भार और द्रव्यमान (Mass and Weight) में क्या अंतर होता है?

What is The Difference Between Mass and Weight in Hindi

नमस्कार दोस्तों…आज हम आपको “Mass और Weight” अर्थात द्रव्यमान और भार क्या है और द्रव्यमान और भार में क्या अंतर है के बारे में ध्यान पूर्वक पढ़ कर समझेंगे|

मास और वेट यह दोनों लगभग एक से ही शब्द है और अक्सर हम बोलते वक्त इनका प्रयोग कर लेते हैं, लेकिन शायद द्रव्यमान और भार के बीच का अंतर हममे से कुछ को ही ज्ञात होगा|

तो इस लेख के माध्यम से मैं उदाहरण के साथ आपको Mass or Weight Me Difference in Hindi में बताऊँगा, तो चलिये जानकारी प्राप्त करना शुरू करते हैं:-

सबसे पहले हम जानते हैं – द्रव्यमान क्या है ?

इसे भी पढ़े: What is The Difference Between Ram and Rom in Hindi

Mass Kya Hai – What is Mass in Hindi Definition

यदि हम इसे सरल भाषा में समझने का प्रयास करे तो मान लीजिए आपके पास एक बॉडी है उसमे आप कितना मैटर डिपॉजिट सकते हैं, या वो कितना मैटर कंटेन करता है|

अर्थात एक बॉडी में ज्यादा से ज्यादा जितना अमाउंट ऑफ मैटर हो सकता है, उसे हम उस बॉडी का मास कहते हैं|

अब शायद आपको मैटर शब्द का अर्थ यहाँ समझने में परेशानी हो रही होगी, तो चलिये पहले मैं आपको यह क्लियर कर देता हूँ|

अंतर जाने: Difference Between RTGS and NEFT and IMPS in Hindi

द्रव्यमान का अर्थ और परिभाषा क्या है ?

Science के Chemistry या Physics Subject में हम मैटर को Electron, Proton, और Neutron शब्द से समझते हैं, तो जब इन सभी का मास टोटल कलेक्ट हो जाता है तो उसे हम मास बोलते हैं|

यदि आप इसे इंग्लिश में डिफाइन करना चाहे तो, आप बोल सकते हैं:-

Mass is the amount of matter that a body contains.

Note : हर बॉडी का मास फिक्स्ड रहता है, इसलिए हम मैटर को फिक्स अमाउंट भी बोलते हैं|

चलिये अब उदाहरण की मदद से हम मास को और अच्छे से विख्यात में समझते हैं|

Must Read: Difference Between http and https in Hindi

Difference Between Mass and Weight with Example in Hindi

यहाँ मैं दो चीजों को कंपेयर कर के आपको इसका कांसेप्ट और अच्छे से समझाऊंगा|

चलिये सबसे पहले हम बस और कार का उदाहरण लेते हैं:-

Mass Meaning in Hindi

  1. दोस्तों बस का साइज कार से बड़ा होता है और इसी वजह से बस में अमाउंट ऑफ मैटर कार के मुकाबले ज्यादा होगा, इसलिए बस का मास भी कार के मास से ज्यादा ही होगा|
  2. चलिये एक और उदाहरण से द्रव्यमान का फार्मूला समझते हैं| एक क्रिकेट की बॉल का मैटर एक प्लास्टिक के बॉल से कई ज्यादा होगा, इसलिए क्रिकेट बॉल का मास भी प्लास्टिक बॉल से कई ज्यादा होगा|

तो दोस्तों, आपने सीखा कि किसी भी बॉडी में कितना मैटर एक्सिस्ट करता है, वो ही मास ऑफ बॉडी (mass of body) को भी बताएगा|

आशा है अब आपको मास क्या है अच्छे से क्लियर हो गया होगा, यदि अब भी आपको कोई डाउट है तो आप नीचे दिये गए कमेंट बॉक्स में कमेंट कर के अपना डाउट क्लियर कर सकते हैं|

चलिये अब हम आगे बढ़ते हैं, और समझते हैं दूसरे कांसेप्ट को जिसका नाम है Weight, तो चलिये समझते हैं भार क्या है ?

Also Read: Difference Between Growth and Development in Hindi

What is Weight in Hindi – Weight Kya Hai ?

