कौन थे चाणक्य ? चाणक्य का जीवन परिचय हिन्दी में

कौटिल्य या चाणक्य अथवा विष्णुगुप्त सम्पूर्ण में एक महान राजनीतिक और मौर्य सम्राट सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य के महामंत्री के रूप में प्रसिद्ध हैं. उनका व्यक्तिवाचक नाम ‘विष्णुगुप्त; स्थानीय नाम ‘चाणक्य; (चाणक्य वासी) और गोत्र नाम (कौटिल्य से) था.

वे चन्द्रगुप्त मौर्य के प्रधानमंत्री थे. चाणक्य का नाम संभवतः उनके गोत्र के नाम ‘चणक; पिता के नाम ‘चणक’ या स्थान का नाम ‘चणक’ का परिवर्तित रूप होगा.

Chanakya नाम से प्रसिद्ध एक नीतिग्रंथ ‘चाण-क्य नीति’ भी प्रचलित है. तक्षशिला के प्रसिद्ध महान अर्थशास्त्री chanakya के कारण भी है, जो वहाँ प्राध्यापक थे और जिन्होंने चंद्रगुप्त के साथ मिलकर मौर्य साम्राज्य की नींव डाली.

‘मुद्राराक्षस’ में कहा गया है की राजा नंद ने भरे दरबार में चाण-क्य को उनके उस पद से हटा दिया, जो उन्हें दरबार में दिया गया था.

इस पर चाणक्य ने शपथ ली की वो उसके परिवार तथा वंश को निर्मूल करके नंद से बदला लेंगे. ‘बृहत्कथा कोश’ के अनुसार, चाणक्य की पत्नी का नाम यशोमती था.

आचार्य चाणक्य की शिक्षा तथा जन्म

चाणक्य का जन्म : माना जाता है की चाण-क्य ने ईसा से 370 वर्ष पूर्व ऋषि चणक के पुत्र के रूप में जन्म लिया था. वही उनके आरंभिक काल के गुरु थे.

कुछ इतिहासकार मानते हैं की चणक केवल उनके गुरु थे. चणक के ही शिष्य होने के नाते उनका नाम ‘चाणक्य’ पड़ा.

उस समय का कोई प्रामाणिक इतिहास उपलब्ध नही हैं. इतिहासकारों के प्राप्त सूचनाओ के आधार पर अपनी-अपनी धारणाए बनाई. परन्तु यह सर्वसम्मत है की चाणक-य की आरंभिक शिक्षा गुरु चणक द्वारा ही दी गई.

संस्कृत ज्ञान तथा देव-पुराण आदि धार्मिक ग्रंथो का अध्ययन चाण-क्य ने उन्हीं के निर्देशन में किया. चाण-क्य मेधावी छात्र थे. गुरु उनकी शिक्षा ग्रहण करने की तीव्र शमता से अत्यंत प्रसन्न थे.

तत्कालीन समय में सभी सूचनाएँ व विधाएँ धर्म-ग्रंथो के माध्यम से ही प्राप्त होती थी. अत: धार्मिक पुस्तकों का अध्ययन शिक्षा प्राप्त करने का एकमात्र साधन था. chanakya ने किशोरावस्था में ही उन ग्रंथो का सारा ज्ञान ग्रहण कर लिया था.

क्या आप इनको पढ़ना चाहोगे? 🙂

चाण-क्य एक महान व्यक्ति थे. इनके बारे में जितना लिखू उतना कम है. अगर आपको इनके बारे में और जानना है जैसे की चाणक्य नीति, चाणक्य के अनमोल विचार तो आप विकिपीडिया पर इनके बारे में और अच्छे से पढ़ सकते हो.

अगर आपको इनके बारे में कुछ ऐसी बात पता है जो हमे जननी चाहिए, या फिर आप इनके बारे में कुछ बोलना चाहते है तो आप कमेंट के माध्यम से हमको बता सकते हो और इस आर्टिकल को आप अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर भी कर सकते हो.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

9 thoughts on “कौन थे चाणक्य ? चाणक्य का जीवन परिचय हिन्दी में”

  1. आपने आचार्य चाणक्य के जीवन के बारे मे बहुत अच्छी जानकारी शेयर किया है । धन्यवाद ।

Leave a Comment