Navratri

नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं शायरी

navratri wishes in hindi
Written by Himanshu Grewal

यह लेख Navratri Wishes in Hindi के ऊपर आधारित है, जहां से आप नवरात्रि के लेटेस्ट और बेस्ट मेसेज कॉपी कर सको और उनको अपने दोस्तों के साथ व्हाट्सएप्प और फेसबुक पर शेयर कर सको। Navratri Festival हिन्दुओं का एक पवित्र त्यौहार व उत्सव है, यह हिन्दुओं का एक धार्मिक त्योहार है जिसे 9 दिन तक मनाया जाता है।

इन दिनों सभी भक्त माता के नाम पर वर्त रखते है और माता की पूजा करते है। अलग-अलग दिन अलग-अलग माता की पूजा होती है। नवरात्रि के दिन 9 माता की पूजा होती है जिनका अपना एक अनमोल महत्व है। अगर आपको सभी माँ के नाम जानने है तो आप 9 माता के नाम और पूजनविधि वाला लेख पढ़े। इस दिन नवरात्रि के विशेष टोटके का भी अपना एक अलग महत्व है।

Happy Navratri 2021 Wishes Status Quotes

अब हम नवरात्रि विशेस और शायरी डाउनलोड करते है और उनको अपने सभी दोस्तों और परिवार वालों के साथ फेसबुक, ट्विटर, और व्हाट्सएप्प पर शेयर करते हैं।

नोट: आप हमको कमेंट करके जरूर बताए की आपको नवरात्रि शायरी कैसी लगी और कमेंट में जय माता दी लिखना ना भूले!


Navratri Wishes in Hindi with Name

लक्ष्मी का हाथ हो,
सरस्वती का साथ हो.
गणेश का निवास हो,
और माँ दुर्गा के आशीर्वाद से
आपके जीवन में प्रकाश ही प्रकाश हो....
!! हैप्पी नवरात्री !!

Navratri Status in Hindi 2021

लाल रंग से सज़ा माँ का दरवार,
हर्षित हुआ मन, पुलकित हुआ संसार,
अपने पावन कदमों से माँ आए आपके द्वार,
मुबारक हो आपको ये नवरात्रि का त्यौहार |
ॐ शुभ नवरात्रि ॐ


Happy Navratri Images with Quotes in Hindi

हमको था इंतजार वो घड़ी आ गई...
होकर सिंह पर सवार माता रानी आ गई...
होगी अब मन की हर मुराद पूरी...
भरने सारे दुःख माता अपने द्वार आ गई|
|| नवरात्रि की शुभकामनाएं ||

Navratri 2021 Images with Quotes in Hindi

कुमकुम भरे कदमों से आए माँ दुर्गा आपके द्वार,
सुख संपत्ति मिले आपको अपार,
मेरी ओर से नवरात्रि की शुभकामनाएं करें स्वीकार!
Navratri Ki Shubhkamnaye


Navratri Ki Shubhkamnaye in Hindi 2021

जगत पालन हार है माँ
मुक्ति का धाम है माँ!
हमारी भक्ति के आधार है माँ,
हम सब की रक्षा की अवतार है माँ...
!! जय माता दी !!

Navratri Message for Whatsapp in Hindi

क्या है पापी क्या है घमंडी
माँ के दर पर सभी शीश झुकाते…
मिलता है चैन तेरे दर पे मैया,
झोली भरके सभी है जाते..
|| जय माँ वैष्णो की शुभ नवरात्रि ||


Navratri SMS in Hindi

सच्चा है माँ का दरबार
मैया सब पर दया करती समान!
मैया है मेरी शेरोंवाली,
शान है माँ की बड़ी निराली....
दुर्गा माँ के आशीर्वाद में
असर बहुत है...!!! हैप्पी नवरात्री!

