क्या आप जानते हैं RAM और ROM में क्या अंतर है?

What’s The Difference Between Ram and Rom in Hindi

क्या आपको भी मेरी ही तरह Ram और Rom क्या है तथा Ram और Rom में अंतर क्या है के कान्सैप्ट में कन्फ्यूजन होती है, यदि आपका जवाब हाँ है, तो पढ़िए मेरे द्वारा लिखे गए इस लेख को जिसमे मैंने Difference Between RAM and ROM in Hindi का कान्सैप्ट अपडेट किया है|

वाकई मैं आज से पहले मुझे भी रैम और रोम की परिभाषा अथवा जानकारी नहीं थी, जिसकी वजह से मुझे इसको समझने में बहुत ही ज्यादा समस्या हुआ करती था| लेकिन फिर मेरे मस्तिष्क में आइडिया आया और मैंने सोचा कि क्यों ना इस पर मैं जानकारी इकट्ठी करू जिससे कि कन्फ़्युशन क्लियर हो|

YouTube पर कई विडियो देखने के बाद, गूगल पर कई आर्टिकल पढ़ने के बाद और फिर मैंने अपने एक भाई जो कि IT डिपार्टमेंट में ही काम करते हैं, उनसे जानकारी हासिल की और अब आपके लिए इस लेख को लिखकर अपडेट कर पा रहा हूँ|

वैसे इंग्लिश भाषा में आपको इस टॉपिक पर बहुत ज्यादा मात्रा में कंटेंट मिल जाएगा लेकिन हिन्दी भाषा में इस टॉपिक पर बहुत ही कम जानकारी उपलब्द है|

मेरे होते हुए आप किसी भी जानकारी से वंचित रह जाएँ ऐसा मैं होने नहीं दे सकता हूँ, इसलिए आपको चिंता करने की बिलकुल भी आवश्यकता नहीं है|

जब मैं Ram and Rom Difference in Hindi Language पर डाटा कलेक्ट कर रहा था तब मुझे मालूम पड़ा कि वाकई यह दोनों एक दूसरे से काफी अलग हैं, शायद ऐसा हो सकता है कि आप में से कुछ लोग इस बारे में जानते हो लेकिन मैं पूरे यकीन के साथ बोल सकता हूँ कि ज्यादा लोग इसके बारे में नहीं जानते होंगे|

तो चलिये, समझते हैं इन दो कन्फ्यूजन भरे टॉपिक को और जानते हैं कि RAM और ROM के बीच क्या अंतर है| अंतर समझने से पहले आईये सबसे पहले RAM और ROM की फुल फॉर्म जान लेते है|

Full Form of Ram and Rom in Hindi

क्या आपने इसे पढ़ा: RTGS vs NEFT vs IMPS में क्या अंतर है

Difference Between Ram and Rom in Hindi

RAM और ROM के बीच एक बड़ा अंतर है जो शायद हम में से कुछ लोग ही जानते होंगे, खास कर वो जो या तो IT Department में काम करते हो या फिर जो इन टॉपिक पर रिसर्च करते हैं|

तो चलिये सबसे पहले हम रोम क्या है इसको समझते हैं, तत्पश्चात हम रैम क्या है को विख्यात से पढ़ कर समझेंगे|

अंतर समझे: HTTP और HTTPS में क्या अंतर है

ROM Kya Hai – What is ROM in Hindi

What is ROM in Hindi

ROM क्या है : रोम एक तरह की ऐसी चिप है जो परिवर्तनशील नहीं है, यानी की इसके निर्माण के बाद इसमें स्टोर किये गए डाटा को बदला नहीं जा सकता है, महज पढ़ा जा सकता है| ठीक उसी तरह जैसे हम जब CD को बर्न कर देते हैं तो उसमे हम दुबारा चेंज नहीं कर सकते हैं|

सरल शब्दों में हम यह भी बोल सकते हैं कि इस मेमोरी में स्टोर प्रोग्राम परिवर्तित और नष्ट नहीं किये जा सकते हैं, इन्हें केवल पढ़ा ही जा सकता है|

अंग्रेजी में इसे नॉन-वोलेटाइल स्टोरेज (Non Volatile Storage – that cannot be changed or edited) या मेमोरी भी कहा जाता है|

इसमे स्टोर किया हुआ डाटा को उसके संचालन के लिए कभी भी किसी भी अन्य पॉवर की जरूरत नहीं होती है| चलिये मैं इस स्टेटमेंट को आपको एक उदाहरण के तौर पर समझता हूँ:-

