15 अगस्त पर भाषण – आप सभी भारत देशवासियों के लिए स्वतंत्रता दिवस पर देशभक्ति हिंदी भाषण

15 अगस्त पर भाषण के इस लेख पर मै हिमांशु ग्रेवाल आप सभी भारत देशवासियों का तहे दिल से स्वागत करता हूँ.

लेख को शुरू करने से पहले आप सभी भारत देशवासियों को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक और ढेरों शुभकामनाएँ.

स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस हमारे देश के दो बहुत ही प्रमुख और राष्ट्रीय पर्व है.

15 अगस्त के दिन हमारा भारत देश आजाद हुआ था इसलिए इसको स्वतंत्रता दिवस के नाम से जाना जाता है|

अगर आपको स्वतंत्रता दिवस के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करनी है तो आप भारत का स्वतंत्रता दिवस का इतिहास, महत्व और निबंध वाला लेख पढ़ सकते हो.

26 जनवरी के दिन भारत देश के सविधान लागू हुए थे इसलिए इसको गणतंत्र दिवस के नाम से जाना जाता है|

गणतंत्र दिवस के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आप भारतीय गणतंत्र दिवस (26 जनवरी) क्यों मनाया जाता है ? वाला लेख पढ़ सकते हो.

आज इस देशभक्ति लेख में, मै आपके साथ स्वतंत्रता दिवस पर भाषण प्रस्तुत करने जा रहा हूँ जिसको आप अपने विद्यालय और कॉलेज में सभी के सम्मुख बोल सके.

तो आईये मेरे प्रिय मित्रों आपका ज्यादा समय नष्ट न करते हुए Independence Day Hindi Speech को शुरू करते है.

नोट :- आपसे नर्म निवेदन है कि अगर आपको इंडिपेंडेंस डे स्पीच पसंद आये तो इस देशभक्ति भाषण को जितना हो सके अपने मित्रों आदि के साथ सोशल मीडिया पर उतना शेयर करें और कमेंट के माध्यम से अपने विचार प्रकट करें. 🙂

नया भाषण » सभी छात्रों और अध्यापको के लिए 15 अगस्त पर देशभक्ति हिंदी भाषण

15 अगस्त पर भाषण – Motivational Speech on Independence Day in Hindi

Motivational Speech on Independence Day in Hindi

आदरणीय प्रधानाचार्य जी, अध्यापकगण और मेरे प्यारे मित्रों, आज हम सब यहाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं.

सदियों की गुलामी के पश्चात् 15 अगस्त सन् 1947 के दिन हमारा भारत देश आजाद हुआ.

पहले हम अंग्रेजो के गुलाम थे| उनके बढ़ते हुए अत्याचारों से सारे भारतवासी त्रस्त हो गए और तब विद्रोह की ज्वाला भड़की और भारत देश के अनेक वीरों ने प्राणों की बाजी लगाई, गोलियां खाई और अंतत: आजादी पाकर ही चैन लिया.

इस दिन हमारा देश आजाद हुआ, इसलिए इसे स्वतंत्रता दिवस कहते हैं.

अंग्रेजों के अत्याचारों और अमानवीय व्यवहारों से त्रस्त भारतीय जनता एकजुट हो इससे छुटकारा पाने हेतु कृतसंकल्प हो गई.

सुभाषचंद्र बोस, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद ने क्रांति की आग फैलाई और अपने प्राणों की आहुति दी.

तत्पश्चात सरदार वल्लभभाई पटेल, गांधीजी, नेहरूजी ने सत्य, अहिंसा और बिना हथियारों की लड़ाई लड़ी.

सत्याग्रह आंदोलन किए, लाठियां खाई, कई बार जेल गए और अंग्रेजों को हमारा देश छोड़कर जाने पर मजबूर कर दिया| इस तरह 15 अगस्त 1947 का दिन हमारे लिए ‘स्वर्णिम दिन’ बना.

हमारा देश स्वतंत्र हो गया| यह दिन 1947 से आज तक हम बड़े उत्साह और प्रसन्नता के साथ मनाते चले आ रहे हैं.

इस दिन सभी विद्यालयों, सरकारी कार्यालयों पर राष्ट्रिय ध्वज फहराया जाता है, राष्ट्रगीत गाया जाता है और इन सभी महापुरषों, शहीदों को श्रधान्जली दी जाती हैं जिन्होंने स्वतंत्रता हेतु प्रयत्न किए| मिठाइयां बाटी जाती हैं.

हमारी राजधानी दिल्ली में हमारे प्रधानमंत्री लाल किले पर राष्ट्रिय ध्वज फहराते हैं| वहां भारत का स्वतंत्रता दिवस बड़ी धूमधाम और भव्यता के साथ मनाया जाता हैं.

सभी शहीदों को श्रधान्जली दी जाती है| प्रधानमंत्री राष्ट्र के नाम संदेश देते हैं. अनेक सभाओं और कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है.

इस दिन का ऐतिहासिक महत्व हैं इस दिन की याद आते ही उन शहीदों के प्रति श्रद्धा से मस्तक अपने आप ही झुक जाता है जिन्होंने स्वतंत्रता के यज्ञ में अपने प्राणों की आहुति दी.

