डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना क्या है ? – सम्पूर्ण जानकारी

नमस्कार, हर बार की तरह इस बार भी मैं आपके सामने एक नई जानकारी लेकर आया हूँ जिसका नाम है “डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना” इस यात्रा के तहत बहुत से बदलाव किए गए हैं और बहुत से फायदे हैं जिनकी विस्तार में व्याख्या की गई है.

आपको डिजी यात्रा योजना से होने वाले फायदे के बारे में संपूर्ण जानकारी मिलेगी| आपको यह लेख पूरा पढ़ना होगा जब आप पूरा लेख पढ़ ले तो कृपया करके कमेंट में हमें जरूर बताएं कि आपको यह जानकारी पढ़कर कैसा लगा.

डिजी यात्रा योजना बहुत ही सुलभ यात्रा है इसमें बहुत सी होने वाली परेशानियों को खत्म किया गया है| अब आपको केवल कुछ दस्तावेजों को एक बार जानकारी देने के बाद दोबारा नहीं देना होगा और बाकी किसी भी कठोर परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा.

पहले क्या होता था कि लोग अपने टिकट चेकिंग डाक्यूमेंट्स इत्यादि से रूबरू होना पड़ता था लेकिन अब ऐसा नहीं होगा|

लोगों के आरामदायक यात्रा के लिए परिवहन प्रणाली में आधुनिकीकरण और तकनीकी प्रगति के कई तरीकों में बदलाव किया है| उड़ान की टिकट की कीमतों में कमी की गयी है.

आज के समय में बहुत से लोग किसी भी एयरलाइन्स द्वारा यात्रा करने के लिए सक्षम हैं| इसी प्रकार कई जगह लोगों को एयरलाइन वालों की जांच प्रक्रिया और दस्तावेजों को पूरा करने से परेशान है| सभी लोगों को अपनी अपनी परेशानी है.

भारत सरकार ने इस परेशानी का हल निकाल लिया है| भारत सरकार ने इस परेशानी का हल निकालने के लिए एक नए प्रोजेक्ट की शुरुआत की है| इसका नाम घरेलू यात्रियों के लिए डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना है.

भारतीय योजनाएं ⇓

डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना के मुख्य लाभ

डिजी यात्रा के लाभ बहुत है समय के साथ बहुत ही बदलाव किए गए हैं और आगे कभी किए जाएंगे लेकिन फिलहाल इन कुछ लाभों के बारे में आपको बताना चाहता हूँ जो आपके जानने योग्य है और उस दिन से आपका बहुत ही फायदा होगा.

डिजी यात्रा योजना माननीय प्रधानमंत्री जी श्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में शुरू किया गया है और जिस के अनेक फायदे हैं| दस्तावेजों को पूर्ण करने से पहले बिना परेशानी के आपको यात्रा करने की अनुमति दे दी जाएगी.

