डिजिटल मार्केटिंग

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स (दूसरा चैप्टर) – The Various Modules in Digital Marketing in Hindi

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स हिंदी में
Written by Himanshu Grewal

आपको ये जानते हुए बहुत ही हैरानी होगी की जब से भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी बने है तब से बहुत से बदलाव देखने को मिले है| जैसे नोट बंदी, नए नोटों का संचालन होना.

नोट बंदी जैसा बुरा हाल तो आपने कभी नहीं देखा होगा लेकिन नोटबंदी काले धन को बाहर लाने के लिए किया गया था| आपको बता दूँ की नरेन्द्र मोदी जी ने हमारे ही फायदे के लिए इतना कुछ किया है.

उसी तरह नरेन्द्र मोदी जी ने डिजिटल इंडिया का नाम भी लिया है और तब से हमे “डिजिटल इंडिया” शब्द काफी ज्यादा सुनने को मिल रहा है.

शब्द तो हम सुन रहे और उसको बोलते भी हैं लेकिन क्या आपको उसके बारे में पता है ?

मेरा मतलब है कि क्या आपको डिजिटल इंडिया शब्द का मतलब पता है या फिर आपको ये पता है की डिजिटल इंडिया मार्किट में क्या रोल प्ले कर रहा है ?

अगर आपको नहीं पता तो कोई बात नहीं ये मेरा काम है की आपको सभी प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराना| चलिए अभी भी देर नहीं हुई है वो कहते है न “जब जागो तभी सवेरा”|

डिजिटल मार्केटिंग का अर्थ क्या है – What is Digital Marketing in Hindi

What is Digital Marketing in Hindi

एक व्यक्ति को किसी वस्तु का विक्रय करना है तो वो उसे सीधे रूप से भी विक्रय कर सकता है और या फिर किसी और व्यक्ति के साहारे भी बेच सकता है| लेकिन इसमे फिर भी उसकी बिक्री एक सीमा में होगी जिसकी एक सीमा तय होगी.

डिजिटल मार्केटिंग में आप सीधे लाखों करोड़ों व्यक्तियों के सामने अपने वस्तु को विक्रय कर सकते हैं| डिजिटल मार्केटिंग के जरिये कोई भी व्यक्ति अपनी वस्तु या सेवा को और भी ज्यादा मात्र में बड़ा सकता है.

पहले वो एक ही जगह रह कर उसी क्षेत्र के लोगों को अपनी सेवा देता था अब वहीं सेवा और देशों में दे सकता है ओर इससे उसका काम और भी तेजी से बढ़ जाता है.

डिजिटल में आप डायरेक्ट साइट बना कर और किसी और साइट पर जा कर अपने उत्पाद को बेच सकते हो, आपकी मार्केटिंग पूरी तरह से डिजिटल हो जाएगी जिस व्यक्ति को आपका सामान खरीदना होगा वो कहीं पर भी बैठ कर खरीद सकता है| ये बहुत ही अच्छा माध्यम है आपके व्यवसाय को बढ़ाने के लिए.

नोट : मैंने आपके लिए डिजिटल मार्किट के ऊपर पहले से ही लेख लिखा हुआ है, आप नीचे दिए हुए लिंक को ओपन कर के उस लेख को पढ़ सकते हो और डिजिटल मार्किट की शुरूआती जानकारी प्राप्त कर सकते हो.

सबसे पहले नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करके डिजिटल मार्केटिंग के बारे में जाने उसके बाद इस लेख को अंत तक पढ़े. ⇓

» पहला चैप्टर – डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?

चलिए अब जब आपने डिजिटल मार्केटिंग के लेख को अच्छी तरीके से पढ़ लिया है तो अब आपको अगले चैप्टर की और चलना है जिसका शीर्षक है ⇒ Various Modules in Digital Marketing in Hindi

ऊपर जो आपने लेख पढ़ा उसमे आपको ये तो क्लियर हो गया होगा की डिजिटल मार्केटिंग कोई छोटी चीज़ नहीं है और ना ही इसके एक हिस्सा या एक पहलु है| चलिए हम डिजिटल मार्केटिंग के ख़ास हिस्सों पर एक नज़र डालते हैं.

डिजिटल मार्केटिंग कितनी प्रकार की होती है – How Many Types Of Digital Marketing in Hindi

How Many Types Of Digital Marketing in Hindi

  1. Search Engine Optimization
  2. Search Engine Marketing
  3. Social Media Marketing
  4. Email Marketing
  5. Inbound Marketing
  6. Web Analytics & Reporting
  7. Mobile Marketing

तो ये हैं कुछ मुख्य भाग डिजिटल मार्केटिंग के, अगर आप बाजार में जा के डिजिटल मार्केटिंग का कोर्स करना चाहोगे तो आपको ये सभी सिखाया जायेगा ताकि आप एक अच्छे मार्केटर बन सको.

