अगर आप आईएएस की तैयारी कर रहे है तो इसे जरूर पढ़े !

हर किसी का कोई न कोई सपना जरूर होता है और कितने लोग ऐसे है जिनका सपना आईएएस बनना है| लेकिन जो भी आईएएस की तैयारी कर रहा होता है वह यह जरूर सोचता है:-

  1. आईएएस होता क्या है ?
  2. सिलेबस क्या क्या है ?
  3. आईएएस की तैयारी कैसे करें ?
  4. आईएएस की शुरुआत कहाँ से करें ?
  5. क्या पढ़ना है और क्या नहीं पढ़ना है ?
  6. महनत कितनी करनी है ?
  7. क्या कोचिंग लगाना जरूरी है ?

दोस्तों! ये सभी सवाल आप सब के मन में बार बार आते होंगे| लेकिन ये सब सोचना भी ठीक है क्योंकि कहते है कुछ काम सोचकर ही करने चाइये इसलिए आप सोचे…. कभी भी सोचने में झिझके नहीं !

आज में यहाँ आपके इन्ही प्रश्नो का जवाब देने आया हूँ| इस लेख में आप डिटेल में सब कुछ पढ़ेंगे और आपको आपके सभी प्रशनो का उत्तर भी यही मिलेगा.

आप सब जानते ही है की आईएएस की परीक्षा सबसे कठिन परीक्षा में से एक है जिसे हर कोई पास नहीं कर सकता लेकिन ऐसा नहीं है की कोई भी पास नहीं कर सकता.

आपको जरूरत है तो आपकी बेहतर तैयारी और बुलंद हौसले की ! अब में आपको एक एक प्रश्न का उत्तर देता हूँ| अगर आप आईएएस बनना चाहते है तो इसे जरूर पढ़े!

जरुर पढ़े ⇒ आईएएस और आईपीएस की तैयारी कैसे करें – IPS & IAS बनने के लिए क्या जरूरी है?

आईएएस क्या होता है हिंदी में जानिए ?

आईएएस की फुल फार्म है : Indian Administrative Service.

आईएएस बनने के लिए आपको सिविल सर्विसेज एग्जाम को पार करना होगा सिविल सर्विसेज एग्जाम हर साल UPSC (यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन) द्वारा करवाया जाता है.

हर साल इस परीक्षा में हज़ारो कैंडिडेट हिस्सा लेते है| लेकिन 100 – 150 कैंडिडेट ही सेलेक्ट हो पाते है जो आईएएस, आईपीएस, आईएफएस बन पाते है.

यूपीएससी सिलेबस क्या क्या है ?

हम यहाँ आपको UPSC (union public service  commission) परीक्षा के सिलेबस के बारे में बताएंगे| सिविल सेवा परीक्षा तीन भागो में पूर्ण होती है.

  1. Prelims (प्रारंभिक परीक्षा)
  2. Mains (मुख्य परीक्षा)
  3. Interview

इन्ही तीन भागो में ये परीक्षा सम्पूर्ण होती है| आइये आपको प्रारंभिक परीक्षा के बारे में जानकारी देते है.

आईएएस बनने के लिए योग्यता (सिलेबस)

IAS Syllabus List in Hindi Free Download

(1) प्रारंभिक परीक्षा की विषय सूचि

सिविल सेवा परीक्षा की यह प्रारंभिक परीक्षा 400 अंको की होती है जिसमे की जनरल नॉलेज पेपर 1st और जनरल नॉलेज पेपर 2nd होते है.

इसमें जनरल नॉलेज पेपर 2nd के दो भाग होते है जोकि दोनों भाग अनिवार्य होते है और यह परीक्षा केवल कैंडिडेट्स को छाटने की परीक्षा है| इस परीक्षा के अंक ओवर आल परीक्षा में नहीं जोड़े जाते.

यूपीएससी ने जनरल नॉलेज पेपर 2 को CSAT नाम दिया है जिसमे की 33% क्वालीफाइंग मार्क्स निर्धारित किया गया है| अगर आप इस एग्जाम को पार करते है तब आप मुख्य परीक्षा में बैठ सकते है.