  1. इस नई योजना के तहत डिजी यात्रा के कार्यान्वयन के पीछे मुख्य उद्देश्य, एयर यात्रा की प्रक्रिया को पेपरलेस और अत्यधिक आसान करना है|
  2. सभी दस्तावेज़ बिना किसी पेपर के QR कोड में संग्रहित होंगे|
  3. हवाई अड्डे पर चेक-इन और बोर्डिंग का समय वर्ष के अंत तक आधा हो सकता है।
  4. प्रौद्योगिकी आधारित पहल यात्री को पेपर मुक्त यात्रा के लिए सक्षम बनाती है, जो हवाई अड्डों पर जल्दी प्रवेश और स्वचालित चेक-इन में सहायता करेगी।
  5. हवाई टिकट से जुड़ा यूआईडी UID एक डिजिटल बोर्डिंग पास (अनुमति पत्र) के रूप में काम करेगा और स्मार्टफोन के माध्यम से हवाई अड्डे पर सभी बिंदुओं पर इस्तेमाल किया जा सकता है।
  6. इसका उद्देश्य प्रवेश बिंदुओं, बोर्डिंग क्षेत्रों, सुरक्षा जाँच और बाहर निकलने के दौरान कतारों को कम करना है|
  7. फिलहाल अभी यह हाई-टेक सुविधा वैकल्पिक होगी| हवाई अड्डों पर एयरलाइन काउंटर पर व्यक्तिगत रूप से बोर्डिंग पास (अनुमति पत्र) लाइन में लग कर यात्रियों को पारंपरिक तरीके से यात्रा करने का विकल्प जारी रखेगा|
  8. डिजीयात्रा का लाभ लेने वाले यात्रियों को मैनुअल चेक-इन पद्धति में लगने वाले 20 से 30 मिनट के मुकाबले अब 10 से 15 मिनट लगेंगे|
  9. अब पहचान की सुविधा हवाई यात्रा के दौरान हवाई अड्डों पर सुरक्षा में सुधार करेगी|
  10. वर्तमान में, पहचान की आवश्यकता केवल हवाई अड्डों में प्रवेश करने के समय होती है बुकिंग के लिए पहचान पत्र की आवश्यकता नहीं होती है|
  11. इस कदम से विमानन मंत्रालय के अनियंत्रित यात्रियों पर प्रस्तावित नंम्बर फ्लाई सूची को निष्पादित करने में भी मदद मिलेगी क्योंकि यह उन पर नजर रखने में मदद करेगी|
  12. विमानन मंत्रालय व्यापक परामर्श आयोजित कर रहा है| यह एक कड़े डाटा संरक्षण तंत्र के माध्यम से व्यापक यात्री कवरेज, सुविधा और गोपनीयता सुनिश्चित करना है|
  13. डेटा-साझाकरण प्रोटोकॉल भी यात्रा पोर्टल, सुरक्षा एजेंसियों के साथ-साथ पार्किंग और परिवहन प्रदाताओं जैसे विभिन्न रियायतदारों के बीच होगा, जिससे हवाई यात्री को सहज यात्रा में मदद मिल सके|
  14. CISF सुरक्षा कर्मियों पर बोझ कम होगा जो हवाई अड्डों के परिसर को सुरक्षित रखते हैं और विभिन्न स्तरों पर जांच करते हैं उसमें भी काफी कमी आयेगी|
  15. MOCA उम्मीद कर रहा है कि इस वर्ष के अंत तक सभी महानगरों के हवाई अड्डे डिजी यात्रा योजना के दायरे के भीतर होंगे क्योंकि कई भारतीय हवाई अड्डे इसके साथ आगे बढ़ने के लिए तैयार हैं क्योंकि वे इसे पायलट आधार पर करने की कोशिश कर रहे हैं|

डिजी यात्रा योजना की मुख्य विशेषताएँ – Digi Yatra Unique Identity Yojana in Hindi

1. एयर यात्रा प्रक्रिया को व्यवस्थित बनाना :

बहुत से यात्रियों को हवाई जहाज यात्रा करने में थोड़ी परेशानी पड़ती है| जैसे की चेकिंग टिकट, बुकिंग बोर्ड चेकिंग प्रक्रिया को व्यवस्थित बनाने के लिए यात्रा योजना शुरू की गयी|

2. केवल घरेलू यात्रियों के लिए :

इस योजना का लाभ केवल घरेलू लोग उठा सकते हैं सुरक्षा संबंधित परेशानियों के लिए कोई परेशानी नहीं होगी लेकिन अगर विदेशी यात्रा होगी तो सुरक्षा संबंधित योजना बनाई जाएगी और लागू होगी|

3. नए पोर्टल की शुरुआत :

विमानन मंत्रालय ने हर बार की तरह पहले से ही एयरसेवा पोर्टल को अपडेट करना शुरू कर दिया था| इसके अंतर्गत उपभोक्ता इसकी वेबसाइट के जरिये एयरलाइन कंपनी के विरुद्ध किसी भी प्रकार की शिकायत करने के लिए उपयोग की जाएगी| इसमें शिकायतें दर्ज कराने के लिए यात्रा के लिए लिंक भी शामिल है|

4. प्रक्रिया को पेपर लेस बनाना :

अब केवल पहचान पत्रों के प्रमाणों के दस्तावेजों को ले जाने की आवश्यकता नहीं है यहां तक कि उपभोक्ताओं को टिकट का प्रिंटआउट ले जाने की जरूरत नहीं है|

5. योजना के तहत सारे के सारे एयरपोर्ट आएंगे :

इसके साथ यह भी उल्लेख किया गया है की यात्रियों को अच्छी सेवा देने के लिए देश के सभी एयरपोर्ट में इस प्रोजेक्ट का कार्यान्वयन होगा|

डिजी यात्रा आईडी के साथ घरेलू उड़ान की टिकट बुक कैसे करें ?

