सरकारी योजनाएं

मुख्यमंत्री राजश्री योजना की शुरुआत कब हुई अथवा इसकी सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

मुख्यमंत्री राजश्री योजना की जानकारी हिंदी में
Written by Himanshu Grewal

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राज अपनी सरकार के समय में राजस्थान के विद्यार्थियों के लिए एक से बढ़ के एक नये योजना लागू करने में लगी है| वही उन्होंने अपने प्रदेश की बालिकाओं के लिए एक बहुत ही अच्छी योजना की शुरुआत की जिसका नाम “मुख्यमंत्री राजश्री योजना” है.

आइये विस्तार में जानते हैं कि इस योजना के अंतर्गत किस तरह के नियम है.

मुख्यमंत्री राजश्री योजना की जानकारी हिंदी में

हमारे शास्त्रों में जहाँ बेटियों को लक्ष्मी, सरस्वती, गंगा, यमुना के रूप में लोग उनकी पूजा करते हैं वही दूसरी ओर सच्चाई कुछ और ही है.

भारत में लगभग 40 से 50% लोग अभी भी बेटियों को बोझ समझते हैं, और शायद यही कारण है की उनको पढाना-लिखाना तो दूर वह उनको जन्म लेते ही उनकी हत्या कर देते हैं और इसी वजह से लडकियों की जन्म दर दिन-प्रतिदिन कम होती जा रही है.

2011 की जनगणना के अनुसार यह पाया गया की बेटियां प्रति 100 बेटो में सिर्फ 928 ही है| इन बातो को ध्यान में रखते हुए राजस्थान की सरकार ने लडकियों के उज्जवल भविष्य के लिए कई योजना का निर्माण किया| इसके साथ-साथ उनके विकास, शिक्षा हर चीज़ का ध्यान सरकार रखेगी ताकि उनके क्षेत्र में बेटियां आगे बढे.

दोस्तों, अगर आप भी राजस्थान के नागरिक है और आप भी मुख्यमंत्री राजश्री योजना के अंतर्गत मिल रहे फायदों का लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको सबसे पहले इसकी पूरी जानकारी प्राप्त करनी चाहिए.

मुख्यमंत्री राजश्री योजना के बारे में विख्यात में जानने के लिए आप इस लेख को अंत तक ज़रूर ध्यान से पढ़े और फिर इसकी अपील कीजिये.

मुख्यमंत्री राजश्री योजना – Mukhyamantri Rajshri Yojana in Hindi

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राज्य में बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच को बढ़ाने के लिए राजश्री योजना की घोषणा 2016 -17 के बजट सत्र में की|

जिसके अंतर्गत सरकार लड़की के जन्म से उसकी 12बी कक्षा की पढाई उत्तीर्ण होने तक उसके परिवार को 50 हज़ार रुपया देगी, और ख़ास बात यह है की यह राशि एक बार में नहीं बल्कि कई किश्तों में दी जाएगी.

मुख्यमंत्री की शुभलक्ष्मी योजना का नाम बदलकर मुख्यमंत्री राजश्री योजना हो गया है, और इस योजना में पहले मिलने वाली राशि 7400 रुपय थे जो की अब बढ़ाकर 50 हज़ार कर दी गई है.

1 अप्रैल 2013 में शुरू की गई मुख्यमंत्री शुभलक्ष्मी योजना के तेहत सरकारी अस्पताल में जन्म ली ही बेटी को 2100 रुपय दिए जाते थे वही 1 जून 2016 या उसके बाद की जन्म ली हुई बेटियों को मुख्यमंत्री राजश्री योजना का लाभ मिलेगा.

अब शायद ख़ुशी से ना सही लेकिन लालच से ही लोगो ने बेटी को जीने देना शुरू कर दिया है, और इसी वजह से लड़कियों के जन्म दर में भी धीरे-धीरे बढ़ोतरी हो रही है इसके साथ-साथ बेटियों तक शिक्षा भी पहुच रही है.

जैसा की मैंने आपको ऊपर बताया की विभिन्न चरणों में बालिका के अभिवावकों को आर्थिक सहायता बालिका के जन्म से लेकर कक्षा 12वीं तक बेटी की पढ़ाई, स्वास्थ्य व देखभाल के लिए अभिभावक को 50,000 तक की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है| ये राशि निम्न चरणों में दी जाती है।

  1. बेटी के जन्म के समय 2500 रुपये
  2. एक वर्ष का टीकाकरण होने पर 2500 रुपये
  3. पहली कक्षा में प्रवेश लेने पर 4000 रुपये
  4. कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर 5000 रुपये
  5. कक्षा 10 में प्रवेश लेने पर 11000 रुपये
  6. कक्षा 12 उत्तीर्ण करने पर 25000 रुपये

योजना के लाभ की पात्रता को आप ध्यान से जरूर पढ़े – मुख्यमंत्री राजश्री योजना के लाभ

राजश्री योजना की पहली दो किश्त उन सभी बालिकाओं को मिलेगी जिनका जन्म किसी सरकारी अस्पताल एवं जननी सुरक्षा योजना (जे.एस.वाई.) से रजिस्टर्ड निजी चिकित्सा संस्थानों में हुआ हो.