प्रारंभिक परीक्षा 1 का पाठ्यक्रम – (200 अंक)

  1. राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय वर्तमान घटनाएं|
  2. भारत और भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास|
  3. भारतीय वैश्विक भूगोल – भारत और दुनिया का प्राकृतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल|
  4. भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक प्रणाली, पंचायती राज, सार्वजनिक नीति, अधिकारों के मुद्दे आदि|
  5. भारतीय और सामाजिक विकास, सतत टिकने वाला विकास, गरीबी, समावेशन, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहले आदि|
  6. पर्यावरण पारिस्थितिकी, जैव विविधता और जलवायु परिवर्तन पर सामान्य/ज्वलंत मुद्दे|
  7. सामान्य विज्ञान

प्रारंभिक परीक्षा 2 का पाठ्यकर्म – (200 अंक)

  1. बोधगम्यता
  2. पारस्परिक कौशल – संचार कौशल
  3. तार्किक क्षमता और विश्लेषणात्मक क्षमता
  4. निर्णय लेने और समस्या को विश्लेषण की क्षमता
  5. सामान्य मानसिक योग्यता
  6. बेसिक संख्यात्मक योग्यता, संख्याएँ और उनमें आपसी-संबंध आदि) (दसवीं कक्षा के स्तर का), डेटा इंटरप्रिटेशन (चार्ट, ग्राफ, टेबल, डेटा पर्याप्तता आदि – दसवीं कक्षा के स्तर का)|

(2) सिविल सेवा परीक्षा की मुख्य परीक्षा की विषय सूचि

यह परीक्षा कुल 1750 अंको की होती है इस परीक्षा में लिखित परीक्षा के रूप में कुल नो पेपर होते है परन्तु मार्क्स रैंकिंग के लिए सिर्फ सात पेपर के मार्क्स ही जोड़े है.

  1. पेपर – A – निबंध (250 मार्क्स)
  2. पेपर – B – सामान्य अध्ययन 1st (भारतीय विरासत ,संस्कृति , इतिहास और विश्व का भूगोल) (250 मार्क्स)
  3. पेपर – C – सामान्य अध्ययन 2nd (सविधान, राजनीती, सामाजिक न्याय, अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध) (250 मार्क्स )
  4. पेपर – D – सामान्य अध्ययन 3rd (प्रौद्योगिकी, आर्थिक विकास, जैव विविधता, पर्यावरण सुरक्षा, आपदा प्रबंधन) (250 – मार्क्स)
  5. पेपर – E – सामान्य अध्ययन 4th (नैतिकता, ईमानदारी और एप्टीटुड) (250 – मार्क्स)
  6. पेपर – F – वैकल्पिक विषय पेपर 1 (250 – मार्क्स)
  7. पेपर – G – वैकल्पिक विषय पेपर 2 (250 – मार्क्स)

आईएएस की तैयारी कैसे शुरू करे ?

तैयारी शुरू आपको तब से ही कर देनी चाइये जब आप इस एग्जाम के बारे में सोचते है.

कुछ लोग 12th पूरा करते ही इस एग्जाम की आईएएस की तैयारी शुरू कर देते है तो कुछ ग्रेजुएशन के बाद!

ये इम्पोर्टेन्ट नहीं है की आप कब से तैयारी कर रहे है इम्पोर्टेन्ट यह है की आपकी आईएएस की तैयारी कितनी है और कैसी है.

अच्छी तैयारी के लिए आपको शार्ट नोट्स बनाने चाइये जो की आपको प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा दोनों में काम आये| क्योंकि दोनों परीक्षा में जनरल नॉलेज पेपर या जनरल स्टडीज एग्जाम का पैटर्न कुछ-कुछ एक जैसा ही है.

जनरल स्टडीज के नोट्स बनाना आपके इस एग्जाम को क्लियर करने में बहुत काम आने वाला है इसलिए आप अपनी तैयारी की शुरुआत नोट्स बनाने से ही करे और नोट्स बनाकर रखने नहीं है उसे बार बार रीपीट करते रहे ताकि आप भूले नहीं.

आईएएस की तैयारी कहाँ से शुरू करू ?

शुरुआत आपको जनरल स्टडीज से ही करनी चाइये इससे आपकी तैयारी का बेस मजबूत होगा|.

आप बारी बारी से जनरल स्टडीज के सभी सब्जेक्ट की तैयारी करे तथा CSAT भी बहुत भारी भरकम सब्जेक्ट है इसलिए इसकी तैयारी आप जनरल स्टडीज के साथ ही जारी रखे.

आप हर रोज CSAT को 2 घंटे भी अगर देदे है तो ये आपकी तैयारी में चार चाँद लगा देगा और आपको कोई भी एक आपका मनपसंद सब्जेक्ट या जिस विषय में आपकी अधिक रूचि हो उसमे आपको खुद को इस तरह से डालना है की कोई भी आपसे आपके मनपसंद विषय में से कुछ भी पूछे तो आप बिना झिझके जवाब दे सके और इसी सब्जेक्ट को आप अपने ऑप्शनल सब्जेक्ट में भी रखे.

IAS में क्या पढ़ना है और क्या नहीं ?

बहुत सारे कैंडिडेट इस समस्या में अपना आधा समय नष्ट कर देते है की वो क्या पढ़े जिससे वो आईएएस बन सके? कौन सी बुक पढ़े या फिर कहा से पढ़े.