Happy Navratri Shayari in Hindi

देवी के कदम आपके घर में आये,
आप खुश्नाली से नहाये....
परेशानिया आपसे आँखें चुराए,
नवरात्रि की आपको हार्दिक शुभकामनाएं

आपको और आपके परिवार को नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं

N = Nav Chetna | नव चेतना
A = Akhand Jyoti | अखंड ज्योति
V = Vighna Nashak | विघ्न नाशक
R = Ratjageshwari | रत्जगेश्वरी
A = Anand Dayi | आनंद दई
T = Trikal Darshi | त्रिकाल दर्शी
R = Rakhan Karti | राखन कारती
A = Anand Mayi Maa | आनंद मई माँ
यह नवरात्रि आपके जीवन में प्रकाश का दीप जलाए.
आपको मेरी और से नवरात्रि की ढ़ेरो शुभकामनाएं||

Navratri Wishes in Hindi for Whatsapp and FB

नव दीप जले;
नव फूल खिले;
नित नयी बहार मिले;
नवरात्रि के इस पावन अवसर पर आपको माता रानी का आशीर्वाद मिले।
हैप्पी नवरात्रि!

Navratri Quotes in Hindi


अप्रैल में नवरात्रि कब से चालू है?

आपको ये तो पता ही होगा की नवरात्रि 9 दिनों का त्यौहार है, जो नवरात्रि शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा से शुरू होती है उसे चैत्र नवरात्र कहा जाता है, माना जाता है कि नवरात्रि में माता की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

वर्ष भर में दो बार नवरात्रि मनाई जाती है। हिन्दू कैलेंडर के अनुसार पौष, चैत्र, आषाढअश्विन के महीने के प्रतिपदा (पहली तिथि) से नवमी तक मनाया जाता है। इस महीने चैत्र नवरात्रि आरम्भ होने वाली है, 13 अप्रैल 2021 मंगलवार से नवरात्रि शुरू है, इसी के साथ सम्मत भी बदल जाता है, और इसके 9 दिन बाद नवरात्रि खत्म हो रही है। घट स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 5:58 से 10:22 तक रहेगा। अगर आप कलश स्थापना शुभ मुहूर्त में करते है तो आपका किया गया माता रानी का पाठ बड़ी जल्दी स्वीकार होता है। 13 अप्रैल को अभिजीत मुहूर्त सुबह 11:54 से 12:48 दोपहर तक रहेगा, 22 अप्रैल 2021 को व्रत खोलने का समय सुबह 6:00 बजे के बाद होगा।

नवरात्रि के पीछे वैज्ञानिक कारण

क्या नवरात्रि को मनाने के पीछे कोई वैज्ञानिक कारण भी हो सकता है? दोस्तों ये सवाल तो बहुत से लोगों के मन में आता होगा, इस प्रश्न का उत्तर है हाँ। इसके पीछे वैज्ञानिक कारण यह है कि दिन में शोर और कोलाहल बहुत होता है जिसके कारण नवरात्रि को रात में मनाया जाता था। इसका एक वैज्ञानिक कारण यह है कि रात को हमारी आवाज बहुत दूर तक जा सकती है, और रात्रि में सूर्य नहीं होता जिसके कारण आवाज कि तथा रेडियो की तरंगों को आगे बढ़ने में कोई परेशानी नहीं होती।

माना जाता है कि रात्रि में मंत्र जाप करने से विचारों की तरंगों में कोई रुकावट नहीं पड़ती है। इसीलिए पौराणिक कथाओं में इस बात का उल्लेख हुआ है कि ऋषि-मुनियों तथा असुरो द्वारा रात्रि को मंत्र जाप तथा यज्ञ किया जाता था। रात्रि का समय पूजा के लिए इसलिए भी उचित मना जाता है क्योंकि रात्रि में पूजा के समय घंटियों और शंख से उत्पन्न कंपन दूर-दूर तक वातावरण को शुद्ध कर देता है और मन को भी शांत करता है।

