13 Advanced On-Page SEO Techniques फॉर प्रो ब्लॉगर – 2019 Edition

अगर आप ऑनलाइन अपने ब्लॉग या विडियो से पैसा कमाना चाहते हो तो आपको SEO search engine optimization की पूरी जानकारी होना जरुरी हैं. बिना seo के आप अपने ब्लॉग और विडियो में ट्रैफिक नही ला पाओगे और इस आर्टिकल मैं, में आपको On page seo Techniques के बारे में बताने जा रहा हूँ.

SEO हम दो जगह करते हैं:-

  1. ब्लॉग / वेबसाइट पर
  2. YouTube विडियो पर

Youtube video par seo करने से हमको यह फायदा होता हैं की जब हम YouTube पर विडियो डालते हैं और उस विडियो पर views होते हैं तो advertisement के जरिए हमको income मिलती हैं और अगर हमारी सारी विडियो पर ज्यादा views होते हैं तो दूसरी company अपने ब्रांड का नाम शो करने के लिए हमको पैसे भी देती हैं.

YouTube पर जो विडियो upload करता हैं उसे YouTuber बोलते हैं. अगर आप भी youtube पर विडियो अपलोड करना चाहते हो और उस विडियो पर व्यू बढ़ाना चाहते हो तो आप नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करके इसके बारे में अच्छे से पढ़ सकते हो.”

अब हम बात करते है Blog SEO की, पहले ब्लॉग्गिंग करना ज्यादा मुश्किल नही था काफी कम लोग blogging के बारे में जानते थे पर जैसे जैसे टाइम बीतता गया लोगो को blogging के बारें मै पता चला.

2019 हैं काफ़ी सारे लोग आज blogging field में हैं सभी के पास अपना-अपना ब्लॉग है कोई-न-कोई किसी-न-किसी टॉपिक पर लिख रहा हैं और उतना ही ज्यादा competition बड रहा हैं.

जब इतना सारा competition है तो अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे लाए? इसका सिंपल सा उत्तर है SEO.

SEO क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं

SEO की जो फुल्फोर्म है वो “सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन”. सर्च इंजन जोकि है Google, Bing, Yahoo etc. इनको सर्च इंजन बोलते हैं. हमको अपने ब्लॉग का SEO इस तरह करना है जिससे हमारी site google search engine के first page पर आये.

अगर आपको इसके में और अधिक जानकारी प्राप्त करनी है तो आप What is SEO kya hai in hindi वाला आर्टिकल पढ़े.

अब हम जानेंगे की seo कितने प्रकार के होते हैं.

SEO तीन प्रकार के होते हैं:-

  1. On page optimization
  2. On Site SEO
  3. Off-Page SEO

और आज में आपको On page seo techniques के बारें में स्टेप-बाय-स्टेप जानकारी बताऊंगा.

Great On Page SEO techniques in hindi for blogger

दोस्तों में कोई professional blogger तो नही हूँ और आपने पता नही कितने on page seo techniques के आर्टिकल पढ़े होंगे पर फिर भी में आपसे वादा करता हूँ जो On page seo tips and trick में आपको बताने जा रहा हूँ शायद ही आपको पता हो.

11 फरवरी 2017, Shangri-La’s Eros Hotel, न्यू दिल्ली मैं BlogX नाम का एक इवेंट हुआ था और उस इवेंट के भारत देश के popular blogger आये थे. सभी लोगो ने अपने-अपने आईडिया शेयर करें जिनको आज मैं आपके साथ शेयर करने जा रहा हूँ.

Good news for hindi blogger 🙂

दोस्तों सबसे अच्छी बात मुझे यह लगी की उस event में गूगल मै work करने वाला एक यक्ति आये थे और उन्होंने बोला की आप सभी को हिन्दी मै आर्टिकल लिखने चाहिए.

