Holi

Holi Essay in Hindi (रंगों का त्योहार) होली पर निबंध

Holi essay in hindi language for class 5, 7, 10
Written by Himanshu Grewal
Subscribe to our YouTube Channel 👉
👈

नमस्ते मैरे प्यारे दोस्तों! Holi essay in hindi के इस आर्टिकल में HimanshuGrewal.com की तरफ़ से आप सभी भारत देश वासियों को होली की शुभकामनाएँ.

आज में आपको होली पर्व के बारे में बताऊंगा, आज में आपको बताऊंगा की होली क्यों मनाई जाती है (Why we celebrate Holi in hindi) साथ-ही-साथ आपको यह भी बताऊंगा की 2017 में होली कब है.

Holi 2017 date : Monday, March 13 (मंडे, 13 मार्च के दिन)

मेरा प्रिय त्योहार होली रंगो का त्यौहार है. सभी बच्चे और बड़े एक दूसरे के घर जाकर गले लगकर और उनके गाल पर गुलाल लगाकर होली की बधाई देते है.

इस फेस्टिवल के बारे में जितना बोलू उतना कब है. तो आईये दोस्तों Very short essay on holi in hindi 100 words का यह निबंध पढना शुरू करते हैं.

Very short essay on holi in hindi 100 words

Holi essay in hindi language for class 5, 7, 10

Holi festival हिन्दुओ का एक लोकप्रिय त्यौहार है. यह बहुत ही मनोरंजक त्यौहार हैं. एक दूसरे पर रंग डालने व अपने साथी के चेहरे को रंगीन बना देने में कितना आनन्द आता है.

होली का त्यौहार बच्चो के लिए बड़ी ख़ुशी व मोज-मस्ती का त्यौहार हैं, रंग खेलने के एक दिन पहले होलिका जलायी जाती हैं.

होली फेस्टिवल फाल्गुन (मार्च) की पूर्णिमा के दिन मनाया जाता है. इस दिन शाम को किसी चोराहे पर लकड़ी आदि एकत्रित करके जलाते हैं.

इस दिन गाँव के किसान अपनी फसल के नये दाने अग्नि को चढ़ाते हैं. होलिका की अग्नि में नये अन्न चढ़ाने के बाद ही किसान नया अन्न खाना शुरू करता हैं.

दूसरे दिन रंग खेला जाता है. यधपि रंग के कई दिन पहले से ही लोग होली गीत (होली के गाने) व खेलना शुरू कर देते हैं लेकिन रंग के दिन प्रातःकाल से लोग रंग के साथ खेलना शुरू कर देते है.

लोग एक दूसरे पर अबीर गुलाल लगते हैं, रंग छिडकते हैं और गले मिलकर होली ki badhai देते हैं.

बच्चे अपने दोस्तों को रंग से भर देने की ताक में रहते हैं. मोका मिलते ही वह अपने दोस्तों को रंग से सराबोर कर देते हैं. फिर सब ख़ुशी के मारे उछल पड़ते हैं और हँसते हैं.

होली से जुड़ी कुछ जरूरी बात

होली मेल व एकता का पर्व हैं. यह सबके साथ प्रेम से खेलने के लिए हैं इसलिए इस मोके पर किसी पर कीचड़ आदि गलत चीजे नहीं डालनी चाहिए. केवल प्यार व प्रेम से रंग खेलना चाहिए.

अन्य आर्टिकल

दोस्तों और प्यारे बच्चो holi essay in hindi यह यह आर्टिकल अब यही पर खत्म हुआ. अगर आपको इस आर्टिकल में कुछ गलतियाँ दिखे या फिर आप इस आर्टिकल के प्रति कुछ कहना चाहते हो तो आप कमेंट करके अपने विचार प्रकट कर सकते हो.

आपसे निवेदन है की अगर आपको यह होली निबंध पसन्द आया तो इसको आप सोशल मीडिया जैसे की फेसबुक, ट्विटर, गूगल प्लस और व्हात्सप्प पर शेयर जरुर करें. आपको और आपके परिवार वालो को होली की ढ़ेरो शुभकामनाएँ. 🙂

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमें आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

7 Comments

Leave a Comment