in Hindi

कीवर्ड रिसर्च एसईओ के लिए बहुत ही जरुरी हैं, क्योंकि कीवर्ड से ही सर्च इंजन को आपके Content का पता लगता हैं की Content किस बारे में हैं.

बहुत सारे टूल्स से जिनका उपयोग करके आप Keyword Research कर सकते हैं:-

  1. Google AdWords: Keyword Planner
  2. Ubersuggest
  3. KeywordTool.io

जब आप अपने ब्राउज़र पर कुछ भी कीवर्ड सर्च करेंगे तो यह एक्सटेंशन आपको उस कीवर्ड का सर्च वॉल्यूम, CPC और उस कीवर्ड पर कितना Competition हैं यह सभी जानकारी बता देगा.

तो अब आप इनमे से कौनसा भी टूल ओपन करे और अपने कीवर्ड को सर्च करे| सर्च करने के बाद आपको उस कीवर्ड का सर्च वॉल्यूम, CPC और उस कीवर्ड पर कितना Competition हैं यह सभी जानकारी मिल जायेगी.

कीवर्ड रिसर्च के लिए मै आपको एक टूल और बोलूँगा वैसे वो टूल नही है एक एक्सटेंशन है जो आपके ब्राउज़र में इनस्टॉल हो जायेगा|

उपर दिए गये लिंक पर क्लिक करके आप अपने ब्राउज़र में एक्सटेंशन इनस्टॉल कर सकते हो| उसके बाद जब भी आप गूगल पर कोई कीवर्ड सर्च करोगे तो गूगल पर ही आपको CPC और रिलेटेड कीवर्ड मिल जायेंगे| उदाहरण के लिए नीचे स्क्रीनशॉट देखे|

Keywords Everywhere Tool Example in Hindi

निम्न बातो का ध्यान रखे !

  • Post Title, Description और Post के Url में कीवर्ड का इस्तेमाल करें|
  • Post के पहले Paragraph में और Last Paragraph में भी कीवर्ड का इस्तेमाल करे|
  • कीवर्ड Stuffing से बचे यानि की आपके कीवर्ड को ज्यादा इस्तेमाल ना करे, 1 से 2 % इस्तेमाल करे|
  • LSI Keywords का Use करे।

3). Image Optimization – On Page SEO Optimization Tips in Hindi

Image Optimization से आप अपने ब्लॉग पोस्ट की तस्वीरों को SEO Friendly बना सकते हैं| User Experience बढ़ाने के लिए इमेज का उपयोग करना जरुरी हैं|

यदि आप इमेज का उपयोग करने का फैसला लेते हैं, तो इन जरुरी बातों का ध्यान रखें :

  • Image File Name में कीवर्ड का उपयोग करें। Image1.jpg या Photo1.jpg जैसे Name का उपयोग करने से बचें|
  • Image का Size ऑप्टिमाइज़ करें| Image का Size (KB में) जितना छोटा होगा आपकी वेबसाइट उतनी ही तेज़ी से लोड होगी| इमेज ऑप्टिमाइज़ के लिए आप इस वेबसाइट का उपयोग कर सकते हो|
  • आप जो भी Images इस्तेमाल करते हो वो Copyright नहीं होना चाहिए|
  • Alt Text के इस्तेमाल से सर्च इंजन को पता चलता है कि आपकी तस्वीर किस बारे में है| Alt Text का इस्तेमाल आपकी तस्वीर को Describe करने के लिए किया जाता है| Alt text में आप अपने Keyword का इस्तेमाल करे|

Alt Text Example - What is SEO

4). Internal Linking – White Hat SEO Techniques in Hindi

आपने किसी भी ब्लॉग में आर्टिकल पढ़ते समय यह देखा होगा की उस Post में उसी ब्लॉग के Post का लिंक जोड़ा हुआ होता है इसे ही Internal Linking कहते हैं.

उदाहरण के लिए इस तस्वीर को देखे|

Internal linking examples

विकिपीडिया

Internal Linking वेबसाइट SEO के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण फैक्टर हैं लेकिन कई सारे ब्लॉगर Internal Linking का उपयोग सही तरीके से नहीं कर रहे हैं.

इंटरनल लिंकिंग करने के नियम

  1. आप जिस भी पोस्ट में Internal Linking कर रहे हो तो उस पोस्ट से Related Post का लिंक ऐड करे|
  2. Internal Linking के लिए ‘here’ ‘यहां क्लिक करें’ ऐसे शब्द का उपयोग न करें|
  3. एक नियम हुआ करता था जहां किसी भी साइट पर 100 लिंक अधिकतम होना चाहिए इससे ज्यादा नहीं| हालाँकि, अब इस नियम को हटा दिया गया हैं| मेरा सुझाव यह हैं की जरुरी हो तो ही अधिक Internal Link Add करो।

Internal Linking के फायदे – एसइओ के फायदे क्या है ?

