मक्का मदीना में गुरु नानक देव जी का चमत्कार देखकर हैरान हो जाओगे आप !

क्या आपको पता है ? मक्का मदीना में गुरु नानक देव जी का चमत्कार क्या है ?

आज के इस लेख में आपको बहुत ही रोचक जानकारी मिलेगी इसलिए आप इस लेख को ध्यान से अंत तक जरूर पढ़े|

सिख धर्म को सिखमत और सिखी भी कहा जाता है, यह एक एकेश्वरवादी धर्म है| इस धर्म के अनुयायी को सिख कहा जाता है| सिखों का धार्मिक ग्रन्थ श्री आदि ग्रंथ या ज्ञान गुरु ग्रंथ साहिब है.

आमतौर पर सिखों के 10 सतगुरु माने जाते हैं, लेकिन सिखों के धार्मिक ग्रंथ में 6 गुरुओं सहित 30 भगतों की बानी है, जिन की सामान सिख्याओं को सिख मार्ग पर चलने के लिए महत्त्वपूर्ण माना जाता है.

जिस प्रकार हिन्दू के लिए धार्मिक स्थान मंदिर होता है ठीक उसी तरह से सिखों के लिए उनका धार्मिक स्थान को गुरुद्वारा कहा जाता हैं|

1469 ईस्वी में पंजाब में जन्मे नानक देव ने गुरमत को खोजा और गुरमत की सिख्याओं को देश देशांतर में खुद जा जा कर फैलाया था| सिख उन्हें अपना पहला गुरु मानते हैं.

गुरमत का परचार बाकि 9 गुरुओं ने किया| 10वे गुरु गोबिंद सिंह जी ने ये परचार खालसा को सोंपा और ज्ञान गुरु ग्रंथ साहिब की सिख्याओं पर अम्ल करने का उपदेश दिया| इसकी धार्मिक परम्पराओं को गुरु गोबिंद सिंह ने 30 मार्च 1699 के दिन अंतिम रूप दिया.

विभिन्न जातियों के लोग ने सिख गुरुओं से दीक्षा ग्रहणकर खालसा पंथ को सजाया| पाँच प्यारे ने फिर गुरु गोबिंद सिंह को अमृत देकर खालसे में शामिल कर लिया| इस ऐतिहासिक घटना ने सिख के तकरीबन 300 साल इतिहास को तरतीब किया.

संत कबीर, धना, साधना, रामानंद, परमानंद, नामदेव इत्यादि, जिन की बानी आदि ग्रंथ में दर्ज है, उन भगतों को भी सिख सत्गुरुओं के सामान मानते हैं और उन की सिख्याओं पर अमल करने की कोशिश करते हैं.

सिख एक ही ईश्वर को मानते हैं, जिसे वे एक-ओंकार कहते हैं| उनका मानना है की ईश्वर अकाल और निरंकार है| जैसा कि मैंने ऊपर बताया की गुरु ग्रंथ साहिब में सिख धर्म के 10 गुरु का उल्लेख है, उन्ही में आज हम पहले गुरु यानिकी गुरु नानक देव जी के जीवन के एक अचंभित घटना के बारे मे विख्यात में जानेंगे|

जरुर पढ़े ⇓

मक्का मदीना में गुरु नानक देव जी का चमत्कार

गुरु नानक देव जी के 2 चेले थे, एक का नाम मरदाना था और दूसरे के नाम बाला था यानिकी एक हिन्दू थे और एक मुसलमान|

मरदाना ने सुना था कि मुस्लिम धर्म के सबसे पाक जगह यानिकी मक्का मदीना में जब तक एक मुसलमान नहीं जाता है तब तक वो असली मुसलमान नहीं कहलाता है|

एक दिन जब गुरु नानक देव जी विश्राम कर रहे थे तब मरदाना ने हिम्मत जुटाते हहुए अपनी इच्छा को अपने मालिक यानिकी गुरु नानक देव जी के सामने प्रकट किया था| गुरु नानक देव जी ने उसकी बात मान ली और वो मक्का मदीना की और से अपने दोनों चेलो के साथ चल पड़े|

हालांकि उस वक्त आज के समय के जितनी सुविधा नहीं थी और उनको मक्का मदीना जाने में करीब एक वर्ष तक का समय लग गया था| वहाँ पहुचने के बाद मरदाना मस्जिद के अंदर चले गए.

गुरु नानक देव जी के होने के कारण मस्जिद के बाहर बैठे व्यक्ति के लिए जो रुकने का स्थान बना था वहाँ जा के लेट गए और फिर कुछ समय बाद उनको नींद आ गई और वो सो गए|

तभी एक मौलवी (मुस्लिम धर्म के पंडित को मौलवी कहा जाता है) की नजर गुरु नानक देव जी पर पड़ी, वो उनके पास आया और गुरु जी को उठाते हुये बोला – तुम कैसे आदमी हो ? क्या तुम्हें मालूम नहीं है कि मस्जिद की और पैर कर के नहीं सोना चाहिए|

बाबा जी बहुत ज्यादा थके हुए थे, मौलवी साहब के उतना कहने के बावजूद वो नींद में ही सोये रहे, आखिर में मौलवी ने उनके पैर पकड़े और उसको दूसरी दिशा में घुमाने लगा| बाबा जी के पैर दूसरी दिशा में करने के बाद जब वो खड़ा हो कर पीछे मुड़ा तो वो अचंभित हो गया|

उसने देखा कि मक्का मदीना भी अब अपनी जगह के हट कर बाबा जी के पैर की और ही हो गया है, ऐसा देखते ही वो डर सा गया और फिर उसको ज्ञात हुआ की यह खुदा का ही बंदा हैं.

वो कहता है, खुदा के बंदे मुझे माफ कर दो| तभी गुरु जी उससे कहते हैं = खुदा कभी भी दिशा में वास नहीं करते वो तो बंदो के दिलो में वास करते हैं, तुम अच्छे कर्म करो और खुदा को दिल में रखो.

दोस्तो जिस तरह जब मुझे यह बात पता चली थी क्या कभी ऐसा हुआ होगा ? क्या सच मुच गुरु नानक देव जी कभी मक्का मदीना गए होंगे ?  गुरु नानक देव जी मक्का मदीना क्यों गए थे ? कुछ इस तरह के प्रशन मुझे खा रहे थे परंतु जानकारी प्राप्त करने के बाद मैंने सोचा की इस जानकारी को मुझे आपके साथ जरूर शेयर करना चाहिए|

अब दोस्तो यदि आप चाहे तो मक्का मदीना में गुरु नानक देव जी का चमत्कार की जानकारी को अपने दोस्तो के साथ सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर कर सकते हैं| यह लेख आपको कैसा लगा कमेंट के माध्यम से मुझे बताना मत भूलिएगा.

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

Leave a Comment

0 Shares
Share via
Copy link