Poem on Children’s Day in Hindi – बाल दिवस पर हास्य कविता हिंदी में

चिल्ड्रेन्स डे के उपलक्ष पर मैं आज आपके लिए “टॉप 11 बाल दिवस पर हास्य कविता” अर्थात “Poem on Children’s Day in Hindi” का एक कलेक्शन अपडेट करने जा रहा हूँ.

दोस्तों, भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू जी अक्सर अपना जन्मदिन बच्चों के साथ ही मनाते थे, और यही वजह है की उनके जन्मदिन के दिन ही भारत में बाल दिवस मनाया जाता है.

आज भारत में कोई भी ऐसा विद्यालय नहीं होगा, जहाँ बाल दिवस के दिन विशेष सभा ना होती हो, अब उस साधारण सभा को विशेष बनाने के लिए आपका सहयोग भी बहुत महत्वपूर्ण है.

मैंने इस लेख में जो Best Poem on Children’s Day in Hindi अपडेट किया है, आप इसे याद कर बाल दिवस की सुबह स्टेज पर गा कर सुना सकते हैं.

आपकी सूचना के लिए मैं बता दूँ की इस कलेक्शन में छोटे बच्चों के लिए मैंने 4-5 कविता अलग से छोटी-छोटी और 5-6 बड़ी कक्षा के बच्चों के लिए उनके हिसाब से बाल दिवस पर हिंदी कविता अपडेट की है.

नोट : यदि आपका बच्चा छोटा है, तो यकीनन ही आप उनको वो 4-6 पंक्ति की कविता याद करा कर स्टेज पर बोलने के लिए मोटीवेट जरूर करें, इससे बच्चों का आत्मविश्वास बढ़ता है और वो खुश भी होते हैं.

अक्सर बाल दिवस के दिन कई शिक्षकों और माता-पिता अपने बच्चों के साथ Children’s Day Hindi Messages टाइप करके व्हाट्सएप्प और फेसबुक पर शेयर करते है और अपनी खुशिया जाहिर कर बच्चों को motivation और inspiration देते है.

आईये अब शुरू करते है आज का हमारा Children’s Day Hindi Poem का यह लेख और दोस्तों, बाल दिवस की कविता का शीर्षक है बाल दिवस.

जरुर पढ़े ⇓

Very Short Poem on Children’s Day in Hindi

यह जो कविता है हिंदी भाषा में चाचा नेहरू जी के उपर लिखी गयी है और अगर आपको यह चिल्ड्रेन्स डे पोएम अच्छी लगे तो इसे आप फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप्प पर शेयर जरुर करें.

Very Short Poem on Children's Day in Hindi

“चाचा नेहरु का बच्चो से,
बहुत पुराना नाता.
जन्म दिवस चाचा नेहरु का,
बाल दिवस कहलाता”

Poems on Children's Day in Hindi

“चाचा नेहरू ने देखे
नव भारत के सपने.
सपने पूरे कर सकते थे,
उनके बच्चे अपने”

Happy Children's Day Rhymes in Hindi

इस दिन हम सब बच्चें मिलकर,
गीत ख़ुशी के गाते.
चाचा नेहरु के चरणों में,
श्रद्धा सुमन चढाते.

Happy Children’s Day WhatsApp Status or Shayari in Hindi

शालाओं में भी होते हैं,
नये नये आयोजन.
जिन्हें देख आनंदित होते,
हम बच्चों के तन मन.

बाल दिवस के इस अवसर पर,
एक शपत यह खाओ.
ऊँच नीच का भेद भूला कर,
सबको गले लगाओ….!

अन्य लेख ⇓

बाल दिवस की सबसे अच्छी कविता – Bal Diwas Poem in Hindi

नोट : 4-5 कक्षा का छात्र इस कविता को आसानी से याद कर सकता है, और बाल दिवस के दिन हो रहे प्रतियोगिता में हिस्सा ले कर अपना मनोबल बड़ा सकता है.

चलिये दोस्तों, बढ़ते हैं आगे दूसरी कविता की ओर जो पहली या दूसरी कक्षा के छोटे-छोटे बच्चो के लिए बहुत ही बेहतर होगी.