इसलिए हमारा पुनीत कर्तव्य है कि हम हमारे स्वतंत्रता की रक्षा करें, देश का नाम विश्व में रोशन हो, ऐसा कार्य करें. देश के प्रगति के साधक बने न कि बाधक|

इस देश के नागरिक होने के नाते हमारा ये फर्ज बनता है की घूस, जमाखोरी, कालाबाजारी को देश से समाप्त करें.

भारत के नागरिक होने के नाते स्वतंत्रता का न तो स्वयं दुरूपयोग करें और न दूसरों को करने दें.

एकता की भावना से रहें और अलगाव आंतरिक कलह से बचें… “धन्यवाद”

15 August Speech in Hindi For Teacher & Students

15 August Speech in Hindi For Teacher & Students

⇓ 15 अगस्त पर भाषण हिंदी में ⇓

माननीय मुख्य अतिथि, आदरणीय अध्यापकगण, अभिभावकों और मेरे सभी प्यारे दोस्तों को मेरा हार्दिक नमश्कार|

मै आप सभी को स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक बधाई देता हूँ| आज हम यहाँ 15 अगस्त के दिन स्वंतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर को मनाने के लिए इकट्ठे हुए हैं| इस वर्ष हम स्वंतंत्रता दिवस के 71वे वर्ष को मना रहे हैं|

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि 15 अगस्त 1947 से स्वंतंत्रता दिवस (यानिकी आज का दिन) हम सभी के लिए एक शुभ अवसर रहा है| हम इस दिन को बहुत उत्साह और खुशी के साथ इस दिन का जश्न मनाते हैं क्यूंकि 1947 में ब्रिटिश शाषण से हमारे देश को आज़ादी मिली थी.

भारत के लोगो ने अंग्रेजो के क्रूर व्यवहार का सामना किया था तब जाकर हमे आज़ादी मिली थी|

भारत को ऐसे ही स्वंतंत्रता नहीं मिली इसके लिए हमारे कई क्रांतिकारियों ने अपने जीवन का बलिदान तक दे दिया था उनमे से कुछ क्रांतिकारियों के नाम है इस प्रकार है जैसे:-

  1. भगत सिंह
  2. राज गुरु
  3. महात्मा गांधी
  4. नेताजी शुभाष चन्द्र बोस
  5. लाला लाजपत राय
  6. चंद्रशेखर आज़ाद
  7. रानी लक्ष्मी बाई
  8. मंगल पांडे

इससे गुलाम भारत का इतिहास सब कुछ बताता है कि हमारे पूर्वजो ने बहुत संघर्ष किया, बलिदान दिया और अंग्रेजो के सभी क्रूर व्यवहार का सामना किया था.

आजादी के बाद हमे अपने देश में हमारे सभी मुलभुत अधिकार मिल गये, और हमारी मातृभूमि भी|

अब आजादी के बाद भारत दुनिया में एक सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश बन गया है| आज हमारे लगभग सभी क्षेत्रो में आजादी है जैसे कि शिक्षा, परिवहन, खेल, व्यवसाय, आदि|

हमे यह सब मिला सिर्फ और सिर्फ हमारे पूर्वजो के संघर्ष और बलिदान के कारण|

स्वतंत्रता दिवस के दिन एक राष्ट्रीय अवकाश भी होती है, लेकिन स्कूलो, कार्ययालयो या समाज में झंडे की मेजबानी करके हर कोई इस स्वतंत्रता को बड़े उत्साह के साथ अपने-अपने स्थान से इसे मनाता है.

कई विद्यालयों में इस दिन बच्चे नाच और गाने का काफी अच्छा प्रोग्राम भी करते हैं|

दोस्तों, स्वतंत्रता दिवस पर मेरा भाषण अब समाप्त होने जा रहा है| अंत में मै बस इतना बोलना चाहूँगा कि मुझे भारतीय नागरिक बनने पर गर्व महसूस हो रहा है| तो चलिए आज हम सभी मिलकर इस स्वतंत्रता दिवस पर शपत लेते है कि अपने देश को भ्रष्टाचार से मुक्त करने में मदद करेंगे और सभी के साथ प्रेमभाव से रहेंगे.

यह हमारी ज़िम्मेदारी है कि हम देश को आगे बढ़ाए और भारत को दुनिया का स्वर्क्षेष्ठ देश बनाए|

!… जय हिन्द, जय भारत, वन्देमातरम ..!

गणतंत्रता दिवस ⇓

मेरे प्यारे मित्रों, मुझे उम्मीद है की 15 अगस्त पर भाषण का यह लेख आपको पसंद आया होगा.

आपको Indian Independence Day Hindi Speech कैसी लगी हमको कमेंट करके जरुर बताये और इस देश भक्ति स्पीच को जितना हो सके अपने सभी दोस्तों और परिवार वालो के साथ फेसबुक, ट्विटर, गूगल+ और व्हाट्सएप्प पर शेयर जरुर करें.

6 Comments

  1. Suresh Mulak August 9, 2017
  2. Ramdeep August 15, 2017
  3. Ravi Kumar July 6, 2018
    • Himanshu Grewal July 7, 2018
  4. Suman Sharma August 12, 2018
  5. Princy Bhardwaj August 14, 2018

Leave a Reply