Internal Link Add करने से आपके ब्लॉग का Bounce Rate कम होगा| Internal Linking Bounce Rate कम करने का बढ़िया तरीका हैं।

Internal Link Add करने से आपके ब्लॉग के Page Views बढ़ेंगे|

5). External Link – Search Engine Optimization Techniques in Hindi

Outbound Link, External Link दोनों एक ही हैं| जब आप अपने ब्लॉग के आर्टिकल में किसी दूसरे ब्लॉग का लिंक ऐड करते हो तो ऐसी Links को Outbound Link (External Link) कहते हैं|

अगर आप External Link का प्रयोग करते है तो आपको निम्न बातो को Follow करना चाहिए:

  1. उन ब्लॉग का लिंक ऐड करे जिनका Domain Authority (DA) & Page Authority (PA) अच्छा हो|
  2. ज्यादा लिंक Add करने से User का Reading Experience ख़राब हो सकता है, इसलिए आपको जरूरत के हिसाब से लिंक ऐड करना चाहिए|

6). Fix Broken Links – SEO Tips and Tricks in Hindi

किसी ब्लॉग में जो लिंक exist नहीं करते है, यूजर उस लिंक को ओपन करते है तो error का मैसेज आता हैं और जो लिंक या तो डिलीट कर दिए गए हो| इस प्रकार के Links को Broken links कहते हैं.

SEO के हिसाब से देखा जाये तो Broken links के कारण आपके ब्लॉग पर Negative Effect पड़ता हैं|

Google Search Console की मदद से आप अपने ब्लॉग के Broken links का पता लगा सकते हैं.

अगर आप चाहते है की आपके ब्लॉग की सभी Links Proper Work करे तो आपको इसके लिए एक Plugin का इस्तेमाल करना पड़ेगा|

प्लगइन का नाम है Broken Link Checker है, इस Plugin का इस्तेमाल करना बहुत ही आसान हैं| बस आपको Plugin को Install और Activate करना हैं.

7). LSI Keywords – On Page SEO Techniques in Hindi

Latent Semantic Indexing (LSI) Keywords, आपके Main Keyword से संबंधित (Related) कीवर्ड को LSI Keywords कहते हैं|

अगर आप LSI Keywords का इस्तेमाल अपने आर्टिकल में करते है तो आपका ब्लॉग पोस्ट और भी ज्यादा SEO Friendly हो जायेगा|

जब भी आप Google पर कोई Word Search करते हैं, उदाहरण के तौर पर आप सर्च करते हैं “SEO Checklist” तब गूगल आपको सर्च Results में उस Word से Related Keywords दिखाई देंगे यही सब LSI Keywords हैं.

LSI Keywords - On Page SEO Tips and Trick

LSI Keywords

बहुत सारे Tools हैं जिनकी मदद से आप LSI Keywords ढूंढ सकते है:

  1. LSI Graph
  2. Keyword Shitter
  3. SEMrush
  4. Keywordtool.io

बस अब आप इन Tools की मदद से LSI Keywords ढूंढे और इन्हे अपने आर्टिकल में ऐड करे|

8). Page Speed – On Page SEO Tutorial in Hindi

Page Speed भी एक Ranking Factor हैं इसलिए आपके ब्लॉग का Load Time कम से कम होना चाहिए। Visitors को Fast Loading Site पसंद आती हैं।

बहुत सारे टूल्स है जिनकी मदद से आप अपने ब्लॉग की स्पीड का पता लगा सकते हैं:

  1. PageSpeed Insights (Google Developers)
  2. GTmetrix
  3. Pingdom

ब्लॉग की स्पीड बढ़ाने के उपाय ⇓

  • HTML, JavaScript, CSS जैसे Code की Size कम करके अपने ब्लॉग की स्पीड बड़ा सकते हैं|
  • कम Size (KB) वाले Image ब्लॉग पोस्ट में Add करना चाहिए|
  • ज्यादा Plugins का Use न करे, बस आवश्यक Plugins का उपयोग करे|
  • अपने ब्लॉग की स्पीड में सुधार करने के लिए Best Hosting चुनें|
  • आप Genesis जेसी थीम का उपयोग करें.
  • Home Page पर एड्स न लगाये और आर्टिकल भी कम से कम शो करें|
9). Backlinks – Off Page SEO Techniques in Hindi

जब किसी ब्लॉग का लिंक किसी अन्य ब्लॉग के साथ जुड़ा होता हैं तो ऐसी लिंक को Backlink कहते हैं| बैकलिंक्स एसइओ के लिए विशेष रूप से कीमती हैं|

Backlinks दो प्रकार के होते हैं –

  1. DoFollow Backlink :- DoFollow link आपके ब्लॉग की Ranking को बढ़ाने में काफी मदद करते हैं, DoFollow link में एट्रीब्यूट नहीं रहता हैं।

Dofollow Link का उदाहरण :

<a href=”https://www.himanshugrewal.com/”>SEO Techniques</a>
  1. NoFollow Backlink :- NoFollow link आपके ब्लॉग के लिए कुछ हद तक फायदेमंद है|

NoFollow link का उदाहरण :

<a href=”https://www.himanshugrewal.com/” rel=”nofollow”>SEO Techniques</a>

बैकलिंक कैसे बनाये ?