इन सभी चीजों को पढने के बाद आप किसी भी एक चीज़ में और ज्यादा डिग्री लोगे, मेरा मतलब है की मान लीजिये आपका कोर्स कम्पलीट हो गया अब आपकी एक चीज़ में तो ज्यादा जानकारी होगी ही|

मान लेते हैं की आपको Search Engine Optimization की अच्छी जानकारी है तो आप उसको और अच्छे से सीख के अपना करियर उसमे बना सकते हो.

यह बात तो बिलकुल सत्य है कि हर चीज़ बराबर नहीं होती है, जैसे की हमारे हाथ की पाचो उंगलियो को ही देख लीजिये| ठीक इसी तरह से डिजिटल मार्केटिंग के हिस्से तो बहुत है लेकिन सब एक तरह समान नहीं है और ना ही इसमें आप एक बराबर में ही सक्सेसफुल हो जाएंगे.

लेकिन दोस्तों उंगलिया को एक चीज़ ने बंधा हुआ है जिसको की हाथ बोलते हैं और उसी वजह से हमारी चार उंगलिया और एक अंगूठा आपस में जुड़ा हुआ है|

उसी प्रकार से डिजिटल मार्केटिंग के हिस्से तो अलग-अलग है लेकिन सब आपस में जुड़े हुए हैं| चलिए एक उदाहरण से समझे हैं-

Digital Marketing Examples in Hindi – Explain Digital Marketing in Hindi

सर्च इंजन की मदद से आपको अच्छा ट्रैफिक मिलता है, जो की देखा जाये तो एक तरह से Followers का काम तो करता ही है साथ ही में आपको आपकी साईट के लिए एक ईमेल सब्सक्राइबर भी मिल जाता है|

इस उदहारण की मदद से हमे ये तो समझ में आ गया की डिजिटल मार्केटिंग के हिस्से आपस में जुड़े हुए हैं और इससे हमे काफी फायदा भी होता है|

अब आप ये तो नहीं सोच रहे हैं ना की डिजिटल मार्केटिंग के हिस्से बस इतने ही है, अगर आप ऐसा सोच रहे हैं तो आप गलत है| क्यूंकि यह आपस में जुड़े ज़रूर है लेकिन इसका कोई भी अंत नहीं है.

चलिए अब मै आपको थोडा डिटेल में समझाता हूँ एक पिक्चर की मदद से-

Digital Marketing Course in Hindi – Learn Digital Marketing In Hindi Tutorials Online

एकीकृत डिजिटल मार्केटिंग प्रक्रिया का प्रवाह – Integrated Digital Marketing Process Flow.

ये प्रक्रिया आपको अच्छे से समझ आ जाएगी| यदि आप इस चित्र के माध्यम से देखेंगे और इस चित्र से और इसके सभी भागों को अच्छे से समझाया गया है.

इस चित्र में आपको अच्छे से समझ आ जाएगा की हम कहना क्या चाहते हैं ? “क्वालिटी कंटेंट”.

सबसे पहले मै आपको बता दूँ की आपके ब्लॉग में आपके कंटेंट में क्वालिटी होनी चाहिए| आपके क्वालिटी कंटेंट के जरिये आपकी साइट पर ट्रेफिक आयेगा| गूगल क्वालिटी कंटेंट को देखता है| जिसके कंटैंट लेख में क्वालिटी होती है उसकी मांग ज्यादा होती है और गूगल उसको ज्यादा से ज्यादा प्रमोट करता है.

गूगल आपकी क्वालिटी देख कर आपको आगे बढ़ता है| यदि किसी भी प्रकार की अश्लीलता आपकी साइट में मिलती है तो गूगल आपकी साइट को ब्लॉक कर देता है.

प्रचार – Ads

एक अच्छे ब्लॉग में यही बात होती है की वो जल्दी रैंक कर सकता है और गूगल हमें प्रचार देता है जिसके चलते हमें रुपए कमाने का मौका मिलता है इतना की आप सोच नही सकते|

गूगल को बड़ी बड़ी कंपनी और गूगल खुद अपने प्रचार करता है जिस पर वो हमें प्रत्येक क्लिक पर पैसे देते हैं.

