Children's Day

प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जीवन परिचय

प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू का जीवन परिचय
Written by Himanshu Grewal

दोस्तों आज इस आर्टिकल के माध्यम से में आपको पंडित जवाहरलाल नेहरू के बारे में बताने जा रहा हूँ. इस आर्टिकल मैं, में आपको पं. जवाहर लाल नेहरू की जीवनी के बारे में बताऊंगा की उनका जन्म कब और कहा हुआ, उनके माता पिता के क्या नाम थे और उन्होंने हमारे भारत देश के लिए क्या किया.

दोस्तों और प्यारे बच्चो वैसे आप सभी को यह तो पता ही होगा की नेहरु जी हमारे देश के प्रथम (पहले) प्रधानमंत्री थे और उन्होंने महात्मा गांधी जी के साथ मिलकर हमारे भारत देश को स्वतंत्रता दिलाने में काफी आन्दोलन में भाग लिया.

आज हम जो इतने अच्छे से जी पा रहे है उसकी वजह गांधीजी और नेहरु जी है क्योंकि इन्होने ही हमारे देश को अंग्रेजी से आजादी दिलाने में अपना पूरा जीवन व्यतीत कर दिया. तो हम सभी को नेहरु जी को धन्यवाद जरुर देना चाहिए.

में पहले से ही पंडित जवाहरलाल नेहरू पर निबंध लिख चूका हूँ. अगर आपको वो निबंध पढना है तो आप इस वाले आर्टिकल को पड़े.

Information about Jawaharlal Nehru in hindi

  • पूरा नाम : पण्डित ज्वाहरलाल नेहरु
  • जन्म : 14 नवम्बर, 1889
  • जन्म स्थान : इलाहबाद
  • मृत्यु : 27 May, 1964 (नई दिल्ली)
  • पत्नी : कमला नेहरु
  • पिता का नाम : श्री मोतीलाल नेहरु
  • माता का नाम : स्वरूप रानी

पंडित जवाहरलाल नेहरू का इतिहास

पंडित जवाहरलाल नेहरू का इतिहास | Jawaharlal Nehru biography in hindi

देश की स्वतंत्रता के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर देने वालों में पंडित जवाहरलाल नेहरू का नाम अग्रणीय है. जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवम्बर, 1889 ई को इलाहाबाद के एक अत्यन्त सम्पनं परिवार में हुआ था.

ज्वाहरलाल नेहरु की माता का नाम स्वरूप रानी था और उनके पिता का नाम श्री मोती लाल नेहरु था. जवाहरलाल नेहरु के पिता एक बहुत अच्छे वकील थे.

बाद में pandit jawaharlal nehru के पिता सब कुछ छोड़कर स्वतंत्रता आन्दोलन में कूद पड़े और पिता, पुत्र दोनों देश को स्वतंत्र करवाने के लिए कटिबद्ध हो गये.

जब नेहरु इंग्लैंड से भारत आये उस समय गाँधी जी के नेतृत्व में स्वतंत्रता के लिए आन्दोलन चल रहा था. वे अपना सब कुछ छोड़कर आजादी के आन्दोलन में कूद पड़े थे.

उनके प्रबल प्रयासों से आन्दोलन को बहुत बन मिला. उन्हें कई बार जेल की यातनाएँ भी सहनी पड़ी | फलत: देश स्वतंत्र हो गया.

देश स्वतंत्र होने के बाद नेहरु जी को भारत का प्रधान मंत्री चुना गया. उस समय देश के सामने बहुत समस्याएँ थीं. नेहरु जी ने बड़ी कुशलता से देश का शाशन चलाया. कई प्रकार की योजनाओं से देश को उन्नति के रास्ते पर खड़ा कर दिया. उसके बाद वे अंत तक भारत के प्रधानमंत्री बने रहे.

नेहरु जी को आधुनिक भारत का निर्माता माना जाता है. क्योंकि आज भारत जो भी है, वह सब नेहरु जी की देन है. 27 मई 1994 को नेहरु जी का आकस्मिक निधन हो गया. आज नेहरु जी को सारा देश बहुत याद करता है.

आज नेहरु जी हम सब के बीच नही है पर फिर भी पंडित जवाहरलाल नेहरू के अनमोल विचार आज भी हम सब के अन्दर जीवित है. यहा पर मैंने जवाहरलाल नेहरू के 3 बेस्ट अनमोल विचार शेयर करे है जो इस प्रकार है:-

Jawaharlal Nehru Quotes in Hindi

Quotes1. एक नेता या कर्मठ व्यक्ति संकट के समय लगभग हमेशा ही अवचेतन रूप में कार्य करता है और फिर अपने किये गए कार्यों के लिए तर्क सोचता है.

Jawaharlal Nehru Quotes in Hindi for students

Quotes 2. वफादार और कुशल महान कारण के लिए कार्य करते हैं, भले ही उन्हें तुरंत पहचान ना मिले, अंततः उसका फल मिलता है.

Jawaharlal nehru quotes on children's day in hindi

Quotes 3. एक ऐसा क्षण जो इतिहास में बहुत ही कम आता है , जब हम पुराने के छोड़ नए की तरफ जाते हैं , जब एक युग का अंत होता है , और जब वर्षों से शोषित एक देश की आत्मा , अपनी बात कह सकती है.

Jawaharlal nehru quotes on freedom in hindi

नेहरूजी बच्चो से बहुत प्यार करते थे इसलिए सभी बच्चे इनको प्यार से चाचा नेहरु कहकर पुकारते थे. यह बच्चो से इतना प्यार करते थे की उन्ही के जन्मदिवस के दिन भारत देश में बच्चो के लिए बाल दिवस का त्योहार मनाया जाता है जिसको इंग्लिश में children’s day बोलते है.

हर देश में चिल्ड्रेन्स डे अलग-अलग दिन मनाया जाता है पर भारत में चिल्ड्रेन्स डे (बाल दिवस) चाचा नेहरु के जन्मदिन के दिन 14 नवम्बर को मनाया जाता है. दुसरे देशों में childrens day कब मनाया जाता है वो जानने के लिए आप यह वाला आर्टिकल पड़े.

में पहले से ही बाल दिवस और चाचा नेहरु पर निबंध लिख चूका हूँ. अगर आपको बाल दिवस का आर्टिकल पढना है तो आप नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करके पड़ सकते हो.

दोस्तों और प्यारे बच्चो मैंने पंडित जवाहरलाल नेहरू information सारी आपको बता दी है. आपको यह आर्टिकल कैसा लगा या फिर आप चाचा नेहरु जी को धन्यवाद देना चाहते हो तो प्लीज नीचे दिए गये कमेंट बॉक्स में जाकर हमको जरुर बताए और इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर भी शेयर जरुर करे.

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

5 Comments

Leave a Comment