बैकलिंक्स बनाने के लिए कोई तय सीमा नहीं हैं, आप जितनी चाहे उतनी बैकलिंक्स बना सकते हैं। बैकलिंक्स आपको अपने ब्लॉग के Niche के ब्लॉग से बनाना चाहिए।

Guest Post सबसे बढ़िया तरीका हैं, बैकलिंक्स बनाने के लिए। आपके द्वारा लिखे गए आर्टिकल को किसी दूसरे ब्लॉग पर पब्लिश करना या Submit करना|

बहुत सारे ब्लॉग Guest Post Accept करते हैं, तो आप Guest Post Submit करे और बदले में Backlink पाये और अन्य तरीको से भी आप बैकलिंक बना सकते हैं.

अधिक जानकारी के लिए आप इन लेख को पढ़े ⇓

10). XML SITEMAP – Awesome SEO Techniques in Hindi For Pro Blogger

प्रत्येक ब्लॉग को Google, बिंग, याहू आदि वेबमास्टर टूल के लिए XML साइटमैप तैयार करना चाहिए और सबमिट करना चाहिए ताकि वे आपके प्रत्येक पृष्ठ और उसकी सामग्री को क्रॉल कर सकें।

Bonus Tips

  1. लिंक या URL को सरल और छोटा रखा जाना चाहिए। लंबे लिंक के उपयोग से बचें।
  2. आपको अपने ब्लॉग को http से https में Convert करना चाहिए। अपने ब्लॉग पर SSL certificate लगाकर।
  3. On Page Seo को बेहतर करने के लिए Yoast Seo Plugin का इस्तेमाल करे।
  4. Content delivery network (CDN) service का उपयोग करे इससे आपके ब्लॉग का Load Time कम हो जायेगा।
  5. जिसके पास पुराना डोमेन है वह किसी भी नए डोमेन की तुलना में Google खोज में 10% अधिक प्रभाव डालता है।
  6. About us, Contact us, Privacy Policy, Disclaimer जैसे पेज आपके ब्लॉग पर होने चाहिए।
  7. आपके डोमेन का नाम आपकी ऑनलाइन पहचान है और इसे अन्य सभी से बिल्कुल नया और Unique होना चाहिए।
  8. आपकी साइट का Look सरल, attractive, रोचक और समझने में आसान होना चाहिए। इससे Visitor को पेज पर बने रहने और वेबसाइट / ब्लॉग पर नेविगेट करने में अधिक आसानी से मदद मिलेगी।
  9. आपके ब्लॉग का Content कही से कॉपी किया हुआ नहीं होना चाहिए।
  10. आपका आर्टिकल कम से कम 1000+ शब्दो का होना चाहिए।

Conclusion

उम्मीद करता हूँ की यह सभी SEO Techniques in Hindi का लेख आपके लिए फायदेमंद साबित रहा होगा|

आपको लेख कैसा लगा ? अपने विचार कमेंट के जरिये जरुर शेयर करें और इस लेख को अपने ब्लॉगर दोस्तों के साथ व्हाट्सएप्प, फेसबुक पर शेयर कीजिये|


यह एक गेस्ट पोस्ट है जिसको नीरज परमार जी ने लिखा है| हम नीरज जी को दिल से धन्यवाद करना चाहेंगे की उन्होंने HimanshuGrewal.com के विजिटर के लिए इतना अच्छा लेख लिखा|

अगर आप इनकी वेबसाइट चेक करना चाहते हो तो आप Nadaantech.com पर जा सकते हो.

17 Comments

  1. pranita January 22, 2019
  2. GAURAV KAPOOR January 22, 2019
    • Himanshu Grewal January 23, 2019
  3. DigiHelpGuru January 22, 2019
  4. rovin singh chauhan January 22, 2019
  5. Kunj Bihari January 22, 2019
  6. Manjeet singh January 22, 2019
  7. Tech Inside Tips January 23, 2019
  8. Ramanand mehta January 23, 2019
  9. DEEPAK RATHOR January 24, 2019
  10. Aryan January 26, 2019
  11. Nazir Husain January 30, 2019
  12. Rajan January 31, 2019
    • Himanshu Grewal February 2, 2019
  13. Indrasinh April 1, 2019

Leave a Reply