तो आज मै आपको बता दू की आप इधर उधर न भटके और सीधा आपकी 6th – 12th NCERT बुक्स पढ़नी शुरू कर दे|

आपकी जनरल स्टडीज एग्जाम की 80%  तैयारी आप यही से कर सकते है इसके बाद आप कुछ राइटर की एक सब्जेक्ट की कोई भी एक बुक ध्यान से पढ़े ऐसा नहीं की आप हिस्ट्री की बुक अलग अलग राइटर की पढ़ रहे है और बार बार पढ़ रहे है.

इसकी जगह आप एक ही बुक बार बार पढ़े फिर आपको आपकी तैयारी खुद ही पता चल जायगी.

महनत कितनी करनी हैं ?

जब आप किसी चीज की तैयारी शुरू कर देते है तो इस बारे में तो बिलकुल भी न सोचे की आपको महनत कितनी करनी है क्योंकि किसी भी चीज को पाने के लिए कितनी महनत करने का कोई भी मतलब नहीं है.

आपको तब तक महनत करनी है जब तक आपको आपका मुकाम न मिल जाय महनत तो ऐसी चीज है दोस्तों जो आपको कहि भी मार नई खाने देगी भले ही आपकी किस्मत कितनी भी ख़राब हो.

लेकिन अगर आपकी महनत अच्छी है तो आप कभी भी असफलता का हाथ नहीं पकड़ेंगे सफलता खुद आकर आपके कदम चूमेगी.

क्या आईएएस बनने के लिए कोचिंग लगाना जरूरी है ?

क्या आईएएस बनने के लिए कोचिंग लगाना जरूरी है ?

हमने इस बारे में आपको पहले भी बताया था हमारी पहली पोस्ट में (उसका लिंक मैंने लेख के सबसे ऊपर दिया है) लेकिन कुछ कैंडिडेट अभी भी कंफ्यूज है तो उनके किये सवाल का उत्तर आज मै बतादू की|

किसी भी एग्जाम के लिए कोचिंग इम्पोर्टेन्ट नहीं है चाहे वो कोई भी एग्जाम हो आपका बोर्ड्स या फिर सिविल सेवा परीक्षा.

अगर आपकी अपनी समझने की क्षमता अच्छी है तो आप सेल्फ स्टडी से पढ़कर भी टॉप कर सकते है यदि आपकी खुद की खुद से समझने की क्षमता कम है तब तो आप कोचिंग लगवाए.

क्यूंकि ऐसे में आप किसी गुरु की नज़र में रहेंगे जो की आपकी हर गतिविधि को आपको खोलकर बताएंगे इससे आपको खुद को समझने में बहुत मदद मिलेगी और आप फिर अच्छे से समझ पाएंगे.

मैंने आपको आईएएस की तैयारी करने के बहुत सारे तरीके बता दिए है और मुझे यकीन है की इन तरीको को अपनाके अप अपनी आईएएस की तैयारी कर पाओगे|

अगर आपको अभी भी इस विषय में कुछ भी पूछना है तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हो| और अगर आपको यह जानकारी पसंद आती है तो इसे फेसबुक, ट्विटर, व्हाट्सएप्प पर शेयर जरुर करें.

आपकी नॉलेज का बढ़ाएंगे ये लेख⇓

Himanshu Grewal

मेरा नाम हिमांशु ग्रेवाल है और यह एक हिंदी ब्लॉग है जिसमे आपको दुनिया भर की बहुत सारी जानकारी मिलेगी जैसे की Motivational स्टोरी, SEO, इंग्लिश स्पीकिंग, सोशल मीडिया etc. अगर आपको मेरे/साईट के बारे में और भी बहुत कुछ जानना है तो आप मेरे About us page पर आ सकते हो.

8 thoughts on “अगर आप आईएएस की तैयारी कर रहे है तो इसे जरूर पढ़े !”

  1. Jai hind Sir…….. bahut achcha lga aapka blog read krke aap aise hi hum logo ko motivates krte rhe……

    Aapka Republic day (2018) pr shayri bahut achchi lagi …..

    Aapka hum bahut bahut shukriya Ada karte h……

  2. Mujhay bahut Khushi hua aapkay dwara diya gya bahut hi lajvab h yah sandesh h papar dila pao ya nahi Magar IAS k papar kaisay hota sayllbas aapkay madhaym say pata chala isliay ek comment to Banta h dear sir …Dil say thanks you….jai mata di

  3. Sir apne jo 6th to 12th class ki books ki reading ko bola hai to sir
    For example math english history social science hindi urdu etc books hain to 12th class in books physics chemistry math English hindi in subjects ki Reading krni hogi pls help me

Leave a Comment