घर बैठे एसएससी की तैयारी कैसे करे ? – पूरी जानकारी हिंदी में

एसएससी की तैयारी कैसे करे ? वाकई ही यह एक बहुत बड़ा सवाल है, जिसका उत्तर हर वो बच्चा पाना चाहता है जो एसएससी की तैयारी कर रहा है या करने वाला है.

यदि आप भी उन्ही में से एक हैं या तो जो एसएससी की तैयारी कर रहे हैं या करने वाले है तो आप ध्यानपूर्वक इस लेख को अंत तक शांति से बैठ के पढे.

आप और आपके कई दोस्त एसएससी का एग्जाम क्लियर करने के लिए कोचिंग जाते होंगे, लेकिन फिर भी उनका एक्जाम क्लियर नहीं हो पा रहा है.

इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं, पर आप निराश मत होइए| आज के इस लेख में मै हिमांशु ग्रेवाल आपको हिंदी में बताऊँगा की बिना कोचिंग के कैसे करें एसएससी की तैयारी ?

लेख को शुरू करने से पहले मै आप सभी का HimanshuGrewal.com पर स्वागत करता हूँ, आज के इस लेख में आपको SSC में सफलता कैसे प्राप्त करनी है के साथ-साथ आपको एसएससी फुल डिटेल्स, एसएससी का पूरा नाम, एसएससी की तैयारी कैसे करे, एसएससी का फुल फॉर्म हिंदी में, एसएससी क्या है कैसे करे, एसएससी इंग्लिश की तैयारी कैसे करे इत्यादि के विषय में बताया जाएगा.

एसएससी की तैयारी कैसे करे हिंदी में ?

कई बार मेहनत करने के बाद भी हम असफल हो जाते हैं और तब हम बहुत ही निराश होते है, सब से गुस्सा, खुद अकेला रहना पसंद करने लगते हैं|

यदि इसकी जगह हम निराश होने की बजाए असफल होने के पीछे के कारण का पता लगाये और फिर मेहनत कर उस कमी को दूर करे तो यह निश्चित है कि हम सफल हो सकते है.

वैसे तो मेहनत करने के बाद असफल होने के कई कारण हो सकते हैं परंतु इसके मूल सिर्फ दो ही कारण है जो इस प्रकार है:-

  1. परीक्षा के अनुसार तैयारी न कर पाना या पाठ्यक्रम की अधूरी जानकारी होना आपकी असफलता का एक मुख्य कारण है.
  2. परीक्षा की सही रणनीति का पता न होना या समय पर सही इंसान द्वारा सही गाइडेंस न मिल पाना आपकी असफलता का दूसरा मुख्य कारण है.

आज हम आपको बताएंगे की SSC की तैयारी किस प्रकार की जानी चाहिए तथा इसके लिए आपको एसएससी सिलेबस में क्या पढ़ना होगा साथ ही कैसे पढ़ना होगा, हम इसपर भी गौर फरमाएंगे.

सबसे पहले तो हम जो भी कार्य को करना चाहते हैं उसके विषय में हमे सम्पूर्ण जानकारी आवश्य होनी चाहिए, तब ही उसमे हमे सफलता मिल पाती है, क्यूंकी कहते हैं न अधूरी जानकारी सेहत के लिए अच्छी नहीं होती है और अक्सर आपने सुना होगा आधी जानकारी सेहत के लिए हानिकारक होती है.

तो चलिये शुरुआत से शुरू करते हैं, सबसे पहले हम जानेंगे की-

SSC क्या है और एसएससी का फुल फॉर्म क्या होता है ?

एसएससी का पूरा नाम » Staff Selection Commission (SSC) है| एसएससी का फुल फॉर्म हिंदी में » “कर्मचारी चयन आयोग” होता है|

यह एक सिलेक्शन बोर्ड है, जिसकी स्थापना सन् 1977 में हुई थी| यह केंद्र सरकार (central government) के विभागों के लिए ग्रुप “B” एवं ग्रुप “C” के लिए कर्मचारियों का चयन करती है.

SSC की विभिन्न प्रकार की प्रतियोगी परीक्षा – एसएससी की तैयारी कैसे करे ?

  1. CGL (Combined Graduate Level)
  2. CHSL (Combined Higher Secondary Level)
  3. STENO (Stenography)
  4. JE (Junior Engineer )
  5. CAPF (Central Armed Police Forces)

आइये अब जानते हैं की SSC (CHSL) की परीक्षा के चरण (Level) को पार करने के लिए क्या शर्ते एवं नियम बनाए गए है ?