Bal Diwas Poem in Hindi

“प्रभात”

नेहरू चाचा तुम्हें सलाम
अमन-शांति का दे पैगाम
जग को जंग से बचाया
हम बच्चों को भी मनाया
जन्मदिवस बच्चों के नाम
नेहरू चाचा तुम्हें सलाम
देश को दी हैं योजनाएं
लोहा और इस्पात बनाए
बांध बने बिजली निकाली
नहरों से खेतों में हरियाली
प्रगति का दिया इनाम
नेहरू चाचा तुम्हें प्रणाम..
कितनी प्यारी दुनिया इनकी,
कितनी मृदु मुस्कान।
बच्चों के मन में बसते हैं,
सदा, स्वयं भगवान।

|| बाल दिवस की शुभकामनाएं ||

तो दोस्तों, प्राथमिक कक्षा में पढ़ रहे बच्चों के लिए जो मैंने कविता अपडेट की है वो आपको कैसी लगी, कमेंट के माध्यम से हमे बताना मत भूलिएगा, आइये अब हम माध्यमिक कक्षा के छात्रों के लिए भी कुछ कविता देख लेते हैं.

Motivational Poem on Children’s Day in Hindi For Class 8

नोट ⇒ यदि आपको ये कविता अच्छी लगती है तो आप सोश्ल मीडिया के माध्यम से इनको अपने उन भाई – बहन के साथ शेयर कर सकते हैं जो अभी स्कूल में है और आने वाले बाल दिवस के प्रतियोगिता में हिस्सा लेना चाहते हैं.

Motivational Poem on Children's Day in Hindi For Class 8

“चाचा नेहरु का बच्चो से है बहुत पुराना नाता
जन्मदिन चाचा नेहरु का बाल दिवस कहलाता
चाचा नेहरु ने देखे थे नवभारत के सपने
उस सपने को पूरा कर सकते है उनके अपने बच्चे
बाल दिवस के दिन हम सभी बच्चे मिलकर गीत ख़ुशी के गायेगें
चाचा नेहरु के चरणों में फूल मालाये चढ़ायेगें!
शालाओं में भी होते है नये नये आयोजन
जिसको देख कर आनंदित होते है हम बच्चो के तन मन
बाल दिवस के इस पवन पर्व पर एक शपथ ये खाओ
ऊँच नीच का भेद भूलकर सबको गले लगाओ”

Poem on 14th November Children’s Day in Hindi – 14 नवम्बर पर कविता

हमारी अलगी कविता का शीर्षक है – बच्चे मन में बसते हैं|

नोट : बाल दिवस की यह कविता सिर्फ दिखने में बड़ी है, यकीनन ही इसके बोल और इसका अर्थ बहुत ही आसान है और आपको याद करने में कोई भी परेशानी नहीं आएगी.

कितनी प्यारी दुनिया इनकी,
कितनी मृदु मुस्कान।
बच्चों के मन में बसते हैं,
सदा, स्वयं भगवान।
एक बार नेहरू चाचा ने,
बच्चों को दुलराया।
किलकारी भर हंसा जोर से,
जैसे हाथ उठाया।
नेहरूजी भी उसी तरह,
बच्चे-सा बन करके।
रहे खिलाते बड़ी देर तक
जैसे खुद खो करके।
बच्चों में दिखता भारत का,
उज्ज्वल स्वर्ण विहान।
बच्चे मन में बसते हैं,
सदा स्वयं भगवान।
बच्चे यदि संस्कार पा गए,
देश सबल यह होगा।
बच्चों की प्रश्नावलियों से,
हर सवाल हल होगा।
बच्चे गा सकते हैं जग में,
अपना गौरव गान।
बच्चे के मन में बसते हैं,
सदा स्वयं भगवान।

Poem on 14th November in Hindi – Children’s Day Poem in Hindi Language

इस कविता को आप स्टेज पर सुनाने से अच्छा है, अपने दोस्तों के साथ, जिनके साथ आपने स्कूल के दिन बिताए हैं उनके साथ सोश्ल मीडिया के माध्यम से यदि शेयर करेंगे तो ज्यादा बेहतर होगा और आपकी यादें भी ताजा हो जाएंगी.