माना जाता है कि पृथ्वी द्वारा सूर्य की परिक्रमा काल में एक साल की चार संधियां होती हैं जिनमें से मार्च व सितंबर महीने में गोल संधिया पड़ती है, ये मुख्य नवरात्र होते है। इस समय अवधि के दौरान ऋतु परिवर्तन होता है। इस समय वातावरण में बहुत से हानिकारक जीवाणु मौजूद होते है, जिनके कारण रोग होने की सम्भावना अधिक होती है। अतः ऐसे समय में जीवाणु और हानिकारक शक्तियों से खुद को बचाने के लिए हमें तन तथा मन से पवित्र होना पड़ेगा, जिसके लिए नवरात्रि से अच्छा साधन कोई और हो ही नहीं सकता। नवरात्रि में व्रत रखने से मन को शांति मिलती है, वहीं शरीर भी पवित्र होता है। इसलिए युगों युगों से हिन्दुओं के इस पावन पर्व को लोग मनाते आ रहे है।


नवरात्रि क्यों मनाई जाती है?

अगर आप सोच रहे है कि नवरात्री में केवल पूजा पाठ ही होता है, इसका कोई इतिहास नहीं है तो आप गलत सोच रहे है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार जब महिषासुर नामक असुर का आतंक चरम सीमा पर था, सभी देवी देवताओं ने भगवान विष्णु, महेश, और ब्रह्मा के साथ मिलकर आदि शक्ति (माँ दुर्गा) की आराधना की, जिसके बाद माँ दुर्गा ने महिषासुर को युद्ध के लिए ललकारा। माँ दुर्गा का और महिषासुर का युद्ध लगातार 9 दिन तक चला इसके बाद दसवें दिन देवी दुर्गा ने महिषासुर का अंत कर संसार की रक्षा की जिसके कारण नवरात्रि का पर्व मनाया जाता है और आदि शक्ति के 9 रूपों की पूजा की जाती है।

जो भक्त सच्चे दिल से इस पर्व के दौरान उपवास कर मां की भक्ति में लीन रहते हैं, मां की कृपा सदैव उन भक्तों पर रहती है।


नवरात्रि कैसे मनाई जाती है?

नवरात्रि हिन्दुओं का प्रमुख त्यौहार है, इसे भारत के साथ अन्य देशों में भी मनाया जाता है। नवरात्रि वर्ष में दो बार मनाया जाता है।

नवरात्रि में नौ दिनों तक आदि शक्ति (दुर्गा माँ) के 9 स्वरूपों शैलपुत्री माता, ब्रह्मचारिणी, चंद्रघंटा, कूष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है।

चैत्र नवरात्रि में प्रतिपदा (पहले दिन, (आई वर्ष 13 अप्रैल को) कलश स्थापना की जाती है। नवरात्रि में कलश स्थापना का विशेष महत्व होता है और कलश स्थापना का विशेष मुहूर्त होता है। हिन्दू धर्म में मान्यता है कि नवरात्रि के दौरान कलश स्थापना बहुत शुभ माना गया है, यह भी माना जाता है कि नवरात्रि में कलश स्थापना और व्रत रखने से सारी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। चैत्र नवरात्रि में 9 दिनों का व्रत होता है जिसमें माँ शक्ति के अलग अलग रूपों की पूजा होती है। मां के सभी रूप भक्तों के लिए विशेष होते हैं।


मुझे उम्मीद है कि यहां पर जितने भी Happy Navratri Wishes and Images है आपको पसंद आये होंगे। आपको Navratri Status  लगी हमको कमेंट करके जरूर बताए और जितना हो सके माता के इस लेख को सोशल मीडिया पर शेयर करें। आपको और आपके परिवार वालो को HimanshuGrewal.com की तरफ से नवरात्रि पर्व की हार्दिक और ढेरों शुभकामनायें। माता आपकी सारी दुआ कबूल करेगी। जय माता वैष्णो की जय, जय माँ दुर्गा की जय, जय माँ लक्ष्मी की जय, जय माँ सरस्वती की जय, सभी माता की जय।

– Happy Navratri Wishes in Hindi with Images

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमें आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

18 Comments

Leave a Comment

close