ईमेल सूची – Email List

आपके कंटेंट में क्वालिटी होगी तो आपकी साइट से लोग जुडने की कोशिश करेंगे जिससे वो अपना ईमेल आई डी आपको देंगे|

ईमेल आईडी का एक बहुत बड़ा कलेक्शन आपके पास हो जाएगा| एक ईमेल लिस्ट तैयार हो जाएगी जिससे आप ईमेल मार्केटिंग भी कर सकते है| ईमेल मार्केटिंग क्या होती है ? इसके बारे में मेरे दूसरे लेख में आपको मिल जाएगा.

सर्च इंजन – Search Engine

सर्च इंजन क्या है :- Search Engine Internet पर उपलब्द Web Based Tool को कहते है जो की यूजर को Required Information सर्च करने के काम में आता है.

सर्च इंजन एक Software Program or Script है जो की यूजर को Specific Keyword के Base पर इन्टरनेट पर मौजूद वेबसाइट से रिजल्ट ढूंढने मे मदद करता है.

जब भी कोई इन्टरनेट यूजर किसी भी सर्च इंजन पर कोई कीवर्ड सर्च करते है तो सर्च इंजन के बेस पर उन कीवर्ड को अपने Database मे एवं इन्टरनेट पर सर्च करते है और जो भी रिजल्ट कीवर्ड से मैच करते है उनको लिस्ट कर देते है.

इस समय इन्टरनेट पर हज़ारो सर्च इंजन उपलब्द है जिनके अपने अपने फीचर एवं Attribute है|

सर्च इंजन अपने डेटाबेस को बढ़ाने के लिए एवं अवेलेबल वेबसाइट को चेक करने के लिए कुछ Automated Programs को इस्तेमाल करता है जिनको की Robots, Spiders और Bots कहते है|

ये Automated Program समय समय पर वेबसाइट को चेक करते रहते है एवं उन पर मौजूद Contents, Web pages और Links को फॉलो करते रहते है|

Most Popular सर्च इंजन : Google, Yahoo, Bing है.

सामाजिक माध्यम – Social Media

आपके लेख को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने के माध्यम ही सामाजिक माध्यम कहलता है|

मैं आपको बता दूँ की अगर आपको अपने लेख को ऊपर तक ले जाना है तो आपको सामाजिक माध्यम का सहारा लेना ही होगा|

सामाजिक माध्यम से आप अपने लेख को शेयर कर सकते है जिसके कोई चार्ज नहीं होते लेकिन किसी किसी जगह पर आपको इसके पैसे भी देने पड़ सकते हैं.

सामाजिक मध्यम जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप्प, इस्टाग्राम इत्यादि|

किसी सेवा या वस्तु का विक्रय (Sales) किसी वस्तु या सेवा का विक्रय होता है तभी हमें कुछ मिलता है जैसे की किसी व्यवसायी ने अपने उत्पाद का प्रचार किसी साइट पर दे रखा है तो उस प्रचार के जरिये ही साइट का मालिक पैसे कमाता है| बिना किसी प्रचार के उसको कमाई नहीं होती है.

आज के क्षेत्र में बिक्री सबसे ज्यादा महत्व रखती है| जब किसी वस्तु की बिक्री होगी तभी उस पर आपको पैसे मिलेंगे| और आज के दौर में लोग सामाजिक माध्यमों से जुड़ कर अपने काम को और तेजी से कर रहे है.

किसी को भनक तक नहीं होती है की कोन कितना बिक्री कर सकता है|

चलिए थोडी और व्याख्या करते हैं डिजिटल मार्केटिंग की और इसके हिस्सों के बारे में जानते हैं-

Information About Digital Marketing in Hindi – डिजिटल मार्केटिंग क्या है ?
  1. Conversion Rate Optimization
  2. Web Usability and Experience
  3. Behavioral Communication
  4. Lead Scoring and sales Prediction
  5. Inside Sales

मै आपको बताना चाहूँगा की भले ही आपने नरेन्द्र मोदी जी के आने के बाद डिजिटल इंडिया के कांसेप्ट के बारे में जाना है और सुना है और अब और जानना चाह रहे हैं, लेकिन असल में ये बहुत ही पुराना कांसेप्ट है जिसके बहुत ज्यादा हिस्से हैं.

जैसे-जैसे हमे चीजों की जानकारी की ज़रुरत पड़ेगी, वैसे-वैसे हम और चीज़े जान लेंगे| यह बिलकुल भी पॉसिबल नहीं है की आप सारे पार्ट्स को पढ़े और हमेशा उनको अपने दिमाग में रखे|

आपको सभी चीज़े समझ में आ जाये और हमेशा याद रहे इसके लिए आपको एक काम करना होगा और वो काम है की आपको अपने दिमाग में एक गोल सेट करना होगा.