इसका सीधा जवाब यह हैं की गूगल हिन्दी ब्लॉग पर अब फोकस कर रहा हैं और फ्यूचर मैं हिन्दी ब्लॉगर का फ्यूचर सफल हैं. दोस्तों जो हिन्दी ब्लॉग्गिंग कर रहे हैं उनको हार नही माननी चाहिए काम को बस करते रहो आपको सफलता जरुरु मिलेगी.

अब हम आते हैं On page seo activities पर जिनको फॉलो करके आप अपने ब्लॉग पर बहुत अच्छा ट्रैफिक ला पाओगे और google adsense and affiliate marketing करके बहुत अच्छे पैसे कमा पाओगे.

  1. Blog Post Title

जितने भी पॉइंट मै आपको बताने जा रहा हूँ वो सारें के सारे बहुत ही इम्पोर्टेन्ट हैं और उनमे से ब्लॉग पोस्ट टाइटल सबसे जरूरी on-page seo factors हैं.

टाइटल seo के लिए इम्पोर्टेन्ट इसलिए हैं क्यूंकि जितना attractive and optimized वाला आपका title होगा, उतना ही लोग उसपर क्लिक करेंगे, जो आपके पोस्ट को रैंक करवाने मैं हेल्प करेगी.

जितना हो सके आप अपने टाइटल में अपना targeting keyword ही इस्तेमाल करे. आपका जो टार्गेटिंग कीवर्ड होगा उसको आप title (h1) tag के शुरुवात में ही यूज करें.

आप एक बात का जरुर ध्यान रखे की आप अपने title मै 1 बार से ज्यादा अपना कीवर्ड इस्तेमाल ना करें. अगर आप सोच रहे हो की ऐसा करने से आपकी ranking higher होगी तो आप बिलकुल गलत सोच रहे हों.

2. Post Permalink Structure / URL

On page seo techniques में url का भी एक मेजर रोल हैं. आपका जो url होगा वो सिंपल और छोटा होना चाहिए. आपके URL मैं बस कीवर्ड ही होने चाहिए (no extra word).

Example of a good permalink:

http://www.himanshugrewal.com/seo-search-engine-optimization

जैसा की आपने मेरे url मै देखा मैंने बस अपने पर्मालिंक पर कीवर्ड ही ऐड करा हैं मैं चाहता तो url मै कुछ और वर्ड भी ऐड कर सकता था जैसे की “seo-search-engine-optimization-kya-hai-in-hindi”

तो आप ऐसी गलती ना करें छोटा, सिंपल, और कीवर्ड वाला url ही बनाये.

3. Heading Tags

आप अपने आर्टिकल मैं हैडिंग टैग्स जरुर यूज करें जिससे रीडर को आपके आर्टिकल को समझने में और भी जादा आसानी हो सके.

अगर आप WordPress यूजर हो तो आपको H1 tag लगाने की कोई जरूरत नही हैं, क्योंकि WordPress आपके title को ऑटोमेटिकली H1 tag मै कर देता हैं.

एक बात का जरुर ध्यान रखे की आप अपने आर्टिकल में 1 से ज्यादा h1 tag का इस्तेमाल ना करें, उसकी जगह आप आर्टिकल में H2 और H3 tags का इस्तेमाल कर सकते हो.

और हाँ अपने आर्टिकल में ज्यादा H2 और H3 टैग का यूज ना करें क्योंकि Google’s algorithms इसको बिलकुल भी पसन्द नही करती हैं.

उधारण के लिए आप यह विडियो देखे.

4. Engaging Content for On Page SEO Best Practice

एक अच्छा आर्टिकल आपकी साईट रैंकिंग को बूस्ट करने के लिए काफ़ी हैं फिर चाहे आप उसकी seo करो या ना करो. और अगर आप एक पूरा आर्टिकल (bad content) लिखते हो तो आपकी साईट पर ट्रैफिक कभी नही आयेगा फिर चाहे आप जितनी मर्जी seo करलो.

तो आज में आपको best content के बेस्ट tips बताऊंगा.

Original content : आपका content original होना चाहिए. आप अपने कंटेंट के अन्दर (image, videos, infographics) यह सब ऐड कर सकते हो.