SSC CHSL Recruitment – एसएससी सीएचएसएल परीक्षा के चरण (Level)

सबसे पहले मैं आपको बता दू कि SSC (CHSL) की परीक्षा तीन चरण (स्तर) में संपन्न होती है जिसे TIER 1, TIER 2 एवं TIER 3 नाम दिया गया है.

यदि आप भी इस परीक्षा में शामिल होना चाहते हैं तो उसके लिए आपको 12वी कक्षा की परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी, इसके साथ ही न्यूनतम आयु सीमा 18 वर्ष व अधिकतम आयु 27 वर्ष की होनी आवश्यक राखी गई है.

ध्यान देने योग्य बाते » यदि आपका परिवार आरक्षण के दायरे में आने वाले उम्मीदवार में से है तो आपको सरकारी नियमानुसार छुट का प्रावधान किया जाएगा.

यदि आप भी 12वी पास है और आप भी सरकारी नौकरी करना चाहते हे तो शायद आपके लिए यह परीक्षा वरदान साबित हो| आइये अब जानते हैं इसके सीमा चरणों के बारे में जो इस प्रकार है:-

  • Tier 1 – टियर १

सबसे पहला चरण है Tier-1, जो की सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है और इसमें आपको नीचे दिये बातों पर गौर फरमाना अति आवश्यक है.

  1. यह परीक्षा कंप्यूटर पर आधारित होती है|
  2. इसमें भी ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न ही पुछे जाते है|
  3. यहाँ आपको कुल 60 मिनट का समय मिलेगा|
  4. हर प्रशन 2 अंक के होंगे और कुल 100 प्रश्न यहाँ आपसे पूछे जाएंगे|

नोट ⇒ और हाँ यहाँ ध्यान देने वाली बात यह है की इसमें नेगेटिव मार्किंग भी होती है|

अब अगली चीज़ जिस पर आपको ध्यान देना है वो है एसएससी एग्जाम का सिलेबस, तो चलिये बढ़ते हैं अगले पढ़ाव पर-

SSC Exam Syllabus Information in Hindi – एसएससी सिलेबस

आपका SSC CHSL के पहले चरण के सिलेबस का पता होना बहुत ज्यादा जरूरी है|, क्यूंकी यह पहला चरण है और इसी चरण पर करिवन 40% चिजे निर्भर करती है.

  1. सामान्य बुधिमत्ता (रीजनिंग / Reasoning)
  2. अंग्रेजी (सामान्य) (English)
  3. सामान्य जागरूकता (General Awareness)
  4. संख्यात्मक अभियोग्यता (Quantitative Aptitude)
  • Tier – 2 – टियर २

अगला चरण है Tier- 2, जिसमे उम्मीदवार को लिखित परीक्षा देनी होती है और यह 100 अंको का होता है.

इसमें एक निबंध आता है जिसको 200-250 शब्दों में और एक पत्र आता है जिसको 100 – 150 शब्दों में लिखना होता है.

ध्यान देने योग्य बाते » जो पहले यानि (TIER -1) चरण को पार करेगा सिर्फ वही इस चरण यानि (TIER -2) के परीक्षा को दे सकता है| यह ध्यान देने योग्य बाते हैं, जिसका ज्ञात आपको होना चाहिए.

  • Tier – 3 – टियर ३

चलिये बढ़ते हैं आखिरी चरण कि और जो की है Tier- 3, इस चरण में आपका Typing Test लिया जायेगा एवं Computer Knowledge का भी टेस्ट लिया जायेगा| (यह सबसे कठिन पढ़ाव होता है)

आवश्यक सूचना ⇒ English Typing में आपकी स्पीड 35 WPM (Word Per Minute) होनी चाहिए वही Hindi Typing में 30 WPM की स्पीड होना अनिवार्य है.

चलिये बढ़ते हैं अगले पढ़ाव कि और जहाँ आपके साथ एसएससी की तैयारी कैसे करे उससे जुड़े टिप्स शेयर किए जाएँगे ?

एसएससी की तैयारी कैसे करे – SSC Preparation in Hindi

जिन बातो को मै अब आपको बताने जा रहा हूँ यदि आप इन टिप्स को फॉलो कर के एसएससी कि तैयारी करेंगे तो यकीनन ही आप पहले ही प्रयास में सही रणनीति द्वारा पास कर लेंगे और उसमे सफलता भी हासिल कर सकेंगे.

  • एसएससी में सफलता पाने के लिए इसके एग्जाम फार्मेट को समझे !