एक बात है जिसे नोटिस करने के साथ-साथ समझना भी बहुत जरूरी है|

मान लीजिए हमारे पास एक बॉडी है जिसे हमे डिस्प्लेस (body displace) करना है अर्थात उसे उसकी जगह से हटाना है|

तो किसी भी बॉडी को उसकी जगह से हटाने के लिए हमे क्या करना होता है?

क्या आप जानते हैं, यदि आपका जवाब हाँ है तो बहुत ही अच्छी बात है| और यदि आपको इसका जवाब नहीं पता तो दोस्तों, टेंशन मत लीजिए क्यूंकि मैं आपको बताऊँगा इसका जवाब|

चलिये पहले हम सरल शब्दों में समझते हैं, मान लीजिए आपको अपने घर में रखी किताबों वाली मेज को उसकी जगह से हटा कर कही और नई जगह पर रखना है|

तो अब आप बताइये कि उस मेज को एक जगह से हटा कर दूसरी जगह रखने के लिए आप क्या करेंगे?

आप उसे अपनी ताकत से धक्का देंगे, और यदि सिर्फ आपसे वो नहीं हिलेगा तो आप अपने घर के किसी सदस्य की मदद लेकर उस मेज को हटाने की कोशिश करेंगे|

अब इस प्रक्रिया में आपने जो ताकत लगाई है उसे physics के भाषा में फोर्स कहा जाता है|

किसी भी वस्तु का आप उसे उसकी जगह से हटाने के लिए उस वस्तु के मास जितना ही फोर्स यानि ताकत लगाएंगे, तब जाकर वो समान अपनी जगह से हटेगा|

ठीक इसी तरह यदि हम किसी भी वस्तु को हवा में छोरते हैं तो यकीनन ही वो जमीन पर आकर गिर जाता है|

इससे हम क्या समझेंगे? कि जमीन में भी कोई फोर्स है जो हर समान को अपनी ओर खिचती है, तो जमीन यानि पृथ्वी भी अपना फोर्स लगाती है जिसको कि gravitational force of gravity कहा जाता है|

अब यदि आप साइंस के स्टूडेंट हैं तो यकीनन ही आप फोर्स का फार्मूला को अच्छे से समझ पा रहे होंगे|

इसे भी पढ़े: Difference Between 4G LTE and Volte in Hindi

What is The Formula For Force of Gravity in Hindi
F = mg (m = mass of an object, g = gravitational force or gravity)

अब यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है कि जब भी हम किसी समान या फिर खूद का वजन नापते हैं तो उसे हम किलोग्राम या ग्राम में बताते हैं, जो कि बिलकुल ही गलत है| क्यूंकि जब Earth अपना Force लगा कर किसी ऑब्जेक्ट को अपनी ओर खिचती है तो वहाँ पर Centre of gravity नामक फोर्स अप्लाई किया जाता है|

अब मान लीजिये एक बॉडी है जिसका मास है “m” और पृथ्वी जब उसे अपनी ओर खिचेगी तो उसे हम force of gravity बोलेंगे और इसे F g से लिखा जाता है|

तो अब हम बोल सकते है कि वेट एक तरह का फोर्स ऑफ ग्रेविटी है, अर्थात वेट कही न कही वो फोर्स है जो पृथ्वी लगाती है ऑब्जेक्ट को अपनी ओर खिचने के लिए|

तो अब चलिये हम वेट को इंग्लिश में डिफ़ाइन करते हैं–

The force that pull an object towards downwards is known as weight.

अब यदि आपको किसी चीज का भार निकालना हो, अर्थात वेट निकालना हो तो वो कैसे निकलेगा?

Newton के Second law of Motion के अनुसार, जिसमे उन्होंने कहा कि जब भी हम किसी ऑब्जेक्ट पर फोर्स लगाते हैं तो वो ऑब्जेक्ट accelerate करती है|

F = ma (m = mass of body that is fixed, a = acceleration)

अब यहाँ फॉर्मूला के अनुसार जब हम ऑब्जेक्ट का मास फ़िक्स्ड कर देंगे तो उसके बाद जितना फोर्स लगाया जाएगा बॉडी उतना ज्यादा acceleration देगी|

ठीक इसी तरह से पृथ्वी का कान्सैप्ट भी है, कोई भी ऑब्जेक्ट है, सेंटर ऑफ ग्रेविटी से जिसमे हम acceleration due to gravity भी बोलते हैं|