मेरा मतलब है की जब तक हम गलतिया नहीं करते हैं तब तक हम सीखते नहीं है और तब तक फिर हमे चीज़े याद भी नहीं होती है| तो चलिए जानते है इस नए तरीके को-

डिजिटल मार्केटिंग कोर्स हिंदी में ⇓

आप जीस चीज़ को अच्छे तरीके से सीखना चाहते हो, उसमे आपको पहले पड़ाव से ले के आखरी पड़ाव तक की अच्छी प्लानिंग से काम करना सीखना होगा|

चलिए एक उदाहरण की मदद से समझते हैं–

मान लीजिये आपको SEO एक्सपर्ट बनना है तो उसके लिए आपको इन स्टेप्स को ध्यान में रखना होगा–

  1. आपकी साईट पर रोजाना अच्छा ट्रैफिक आये| (ट्रैफिक दो तरह के होते हैं| एक होता है फ्री ट्रैफिक और दूसरा पेड ट्रैफिक, जिसमे आप कुछ पैसे देके अपनी साईट के लिए ट्रैफिक लेते हैं)
  2. अब जब ट्रैफिक आने लग जाये तो अब आपको उनको लीड्स में बदलना है मतलब की आपकी साईट से वो अपना ईमेल आईडी या कोई डाटा कनेक्ट कर दे|
  3. अब उन लीड्स को आपको कस्टमर में परिवर्तित करना है| इसमें आपको ईमेल मार्केटिंग की मदद से मदद मिल सकती है|
  4. अब आपको उन कस्टमर को रेगुलर कस्टमर में परिवर्तन करना है और फिर उनको फैनस में बदलना है|

तो कुछ इस तरह कि प्लानिंग से आप डिजिटल मार्केटिंग में सक्सेसफुल हो सकते हैं| रास्ता आप बदल सकते हैं लेकिन दोस्तों मंजिल तो एक ही होगी ना|

Note – मै आपको बता दूं की ये प्लानिंग सिर्फ डिजिटल मार्केटिंग के लिए नहीं है आप कोई भी बिज़नस करे यह प्लानिंग हर जगह काम करेगी|

चलिए डिजिटल मार्केटिंग के कंपोनेंट्स का आर्टिकल तो अब यही पर समाप्त हो रहा है, लेकिन मुझे पता है की अब आपके दिमाग में एक प्रशन आ रहा होगा और वो है की शुरुआत कहा से की जाये ?

काफी ऐसे लोग है जो मार्किट में जा के नई चीज़े सीखते हैं, लेकिन फिर पुराना सब भूलते जाते हैं, और यह एक बहुत बड़ी समस्या है|

डिजिटल मार्केटिंग का कड़वा सच => कंपनी आपको आपके नॉलेज के हिसाब से नहीं चुनती है वो चुनती है आपके वर्क एक्स्प्रिएंस और रिजल्ट्स को ध्यान में रखते हुए| क्यूंकि अगर किसी को नॉलेज ही लेनी होगी तो वो विकिपीडिया और गूगल पर असानी से सर्च कर सकते हैं.

इस लेख से आपको अच्छी जानकारी प्राप्त हो ही गयी होगी तो बेफिकर रहिए अब आप भी कुछ ही दिनों में विशेषज्ञ बनने वाले हैं| बशर्ते आपको इसके लिए मेहनत करनी पड़ेगी आपको पता नहीं है की डिजिटल मार्केटिंग के क्षेत्र में आने वाला कुछ ही दिनों में अपनी मेहनत और सही निर्णय से अमीर बन जाता है.

अगर आपको मेरी राय अच्छी लगी तो आप कमेंट कर के मुझे बताये मै ज़ल्द ही आपके लिए वेबसाइट की शुरुआत कैसे करे पर भी लेख लिखूंगा|

आशा है इस लेख में आपको डिजिटल मार्केटिंग से जुड़ी सभी रोचक जानकारी मिली होगी, आप चाहे तो Digital Marketing in Hindi के लिए को अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया से शेयर कर सकते हैं.

दोस्तों देखो अगर आपको लेख अच्छा लगा या फिर नहीं लगा जरूर बताना| डिजिटल मार्केटिंग एक ऐसा क्षेत्र है जहां व्यक्ति किसी न किसी प्रकार से पैसे कमा सकता है|

अपने मित्रों आदि में ये आर्टिकल शेयर कर सकते है ओर कोई नया विषय हो तो जरूर बताना जल्द से जल्द आपके लिए लेकर आएंगे| “धन्यवाद”

जरुर पढ़े ⇓

About the author

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

1 Comment

Leave a Comment