Content published on your website first : अगर आप एक आर्टिकल लिखते हो और उसको आप पहले किसी और साईट पर पब्लिश करते हो और उसके बाद अपनी साईट पर तो वो आपका original आर्टिकल नही रहेगा फिर वो दूसरी साईट का हो जाएगा जिसपर आप पहले publish करोगे.

Original and useful text : आप जो भी आर्टिकल लिखोगे वो एकदम useful लिखना कई आपके रीडर आपकी साईट पर जो पढ़ना चाहते है वो उनको ना मिले तो वो आपकी साईट को छोरकर चले जाएंगे, जिससे गूगल में आपकी साईट का गलत इम्पैक्ट पड़ेगा.

Long tail keyword : अगर आपका ब्लॉग न्यू है तो आप अपने आर्टिकल में long tail कीवर्ड use करें (short कीवर्ड पर बिलकुल भी फोकस ना करे)

5. Average Word Count Per Blog Post

यह कहना थोडा मुश्किल हैं की कितना बड़ा हमारा आर्टिकल होना चाहिए 300, 500, 1000 या फिर 2000 words.

Moz.com ने एक survey किया था और उन्होंने एक कीवर्ड लिया और उसको search किया और जितने भी साईट शो हुई थी उन्होंने शायद 200 url को लिया और analyse किया.

और analyse करने पर पता चला की जिसका content सबसे ज्यादा है वो top पर हैं, उसके बाद जिसका थोडा कम वो 2nd पर फिर जिसका content 2nd वाले से थोडा कम हैं वो 3rd पर ऐसे ही बाकि के सारे url थे.

तो इसका सिंपल सा answer है की जिसका content बड़ा और useful होगा वो साईट top पर आयेगी.

पर एक बात का जरुर ध्यान रखे की जरूरी नही है की आप सारे आर्टिकल long लिखे, डिपेंड आपके कीवर्ड पर करता हैं की क्याँ उस कीवर्ड पर आर्टिकल लम्बा लिखना चाहिए यां नही.

उदाहरण के लिए आप कीवर्ड को गूगल सर्च में डालिए और अपने competition की साईट चेक करिए. यह एक best on page seo techniques है जिसको खुद में follow करता हूँ.

6. Keyword density formula

काफी सारें blogger के मन मैं यह सवाल जरुर आता हैं की keyword density कितने % होनी चाहिए. 0.7%, 7% या 77% या फिर कोई नंबर? राईट ? क्योंकि मै भी पहले यही सब सोचता था और फिर मैंने इसके बारे में रिसर्च करी.

रिसर्च करने पर मुझे पता चला की आप कीवर्ड डेंसिटी 1% से लेकर 1.5% तक लेजा सकते हों with LSI keywords.

पर मैंने एक दिन YouTube पर Matt Cutts की विडियो देखी और उन्होंने बताया की, (आपका जो main keyword हैं वो आर्टिकल के पहले पैराग्राफ मैं और आर्टिकल के आखिरी पैराग्राफ मैं. और बीच में कही भी जहा पर आपका कीवर्ड सही बैठे.

Example के लिए आप यह विडियो देख सकते हो.

7. Internal linking

अपने टॉपिक से रिलेटेड आर्टिकल को अपनी साईट के किसी अन्य आर्टिकल से लिंक करना इंटरनल लिंकिंग कहलाता हैं.

इंटरनल लिंकिंग के बहुत फायदे हैं यह आपके ब्लॉग के रीडर को ज्यादा समय तक रोके रखती हैं.

अगर हो सके तो जब आप अपने किसी अन्य पेज को इंटरनल लिंक करो तो आप anchor text से लिंक करें. पर हाँ जरूरत से ज्यादा लिंक भी मत कर देना और सिर्फ अपने आर्टिकल से रिलेटेड ही आर्टिकल को लिंक करना जो आपके विजिटर के लिए जरूरी हो.