अब उस ऑब्जेक्ट पर कितना फोर्स अप्लाई किया जाएगा, जितना कि उस बॉडी का मास होगा| यदि हम भारी शरीर लेंगे तो बॉडी बहुत तेजी से नीचे कि और accelerate करेगी और यदि हल्की लेंगे तो इसका उल्टा होगा|

तो अब आपके लिए यह जानना जरूरी है कि फोर्स की यूनिट क्या होती है (What is the unit of force), जिससे कि इसको मापा जा सके – Newton इसका सही जवाब है|

अब यदि आपको किसी बॉडी का वेट निकालना है तो आप क्या करेंगे? इसके लिए एक फॉर्मूला है, और वो है-

Gravitational definition – Mass and Weight Difference in Hindi
W = mg (m = mass of an object or body, g = gravity)

दोस्तों, ग्रेविटी का अमाउंट फिक्स्ड है जो कि 9.8 है| यह तो हमने बात कर ली पृथ्वी पर किसी बॉडी का वेट निकालने के बारे में|

अब यदि हम मून पर चले जाये और वहाँ पर जा कर acceleration due to gravity यानि “g” खोजे तो, वहाँ कि वैल्यू पृथ्वी के वैल्यू से अलग है और वो है 1.6.

तो अब जब आपको यह ज्ञात हो गाया है कि पृथ्वी पर और मून पर gravity की वैल्यू अलग है तो यदि कोई आपसे यह पूछे कि मून पर वजन क्यों कम होता है तो आप जवाब दे सकते हैं कि ऐसा होने के पीछे acceleration due to gravity के वैल्यू में फर्क होना ही है|

तो इसी के साथ भार और द्रव्यमान में क्या अंतर होता है का यह कांसेप्ट यही पर समाप्त हो रहा है, आइये अब एक टेबल के फॉर्म में हम इन दोनों के बीच का फर्क एक बार दुबारा से समझ लेते हैं|

पढ़ना न भूलें: Difference Between C and C++ in Hindi

8 Difference Between Mass and Weight in Hindi Language – द्रव्यमान और भार में क्या अंतर है ?
Mass (द्रव्यमान)Weight (भार)
Unit – Kilogram / GramUnit – Newton
द्रव्यमान को अंग्रेजी में Mass कहा जाता है|
भार को अंग्रेजी में Weight कहा जाता है|
यह हर जगह एक समान ही रहता है, अर्थात मास एक फ़िक्स्ड वैल्यू है|
वेट हर जगह एक समान नहीं रेहता है, यह पूरी तरह से ग्राविटि पर निर्भर है|
मास कभी भी ज़ीरो नहीं हो सकता है|
यदि ग्राविटि नहीं है तो वेट जीरो हो जाएगा|
मास लोकेशन के अनुसार बढ़ता या घटता नहीं है|
हर जगह की ग्रेविटी अलग होने के कारण वेट घट एवं बढ़ सकता है|
मास के Scalar Quantity है|वेट एक Vector Quantity है|
मास को आप वजन करने वाले मशीन के बिना भी देख कर आंक सकते हैं|
वेट नापने के लिए स्प्रिंग बैलेंस का इस्तेमाल किया जाता है|
द्रव्यमान को किलोग्राम में मापते हैं|भार को Newtons में मापते है|

तो दोस्तों, शायद अब आपको “Difference Between Mass and Weight in Hindi” का कांसेप्ट अच्छे से समझ आ गया होगा, यदि कोई डाउट हो तो आप कमेंट या मेल के माध्यम से अपना डाउट क्लियर कर सकते हैं|

इसी के साथ अब मैं इस लेख का यही पर अंत कर रहा हूँ, आशा है आपको यह लेख अच्छा लगा होगा और इसके माध्यम से आपके ज्ञान के भंडार में बढ़ोतरी भी जरूर हुई होगी|

द्रव्यमान और भार में क्या अंतर है की जानकारी को आपने अंत तक पढ़ा एवं समझा उसके लिए मैं आपका धन्यवाद करता हूँ, अंत में मैं आपसे गुजारिश करना चाहूँगा कि आप इस लेख को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर करना भूलें|

Must Read :

Difference Between Mass and Weight
भार और द्रव्यमान (Mass and Weight) में क्या अंतर होता है?

द्रव्यमान को अंग्रेजी में Mass कहा जाता है|, भार को अंग्रेजी में Weight कहा जाता है|

Editor's Rating:
5
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Comment