हालांकि अब तो ज्यादातर लोग लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं, लेकिन फिर भी आप इस उदाहरण को पढ़िये और समझने का प्रयास करिए-

इसे भी पढ़े: LTE और Volte में क्या फर्क अथवा अंतर है

Ram and Rom Difference in Hindi

जब कभी कंप्यूटर पर काम करते – करते अचानक से बिजली के चले जाने पर जब कम्प्युटर बंद हो जाता है तो भी उसमे आपका वो डाटा जो है वो स्टोर ही रहता
है|
अर्थात जब लाइट आने के बाद आप कंप्यूटर को दुबारा से ऑन करके काम को करना शुरू करेंगे तो आपको आपकी फाइल वही से मिलेगी, जहाँ पर आपका कंप्यूटर बंद हुआ था|

इसके अतिरिक्त यदि हम RAM के बारे में बात करे तो यहाँ मामला इससे बिलकुल ही उल्टा होता है, यह एक अस्थाई मेमोरी होती है| जिसे स्टोरेज को स्टोर करने के लिए पावर की आवश्यकता पड़ती है|

जैसा कि मैंने ऊपर बताया था कि पावर के कटने पर भी डाटा सुरक्षित ही स्टोर रहता है, तो यहाँ उल्टा होता है अर्थात जैसे ही बिजली जाती है तो इसमें मौजूद सभी जानकारी अपने आप ही उड़ जाती है|

सिर्फ इतना ही नही रैम और रोम में बीच अंतर और भी बहुत सारे हैं जिसका आपको पता होना अत्यंत आवश्यक है जो इस प्रकार हैं: RAM और ROM के बीच में कुछ और अंतर…

इसे भी देखें: वृद्धि और विकास के बीच अंतर क्या है

Difference Between Ram and Rom with Example in Hindi

1. ROM को कंप्यूटर के निर्माण के समय से ही अर्थात कंप्यूटर के बनने से पहले ही इस्तेमाल में लिया जाता है|

वही RAM का इस्तेमाल ROM के इस्तेमाल से हट कर नार्मल कार्यों के लिए किया जाता है, जैसे कंप्यूटर के शुरू होने के बाद के कई कार्य और इसके साथ-साथ ऑपरेटिंग सिस्टम के लोडिंग से जुड़े कार्य में इसका उपयोग किया जाता है|

2. ROM के चिप में डाटा को स्टोर करने की प्रक्रिया बहुत लम्बी है, जबकि इसके विपरीत RAM चिम में यही प्रक्रिया बड़ी तेज़ी से की जाती है|

इस बात का अनुमान आप तब से लगा सकते हैं, जब आपका कम्प्युटर खराब हो जाता है या Window उड़ जाती है तो आप उसे मैकेनिक के पास ठीक कराने के लिए ले कर जाते हैं|

अब विंडो सेटअप (window install) की प्रक्रिया जो होती है उसमे करीबन 30 मिनट से 1 घंटे तक का समय लग जाता है, वही यदि उसमे आप कोई एप्लिकेशन को अपडेट करते हैं तो उसमे आपका कम समय लगता है|

3. एक RAM चिप में आप बहुत से अलग-अलग “Gigabytes (GB)” डाटा को स्टोर कर सकते हैं, जैसे आप इसे 1 GB से शुरू करने के बाद आगे बढ़ा सकते हैं|

नोट : यदि आप इसके बारे में जानकारी रखते हैं तो आप जानते ही होंगे कि अब  तो 128 GB तक की भी RAM Chip आने लगी है|

पढ़ना न भूलें: c लैंग्वेज तथा c++ लैंग्वेज के मध्य अंतर क्या है

Difference Between Ram and Rom in Hindi

वही यदि हम ROM Chip की बात करे तो यह fixed होने के साथ-साथ सिर्फ कुछ MB का ही डाटा स्टोर करती है|

आइये दोस्तों, अब हम कंप्यूटर ROM और कंप्यूटर RAM के कान्सैप्ट पर भी एक नजर मार लेते हैं|