#1. किसी भी यात्री को डिजी यात्रा योजना आईडी के लिए उसका उपयोग करने के लिए सबसे पहले अपनी सारी जानकारी एयर सेवा होटल पर एयर सेवा पोर्टल 2 पर अपलोड करनी पड़ेगी|

#2. एक बार संपूर्ण जानकारी अपलोड करने के पश्चात पोर्टल पर आपकी एक यूनिक आईडी उत्पन्न हो जाएगी यह टिकट बुकिंग या टिकट प्रक्रिया की वास्तविक जांच के समय काम आएगी|

#3. पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन तभी संपूर्ण होगा जब रुचिकर यात्री वोटर आईडी, आधार आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस और अन्य सभी पूछी गई दस्तावेज उत्पन्न करता है|

#4. एक बार जब सिस्टम द्वारा सारी जानकारी आईडी प्रमाणित कर लेने के बाद आप अपने आप ही डिजी यात्रा कोड निजी यात्रा आईडी कोड उत्पन्न कर लेंगे|

#5. इस कोड के साथ कभी भी आसानी के साथ टिकट बुक की जा सकती है|

#6. जिस दिन यात्रा होगी उस दिन प्रत्येक यात्री को टिकट के साथ अपनी कुछ आईडी दस्तावेज़ लेकर जाने की आवश्यकता पड़ेगी| ये केवल एक बार ही दिखाना पड़ेगा|

#7. एयरलाइन कर्मियों द्वारा इन दस्तावेजों की संपूर्ण जांच एवं प्रत्येक यात्री की आंखों की पुतली को स्कैन किया जाएगा| एक बार जब सारी जानकारी रिकॉर्ड हो जाएगी यह सिस्टम में अपडेट हो जाएगा|

#8. खुशी की बात यह है कि अगली बार से कभी भी आप को अपने दस्तावेजों की दोबारा जरूरत नहीं पड़ेगी यात्रा करते वक्त एक बार क्यूआर कोड स्कैन हो जाएगा यात्री की सारी जानकारी पोर्टल पर शो हो जाएगी|

हवाई जहाज की बोर्डिंग के लिए डिजी यात्रा का उपयोग कैसे करें ?
  • यात्रियों की सेवाओं के लिए सभी एयरपोर्टस पर बहुत सारे ई गेट लगाए गए हैं यह सभी गेट स्कैनर से बनाए गए हैं जो आपका बारकोड स्कैन करेंगे| डिजी यात्रा को इस बार कोड द्वारा संपूर्ण किया जाएगा|
  • यदि कोई व्यक्ति डिजी यात्रा पहली बार प्रयोग करने जा रहा है उसे डिजी यात्रा आईडी का प्रयोग करने से पहले अपने साथ एक अपनी फोटो आईडी का प्रमाण ले जाना होगा जो कि प्रमाणीकरण के लिए बहुत ही आवश्यक है|
  • एक बार ई गेट में जांच पूरी हो जाने के बाद यात्री को आगे प्रवेश किया जाएगा| इस जांच के बाद डिजीयात्री को मैनुअल जांच के माध्यम से नहीं जाना होगा|
  • केवल क्यूआर कोड स्कैन करते ही जांच प्रक्रिया और बोर्डिंग प्रक्रिया सम्पूर्ण हो जाएगी|
  • क्यूआर कोड है स्कैन करने के बाद फ्लाइट सीट नंबर गेट बंद होने के समय से संबंधित सभी नियम की जानकारी प्राप्त होती है|
  • डिजी यात्रा की एक खासियत है किसी भी प्रकार के पेपर का प्रयोग नहीं किया जाता है| यात्रा के अनुसार यात्री कम से कम दस्तावेजों का प्रयोग करता है कई बार क्या होता है की उपभोक्ता अपने पेपर घर भूल जाता है| जल्दबाजी में पेपर घर में छूट जाता है जिसकी वजह से यादव फ्लाइट छूट जाती है, परेशानी उठानी पड़ती है, यात्रियों की बायोमेट्रिक जानकारी एयरलाइन्स सिस्टम में मौजूद होगी|

दोस्तों कैसा लगा ये चैप्टर उम्मीद करता हूँ की आपको डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना की संपूर्ण जानकारी आपको यहाँ से मिल गई है.

अगर आपको डिजी यात्रा की जानकारी पढ़ कर अच्छा लगा हो तो अपने मित्र परिवार के सदस्य के साथ शेयर करना ना भूले| आप हमारे इस लेख को फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाट्सएप इत्यादि जगह शेयर कर सकते है.

सरकारी योजना ⇓

इनकी भी आपको जानकारी होनी चाहिए ⇓

डिजी यात्रा यूनिक आइडेंटिटी योजना क्या है ? – सम्पूर्ण जानकारी
5 (100%) 1 vote[s]

Leave a Reply