वो बचपन के दिन

“वो यारों की यारी में सब भूल जाना
और डंडे से गिल्ली को दूर उड़ाना
वो होमवर्क से जी चुराना
और टीचर के पूछने पर बहाने बनाना
मुश्किल है बचपन को भुलाना
वो एग्जाम में रट्टे लगाना,
फिर रिजल्ट के डर से घबराना!
वो दोस्तों के साथ साईकिल चलाना!
वो छोटी-छोटी बातो पर रूठ जाना
मुश्किल है बचपन को भुलाना”

बाल दिवस पर अच्छी-अच्छी कविताएं – Best Poem on Children’s Day in Hindi Language

बाल-दिवस है आज साथियो, आओ खेलें खेल ।
जगह-जगह पर आज मची है, खुशियों की रेलमपेल ।
वर्षगाँठ चाचा नेहरू की, फिर से आई है आज…
उन जैसे नेता पर पूरे भारतवर्ष को है नाज।
दिल से इतने भोले थे वो, जितने हम नादान,
बूढ़े होने पर भी मन से थे वे सदा जवान ।
हमने उनसे मुस्काना सीखा, सारे संकट झेल
हम सब मिलकर क्यों न रचाए ऐसा सुख संसार
जहां भाई भाई हों सभी, छलकता रहे प्यार,
न हो घृणा किसी ह्रदय में, न द्वेष का वास,
न हो झगडे कोई, हो अधरों का हास,
झगडे नहीं परस्पर कोई, सभी का हो आपस में मेल,
पड़े जरूरत देश को, तो पहन लें हम वीरों का वेश,
प्राणों से बढ़कर प्यारा है हमें अपना देश,
दुश्मन के दिल को दहला दें, डाल कर नाक नकेल
बाल दिवस है आज साथियों, आओ खेलें खेल…

जरुर पढ़े ⇓

Pandit Jawaharlal Nehru Poem in Hindi – Poem on Pandit Jawaharlal Nehru in Hindi

अब बारी है आखिरी कविता की, मुझे उम्मीद है कि इसे पढ़ कर आपको अच्छा लगेगा, और यकीनन ही आप इसे याद भी करेंगे.

चाचा नेहरु प्यारे थे,
भारत माता के राजदुलारे थे!,
देश के पहले पधानमंत्री थे,
स्वतंत्रता के सैनानी थे!
अचकन में फूल लगाते थे,
हमेशा ही मुस्काते थे!
बच्चो से प्यार जताते थे!
चाचा नेहरु प्यारे थे!
देश विदेश यह घूमते थे,
बहुत सारी जानकारी प्राप्त करते थे,
फिर भी अपने देश से यह प्यार करते थे!
चाचा नेहरु राजकुमारे थे!
बच्चे इनको सदा प्यार से,
चाचा नेहरू कहते।
चाचाजी इन बच्चों के बीच,
बच्चे बनकर रहते है॥
एक गुलाब ही सब पुष्पों में,
इनको लगता प्यारा।
भारत मां का लाल यह,
सबसे ही था न्यारा॥
सारे जग को पाठ पढ़ाया,
शांति और अमन का।
भारत मां का मान बढ़ाया,
था यह ऐसा लाल चमन का॥
बाल दिवस की कविता|

Poems on Children’s Day in Hindi का यह लेख अब यही पर समाप्त हो रहा है| आशा है आपको कविता पसंद आई होगी.

आपको यह पोएम कैसी लगी हमको कमेंट करके जरुर बताये और अगर आप व्हाट्सएप्प पर हो तो अपने दोस्तों को और व्हाट्सएप्प ग्रुप में चिल्ड्रेन्स डे व्हाट्सएप्प स्टेटस और शायरी शेयर जरुर करे.

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

1 thought on “Poem on Children’s Day in Hindi – बाल दिवस पर हास्य कविता हिंदी में”

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link