अगर आपको इंटरनल लिंकिंग का बेस्ट example देखना हैं तो आप विकिपीडिया पर देख सकते हो और नीचे दिए गये तस्वीर को भी देख सकते हो.

Internal linking examples
विकिपीडिया

जैसा की अपने तस्वीर में देखा की विकिपीडिया ने कितने अच्छे से anchor text से अपने दूसरे पेज को लिंक करा हुआ है और उसी आर्टिकल से रिलेटेड आर्टिकल को लिंक भी करा हुआ हैं. तो आप भी यही सब करिए.

8. External Linking

अपने ब्लॉग पोस्ट को लिंक करना अच्छी बात है और उतना ही अच्छा दूसरो के ब्लॉग पोस्ट पर लिंक करना.

फॉर example मैंने एक आर्टिकल लिखा on page seo tutorial या फिर on page seo techniques के उपर, मैंने आर्टिकल लिखा और मैंने अपने subject से रिलेटेड ही किसी अन्य वेबसाइट को लिंक किया (trusted websites only) तो गूगल को लगता हैं की मैंने किसी अच्छी साईट को लिंक दिया हैं जिससे उसको हमारा कंटेंट भी high quality का लगता हैं.

पर जब भी आप किसी साईट को लिंक दो तो वो authority sites होनी चाहिए जैसे की wikipedia, cnn, gsmarena, moz.

अगर आपको high authority साईट का नही पता तो आप nofollow लिंक भी दे सकते हो. जिससे आपकी साईट की वैल्यू भी डाउन नही होगी और आपकी साईट का link juice भी इनक्रीस नही होगा.

9. Table of Contents

ज्यादातर लोगो को इस बारें मै नही पता की टेबल ऑफ़ कंटेंट होता क्या हैं और इसको हम कैसे इस्तेमाल कर सकते हैं.

अगर अपने विकिपीडिया को देखा होगा तो वहाँ पर आपको Contents [hide] करके एक नेविगेशन दिखेगी इससे कोई भी विजिटर जब किसी वर्ड पर क्लिक करता हैं तो वो उस title के पास अपने आप पहुच जाता हैं. उधारण के लिए आप इमेज देख सकते हो.

Table of Contents

जैसा की अपने तस्वीर मै देखा, अगर ये तरीका आप अपने ब्लॉग में ऐड करोगे तो यह आपके पोस्ट की ranking को इनक्रीस करने में काफी हेल्प करेगा.

इसका एक फायदा यह भी होता है की गूगल के डिस्क्रिप्शन बॉक्स में आपकी साईट का लिंक भी बना आ जाता हैं. उधारण के लिए तस्वीर देखे.

Table of Contents Examples

अब आप यह सोच रहे होंगे की साईट में टेबल कैसे ऐड करें. अगर आप wordpress blogger हो तो आपको फ्री plugin मिल जाएगी इसको install करने के बाद आपके पोस्ट मै अपने आप टेबल add हो जाएगी (पर एक बार setting check कर लेना).

Plugin install करने के लिए आप इस लिंक पर क्लिक करें.

10. Embed Relevant Video

आप अपने ब्लॉग पर अपने आर्टिकल से रिलेटेड विडियो अपलोड कर सकते हो.

विडियो अपलोड करने से विजिटर आपकी साईट पर थोड़ी देर तक रुक जाता हैं जिससे आपका बाउंस rate कम होता हैं.

जैसा की आप देख ही सकते हो मैंने इस आर्टिकल में 2 विडियो अपलोड करी है और शायद अपने देखी भी होगी उसी तरह आप भी विडियो अपने पोस्ट में embed कर सकते हो.

11. Quality Images

Image optimization आपको google images search box से ट्रैफिक दिलाने में बहुत मदद करेगी.

आप अपनी image के “title” और “alt text” में अपना keyword डाले जिससे गूगल आपकी image को अच्छे से समझ पाए.