जब भी हम कोई बिज़नस की शुरुआत करते है तो सबसे पहले आप प्लान बनाते है की हमे उस बिज़नस में सबसे पहले क्या करना है फिर उसके बाद नेक्स्ट स्टेप की और बढ़ते है|

ठीक उसी तरह एसएससी में हमे सबसे पहले इसके Pattern और एसएससी सिलेबस को समझना होगा उसके बाद हमे अपनी पढाई जारी करनी चाहिए.

हमे समझ लेना चाहिए की सामने वाला हमसे क्या पूछने चाह रहा है तो वोही देख कर हमे आईडिया लेना चाहिए की हमे क्या पढ़ना चाहिए| इसके लिए आप एसएससी एग्जाम फोर्मेट के नोट बना सकते है अथवा इसके सिलेबस के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्राप्त करें.

  • टाइम टेबल बनाना – पढ़ाई के लिए टाइम टेबल कैसे बनाएं ?

जैसा की आप सभी जानते है की एग्जाम पास करने के लिए अच्छी पढाई की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है , और अच्छी पढ़ाई के लिए आपको सबसे पहले एक टाइम टेबल बनाना होगा की कब और किस टाइम पढ़ाई की जाये.

आपको ऐसा बिलकुल भी नही करना चाहिए की आप जब फ्री हुए तब पढ़ने बैठ गये, हमे पूरी लगन और अन्य कामो से फ्री होकर मन लगाकर पढ़ाई करनी होगी.

हर रोज़ हमे उस टाइम टेबल को फॉलो करना होगा जिसको आपने तैयारी शुरू करने से पहले बनाया था क्यूंकी तभी आपका एग्जाम क्लियर हो पाएंगा.

टाइम टेबल बनाते समय आपको इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि एसएससी सिलेबस के हर सब्जेक्ट के लिए एक अलग टाइम टेबल बनाये, खास कर आप जिस विषय में आप कमज़ोर है उसके लिए आपको अत्यधिक समय निकालना होगा.

नोट ⇒ अपनी क्षमता के अनुसार पढ़ाई करे अत्यधिक पढ़ने से आप सब भूल भी सकते हैं, याद रहे की आपको समझ कर पढ़ाई करना है रटना नहीं है बिलकुल भी|

  • रोजमर्रा या अपने आस पास की चीजों से सीखे

आपके रोजाना उपयोग में आने वाली और आपके आस – पास रोज ऐसी बहुत सी चीजे होती है जिनके द्वारा आप अपनी पढ़ाई में मदद प्राप्त कर सकते है, और उनको देख कर भी सीख सकते हैं.

आइए कुछ उदाहरण के तौर चीजों को समझते हैं – जैसे आप अखबारों की मदद से करंट अफेयर्स की जानकारी प्राप्त कर सकते है| जनरल अवेयरनेस में आपसे विश्व में क्या हो रहा है तथा इससे सम्बंधित सवाल पूछे जायेंगे तो इसके लिए आप इन्टरनेट की सहायता ले सकते है, आर्टिकल पढ़ सकते है, न्यूज़ पढ़ एवं देख भी सकते है|

इसके साथ-साथ यदि आप एक इन्टरनेट लवर हैं तो दोस्तों मैं आपको बता दूँ कि उसपर कई एप्लीकेशन मौजूद है जो मॉक टेस्ट लेती है| उन एप्लिकेशन के द्वारा आप अपनी तैयारी भी कर सकते हो और इसके साथ आप अपनी अब तक की तैयारी का परिणाम भी प्राप्त कर सकते हो.

आपकी सुविधा के लिए में नीचे जनरल नॉलेज से रिलेटेड कुछ लेख शेयर कर देता हूँ जिसको पढ़कर आपको ज्ञान प्राप्त होगा.

नोट ⇒ आपको मॉक टेस्ट रोज देने की आवश्यकता नहीं है, आप इसे एक हफ्ते में एक बार ही दें, ताकि एक हफ्ते में आपने कितना ग्रोथ किया है उसका आपको मालूम हो सके.

  • तनाव रहित रहे – तनाव रहित जीवन सुख का सार है |

पढाई ठीक तरीके से करना जरूरी है और इस बात को शायद इस लेख में मैंने अभी तक 5 से 6 बार लिख दिया है तो उसके लिए आपको तनाव मुक्त रहना होगा.

यदि किसी कारण आपके घर मे अच्छा वातावरण नहीं है तो इसके लिए आप रोज सुबह उठकर योगा कर सकते हैं तथा मनपसंद गाने (MUSIC) या फिल्म का भी सहारा भी ले सकते है.