ये दोनों किश्त उनके अभिभावकों को तब भी मिलेगी जिनके तीसरी संतान बालिका हो, किंतु योजना में आगे की किश्तों का लाभ उन्हें नहीं मिल पायेगा.

अब राजश्री योजना का लाभ लाभार्थी को सीधा अपने बैंक खाते में मिले, इसके लिए भामाशाह कार्ड से योजना को जोड़ा गया है.

नोट – अब राजश्री योजना का लाभ सुविधापूर्वक अपने खाते में प्राप्त करने के लिए भामाशाह कार्ड ज़रूर बनवायें|

योजना के बारे में ज़्यादा जानकारी के लिए अपने ज़िले में कार्यक्रम अधिकारी, महिला अधिकारिता या मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से सम्पर्क करें|

भामाशाह कार्ड की अनिवार्यता –  Rajasthan Mukhyamantri Rajshree Yojana

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए लाभार्थी का भामाशाह कार्ड होना अनिवार्य है|

15 मई, 2017 के बाद लाभार्थी का भामाशाह कार्ड होने पर भुगतान सीधे उसके बैंक खाते किया जा रहा है|

लाभ प्राप्त करने के लिए गर्भवती महिला प्रसव पूर्व जांच/एएनसी जांच के दौरान भामाशाह कार्ड एवं भामाशाह कार्ड से जुड़ा हुआ बैंक खाते का विवरण निकटतम आंगनबाड़ी केन्द्र पर ए.एन.एम./आशा/आंगनबाड़ी कार्यकर्ता अथवा राजकीय चिकित्सा संस्थान में उपलब्ध करवायें.

जिन लाभार्थी महिलाओं का भामाशाह नामांकन नहीं हुआ है, ऐसी महिलाएं अपने निकटतम ई-मित्र केन्द्र से भामाशाह कार्ड बनवाकर निकटतम आंगनबाड़ी केन्द्र अथवा राजकीय चिकित्सा संस्थान में विवरण उपलब्ध करवाये.

राजश्री योजना का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

वसुंधरा राजे की सरकार ने इस योजना का निर्माण बेटियों को आगे बढ़ने के लिए ही किया है| इसके अलावा भी इस योजना के और भी उदेश्य है आइये जानते हैं-

  1. बेटियों के जन्म को लेकर समाज में एक सकारात्मक सोच विकसित करना|
  2. बेटियों की देखभाल, विकास, शिक्षा और लालन-पालन सही ढंग से किया जा सके|
  3. बेटे और बेटियों के बिच समाज में लिंग भेद खत्म करना|
  4. कन्या भूण हत्या को समाज से निकाल फेकना|
  5. बेटियों को विद्यालय भेजने के लिए अभिभावक प्रोत्साहित हो|
  6. कम से कम 12 तक की शिक्षा हर बेटी को मिले|

दोस्तों यह थे कुछ मुख्य वजह इस योजना को शुरू करने के पीछे| आइये अब जानते हैं कि राजश्री योजना के लिए कौन-कौन से दस्तावेज की ज़रुरत पड़ती है ?

  • आधार कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • आवासीय प्रमाण
  • बेटी का जन्म प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट अकार में फोटो
  • बैंक खता विवरण (इससे राशि सीधे बैंक अकाउंट में ट्रान्सफर की जाती है)

दोस्तों अब आप सोच रहे होंगे, आप इस योजना के लिए अपील कैसे कर सकते हैं?

How To Apply For Mukhyamantri Rajshri Yojana in Hindi

#1. सरकारी अस्पतालों से संपर्क करना होगा|

#2. राजस्थान में जिला/तालुका से सम्बंधित स्वास्थ्य अधिकारी से संपर्क करना होगा|

#3. कलेक्टर कार्यालय, जिला परिषद् या ग्राम पंचायत से संपर्क करना होगा|

ऊपर दिए गये किसी भी जगह जा के या ऑफिसर से मिल के आप इस योजना के फायदे उठा सकते हैं|

अब मुख्यमंत्री राजश्री योजना से जुड़ा यह लेख मै यही पर समाप्त कर रही हूँ, आशा है आपको सभी बाते समझ में आ गई होंगी, और अगर नहीं आई है या किसी बात को ले कर कोई आशंका है तो कमेंट कर के आप पूछ सकते हैं.

अंत में मै बस आपसे इतना ही कहना चाहूँगा की दोस्तों अगर आपके जान पहचान में कोई गरीब परिवार है तो आप उनको इस योजना के बारे में पूरी जाकारी ज़रूर दे ताकि वो इसका लाभ ले सके और अपनी बेटी को पढ़ा लिखा सके.

अन्य योजनाएं ⇓

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Comment