एक बात का ध्यान रखे

ज्यादा इमेज यूज करने से आपकी साईट थोड़ी स्लो भी हो सकती है और आपकी रैंक भी थोड़ी डाउन हो सकती है. इसलिए आप अपनी साईट में Caching plugin, CDN और कोई भी बेस्ट Compress images plugin का इस्तेमाल कर सकते हो.

12. Meta Title and Description

Meta title, description के बारें में तो आपको पता ही होगा. जब भी कोई विजिटर गूगल या किसी अन्य सर्च इंजन पर कोई कीवर्ड टाइप करता हैं तो उस विजिटर को सबसे पहले आपकी साईट का Title or description लिखा हुआ दिखता हैं.

Meta Title and Description length 2017

Page titles – जब भी आप title बनाओ तो उस title में 1 बार अपना कीवर्ड जरुर डाले, unique title बनाये जिससे google और रीडर समझ पाए की आपका पेज किस टॉपिक के उपर हैं. पेज टाइटल में आप सिर्फ 65 characters तक लिख सकते हो उससे ज्यादा गूगल में शो नही होता.

Descriptionsआपके टाइटल के नीचे आपके पेज का description शो होता हैं तो जैसे आपको टाइटल में करना है वैसा ही आपको डिस्क्रिप्शन में करना हैं. इसमें आप 150 characters तक लिख सकते हो.

13. Social Signals

सोशल सिग्नल्स एक बहुत ही इम्पोर्टेन्ट on page seo benefits हैं. जितना ज्यादा आपको सोशल मीडिया से ट्रैफिक आयेगा गूगल में आपकी रैंकिंग उतनी ही इम्प्रोव होगी.

अगर आपको social signal चाहिए तो आप best article लिखे जिसे रीडर उस आर्टिकल को पसन्द करें और उसको social media पर शेयर करें. (अगर आपको यह आर्टिकल पसन्द आये तो आप भी इस आर्टिकल को social media पर शेयर कर सकते हैं.) 🙂

Social sharing के लिए बहुत सारी फ्री plugin है जिनको आप इनस्टॉल कर सकते हो जैसे की sumome, sharethis etc.

On Page SEO Checklist 2019 in Hindi
  1. Engaging blog title
  2. Keyword in URL
  3. Quality Content Minimum 1000 words.
  4. Keyword in first paragraph, last paragraph and middle of post
  5. Use long tail keywords in the article
  6. Keyword in H2,H3
  7. Use LSI keywords in body
  8. Internal link for relevant content
  9. External link for authority site
  10. Keyword in image alt tag
  11. Add Table of your contents
  12. Embed relevant video
  13. Use social sharing plugin

दोस्तों यह आर्टिकल यही पर खत्म हुआ. आज मैंने आपको 13 on page seo techniques के बारें में बताया हैं.

आपको यह tips and trick कैसी लगी या आपके पास कोई सवाल हैं तो आप कमेंट के माध्यम से हमसे पूछ सकते हो और इन सारी ट्रिक को अपने सभी blogger friends के साथ सोशल मीडिया पर शेयर जरुर करें. ThankYou for reading….Please visit again.! 🙂

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

24 thoughts on “13 Advanced On-Page SEO Techniques फॉर प्रो ब्लॉगर – 2019 Edition”

  1. Helo sir ji how r u
    Sir your all articles it’s very nice main aapke sab articles read krti hun or unko follow bhi krti hun ek din sab aapko or aapke articles ko or bhi zyd psnd krege or unko follow bhi krege keep rocking sir ji god bless you

  2. Hi Himanshu! Thanks for sharing this SEO guide in Hindi. I will help out for more beginners who want to learn in hindi.

  3. सहायता के लिए धन्यवाद…..
    मैं आपका आभार व्यक्त करता हूँ।

  4. Himanshu ji,

    Aapki site kafi achhi hai. Yah articles se bahut learn karne ko mila hai. Lekin mera ek question hai.

    Aapne internal linking me bataya tha ki Internal links dofollow dene hai, lekin is page par aapne saare links nofollow kiye hai, please bataiye iska kya karan hai ya yah by mistake huwa hai.

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link