इसे पढ़े »मानसिक तनाव कैसे दूर करे (घरेलू उपाय और अचूक मंत्र)

  • बुक और नोट्स

आपको एसएससी सिलेबस का स्टडी मटेरियल भी उपलब्ध करना चाहिए, जिससे आप पढ़ेंगे| जैसे की :- किताबे, अच्छी कोचिंग या इंस्टीट्यूट द्वारा दिए गए नोट्स जिसको आप अपने दोस्त या किसी सीनियर की मदद से पा सकते हैं.

अब आप सोच रहे होंगे की जब हर चीज नेट पर मिलती है, तो फालतू में मेहनत क्यों करे ? दोस्तो मैं यहाँ यह ज़रूर बोलना चाहूँगा कि इंटरनेट से आप जितना पढ़ेंगे उससे ज्यादा आपका समय सोश्ल मीडिया की वजह से बर्बाद भी होगा.

आखिरी और मत्वपूर्ण सवाल – एसएससी सिलेबस में क्या पढ़े अथवा एसएससी की तैयारी कैसे करे ?

जैसा की मैंने आपको ऊपर बताया की SSC EXAM में 4 विषयों पर आधारित प्रशन पूछे जाते है, तो दोस्तो आपको सिर्फ उन 4 विषयों का ही अध्ययन इस परीक्षा को उत्तीर्ण करने के लिए करना चाहिए.

  • पहला विषय – सामान्य बुधिमत्ता (रीजनिंग)

इस किताब को Amazon.in से खरीदने के लिए यहाँ पर क्लिक करें.

रीजनिंग एक ऐसा विषय है जिसमे ज्यादातर बच्चे अपना सबसे ज्यादा परीक्षा में वेस्ट कर देते हैं| वहाँ समय की अनुकूलता पर ध्यान देना आपके लिए सबसे अधिक महत्वपूर्ण बात होती है.

रीजनिंग हल करने के लिए आपको अपनी स्पीड (गति) बढ़ानी होगी और यह सिर्फ आपके प्रैक्टिस करने से ही संभव है, क्यूंकी इंग्लिश में बोलते हैं ना – Practice makes man’s perfect.

रीजनिंग के लिए आप कोई भी बुक ले सकते है, इसके साथ-साथ आप पिछले 10 साल के प्रशन पत्र को भी हल करके अपनी स्पीड बढ़ा सकते हैं इसके साथ ही आपको अपनी स्किल का भी पता लग जाएगा.

इसके साथ – साथ आप अपने एंड्राइड फ़ोन में प्ले स्टोर से 2-3 एप्लीकेशन को इन्स्टाल कर उसका इस्तेमाल करके भी अपनी प्रैक्टिस को जारी रख सकते है.

  • दूसरा विषय – अंग्रेजी (सामान्य)

अंग्रेजी एक अंतर्राष्ट्रीय भाषा है इसका ज्ञान आज के युग में बहुत आवश्यक है, एसएससी में अंग्रेजी ग्रामर के कुछ टॉपिक्स पूछे जाते है, जैसे-

  1. गलती ढूँढना
  2. रिक्त स्थान भरना
  3. पर्यायवाची/समानार्थक
  4. विलोमार्थक
  5. वर्तनी / वर्तनी में गलती निकालना
  6. मुहावरे और वाक्यांश
  7. शब्द प्रतिस्थापन
  8. वाक्य में सुधार
  9. क्रियाओं के कर्म और कर्तृ वाच्य
  10. प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष कथन को आपस में बदलना
  11. वाक्य के अंशों को आगे-पीछे करना
  12. किसी अनुच्छेद में वाक्यों की फेरबदल
  13. Passage
  14. अनुच्छेद का कॉम्प्रिहेंशन|

अंग्रेजी विषय में अच्छे अंक हासिल करने के लिए आपको ग्राम्मर पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए| ग्राम्मर पर सुधार के लिए आप हमारी वेबसाइट के इंग्लिश स्पीकिंग वाली केटेगरी में जाकर रोज एक अंग्रेजी का चैप्टर पढ़ सकते हो| इसको करने से आपको इंग्लिश सीखने में काफी सफलता मिलेगी.

मार्केट में एक से बढ़ के एक किताब उपलब्ध है, आप किसी जानकार से इस टॉपिक पर डिस्कशन करके किताब को खरीदे और फिर उससे प्रैक्टिस करे| इसके साथ आप प्ले स्टोर से इंग्लिश लर्निंग एप्लीकेशन डाउनलोड कर सकते है तथा उसकी मदद से भी आप पढाई कर सकते है.