Types of Computer Memory in Hindi (RAM and ROM)
Computer ROM क्या है ?
  1. ROM Computer एक तरह का BIOS Computer (Basic Input Output System) है|
  2. यह एक PROM चिप है जिसमे आप प्रोग्रामिंग स्टोर कर सकते हैं|
    (इसके बारे में मैं आपको ऊपर ही बता चुका हूँ कि ये Non-voltage storage को computer के स्टार्ट अप में इस्तेमाल किया जाता है|
  3. सबसे अच्छी बात तो यह है की इसको गेमिंग सिस्टम में भी इस्तेमाल किया जाता है| विशेष रुप से ओरिजिनल नाइनटेंडो, गेमबॉय, सेगा जेनेसिस, और अन्य| (कंप्यूटर में गेम खेलने वालो के लिए ये बहुत ही अच्छा है|
Computer RAM क्या है ?
  1. RAM Chip को भी आप कंप्यूटर में इस्तेमाल में ले सकते है, इसके अलावा इसे अन्य डिवाइस में भी इस्तेमाल किया जाता है|
  2. इसके जानकारी को भी स्टोर किया जा सकता है, और प्रोग्राम को रन करने के लिए भी इसे इस्तेमाल में ले लिया जाता है|
  3. ये कंप्यूटर में तेज मेमोरी के रूप में इस्तेमाल भी किया जाता है| जिससे आपका कंप्यूटर फास्ट चले|

तो दोस्तों यह था ROM और RAM के बीच का अंतर, आशा है आपको इस लेख में लिखे सारे पॉइंट अच्छे से समझ में आ गए होंगे|

आइये अब आखिर में एक बार हम टेबल के फॉर्म में ROM और RAM के बीच के अंतर को समझते हैं, जिससे समझने में और याद रखने में आपको काफी आसानी होगी|

Describe The Difference Between Ram and Rom in Hindi – Ram and Rom Difference in Hindi

Types of Ram and Rom in Hindi ⇓

RAM Memory (रैम मेमोरी)ROM Memory (रोम मेमोरी)
पूरा नाम : यह रैंडम एक्सेस मेमोरी है|पूरा नाम : यह रीड ओनली मेमोरी है|
ऑपरेशन : इसमें यूजर द्वारा सूचनाओं को लिखा व पढ़ा जा सकता है|ऑपरेशन : इसमें यूज़र द्वारा सूचनाओं को केवल पढ़ा जा सकता है|
यह कंप्यूटर की volatile मेमोरी होती है|यह कंप्यूटर की नॉन वोलेटाइल मेमोरी है|
डाटा बदला जा सकता है|डाटा बदला नही जा सकता है|
कंप्यूटर के बंद होते ही इसमें संग्रह की सूचनाएं नष्ट हो जाती हैं|कंप्यूटर के बंद होने पर भी इस में संग्रहित सूचनाएं यथावत बनी रहती हैं|
इसमें सूचनाओं को पढ़ने एवं लिखने का कार्य यूज़र द्वारा होता है|इसमें सूचनाएं लिखने का कार्य कंप्यूटर निर्माता कंपनी के द्वारा होता है जैसे बायोस प्रोग्राम|
प्रोग्राम, ऑपरेटिंग सिस्टम को रन करने में इसका डाटा काम में लिया जाता है|सिस्टम को शुरू करने अर्थात बूटिंग में इसमें सेव डाटा का उपयोग किया जाता है|
इसकी साइज कम होती है|साइज बहुत अधिक तक हो सकती है|
यह दो प्रकार के होते हैं स्टेटिक रैम और डायनामिक रैम|यह तीन प्रकार के होते हैं PROM, EPROM, EEPROM|

शायद अब आपको Difference Between RAM and ROM in Hindi Language में अच्छे से समझ आ गया होगा, यदि कोई डाउट हो तो आप कमेंट या मेल के माध्यम से अपना डाउट क्लियर कर सकते हैं|

इसी के साथ अब मैं इस लेख का यही पर अंत कर रहा हूँ, आशा है आपको यह लेख अच्छा लगा होगा और इसके माध्यम से आपके ज्ञान के भंडार में बढ़ोतरी भी जरूर हुई होगी|

इस लेख को आपने अंत तक पढ़ा एवं समझा उसके लिए मैं आपका धन्यवाद करता हूँ, अंत में मैं आपसे गुजारिश करना चाहूँगा कि आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर करना भूलें|

Must Read : Difference Between Sales and Marketing in Hindi

RAM and ROM
क्या आप जानते हैं RAM और ROM में क्या अंतर है?

RAM : Random-access memory is the most common type of memory used for a Rapid-Access Memory which is a form of computer data storage that stores data and machine code currently being used.ROM : Read-only memory is a type of non-volatile memory used in computers and other electronic devices. Data stored in ROM cannot be electronically modified after the manufacture of the memory device.

Editor's Rating:
5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Comment