आप रोजाना अंग्रेजी अखबार का एक टॉपिक ही पढ़कर भी इसकी तैयारी कर सकते है, पूरा अखबार पढ़ने मत बैठ जायेगा वरना पता चले इंग्लिश में पूरे नंबर हैं और बाकी विषय युही रेह गए|

इनको भी पढ़े ⇓

  1. घर बैठे अंग्रेजी बोलना कैसे सीखें ?
  2. अंग्रेजी बोलना सीखे पिक्चर की मदद से
  3. टेंस क्या है ? पूरी जानकारी हिंदी में
  • तीसरा विषय – सामान्य जागरूकता

इस विषय में उम्मीदवार से उसके आस – पास देश दुनिया में हुए घटना की जानकारी पूछी जाती है, परीक्षा में भारत और इसके पडोसी देशों से सम्बंधित प्रश्न खास तौर पर पूछे जाते हैं, विशेषकर उनके इतिहास, संस्कृति, भूगोल, आर्थिक परिदृश्य, सामान्य नीति और वैज्ञानिक अनुसंधान आदि शामिल होंगे.

इस विषय की प्रैक्टिस के लिए आपको रोज अखबार पढना चाहिए तथा इंटरनेट पर उस टॉपिक से जुड़े आर्टिकल भी पढना चाहिए|

एक लुसेंट नामक किताब भी बाजार में मिलती है, मेरे ख्याल से वो सबसे अच्छी किताब है यदि आप चाहे तो उसकी मदद भी ले सकते हैं.

किताब की Amazon.in से खरीदने के लिए यहाँ पर क्लिक करें.

  • चौथा विषय – संख्यात्मक अभियोग्यता

इस किताब को खरीदने के लिए यहाँ पर क्लिक करें.

यह विषय आपकी बुद्धिमता को बढाता है| इस विषय में काफी सारे टॉपिक होते है जिनको लगातार प्रैक्टिस करने से ही आप सफलता प्राप्त कर सकते है.

ये हैं कुछ टॉपिक जो इस विषय के अंदर प्रशन पत्र में आते है:-

नंबर सिस्टम

  1. पूर्णांक
  2. दशमलव और भिन्न संख्याओं की संगणना
  3. संख्याओं के बीच रिश्ता
  4. आधारभूत अंकगणितीय ऑपरेशन: प्रतिशत
  5. अनुपात
  6. वर्ग मूल
  7. औसत
  8. ब्याज (सरल और मिश्रित)
  9. लाभ और हानि
  10. डिस्काउंट
  11. साझेदारी व्यवसाय
  12. मिश्रण और मिलान
  13. समय और दूरी
  14. समय और कार्य

बीजगणित

स्कूल बीजगणित और प्राथमिक (केवल सरल समस्याएँ) तथा रैखिक सूत्रों के ग्राफ।

रेखागणित

प्राथमिक ज्यामितीय आँकड़ों और तथ्यों का परिचय: त्रिभुज और इसके विविध केन्द्र, त्रिकोणों की अनुरूपता और समानता, वृत्त, तिर्यक्
रेखा, दो या दो से अधिक वृत्तों के कोण|

क्षेत्रमिति

त्रिभुज, , नियमित बहुभुज, वृत्त, सही त्रिपार्श्व, सही वृत्त शंकु, सही वृत्त परिवलय, गोलक, गोलार्द्ध, आयताकार , नियमित सही पिरामिड
एवं त्रिकोणात्मक अथवा वर्गाकार आधार|

त्रिकोणमिति

त्रिकोणमिति, त्रिकोणमितीय अनुपात, पूरक कोण, ऊंचाई और दूरी (केवल सरल समस्याएँ) sin20 + Cos20 = 1 आदि जैसे मानक पहचान|

सांख्यिकीय चार्ट

सारणी और ग्राफ का उपयोग: हिस्टोग्राम, आवृत्ति बहुभुज, बार-आरेख, पाई चार्ट|

अब आपके पास सारी एसएससी की जानकारी अब मौजूद है अब देर न करते हुए आप मन लगाकर पढ़ाई शुरू कर दीजिये| मै भगवान से यही कामना करूंगा कि आप इसमें सफल ज़रूर हो.

इसके साथ ही एक बात और दोस्तो आप एसएससी की तैयारी कैसे करे का लेख को अपने उन सभी दोस्तो के साथ सोश्ल मीडिया के माध्यम से शेयर करे जो SSC की तैयारी कर रहे हैं.

यदि आपके मन में अब भी कुछ सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट करके अपने सवाल मुझसे पूछ सकते है| इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए धन्यवाद, आपका दिन शुभ हो|

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

2 thoughts on “घर बैठे एसएससी की तैयारी कैसे करे ? – पूरी जानकारी हिंदी में”

  1. मुझे सच में आपकी पोस्ट बहुत पसंद आयी। बहुत कुछ सीखने को मिला इस पोस्ट से।

Leave a Comment